1. home Home
  2. business
  3. gold hallmarking of jewellery to start from june 15 check hallmark signs before buying here full details sona kharidne ka naya niyan kya hai amh

GOLD Hallmarking Updates : सोना खरीदने के पहले जान लें ये नया नियम, नहीं तो...

क्या आप सोना खरीदने का विचार बना रहे हैं तो एक बार इस खबर पर नजर जरूर डाल लें. जी हां… सोने की खरीदारी के नियम में अहम बदलाव होने जा रहा है. दरअसल Gold jewellery hallmarking 15 जून से शुरू होने जा रही है. gold hallmarking, gold jewellery hallmarking, gold hallmarking benefits, gold hallmarking charges, gold loan, old gold jwellery, gold hallmarking mandatory, gold hallmarking business, BIS, gold hallmarking news, gold hallmarking news in india, purana sona,sona kharidne bechne ka naya niyam,sone ki kimat,today gold rate, गोल्‍ड ज्‍वैलरी हॉलमार्किंग, गोल्‍ड हॉलमार्किंग

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
GOLD Hallmarking News
GOLD Hallmarking News
file
  • सोने की खरीदारी के नियम में अहम बदलाव कि गया है

  • सोने की ज्लैवरी खरीदने के लिए हॉलमार्किंग को 15 जून से अनिवार्य कर दिया गया है

  • गोल्ड हॉलमार्किंग की अनिवार्यता को 15 दिनों का बढ़ाने निर्णय लिया गया था

GOLD Hallmarking News : क्या आप सोना खरीदने का विचार बना रहे हैं तो एक अहम बात आपको जाननी ही चाहिए. जी हां… सोने की खरीदारी के नियम में अहम बदलाव आज से होने जा रहा है जिसके बारे में आपको जानना बहुत जरूरी है. सोने की खरीदारी के नियम में 15 जून यानी आज से अहम बदलाव होने जा रहा है जिसके बारे में आइए आपको बताते हैं.

दरअसल सोने की ज्लैवरी खरीदने के लिए हॉलमार्किंग को 15 जून यानी आज से अनिवार्य कर दिया गया है. यहां चर्चा कर दें कि पहले गोल्ड हॉलमार्किंग को 1 जून से ही अनिवार्य करने का प्लान था, लेकिन अब सरकार ने इसकी डेडलाइन को बढ़कर 15 जून 2021 करने का निर्णय लिया था.

जानें क्यों बढा था डेडलाइन : देश में कोरोना संक्रमण के मामले पिछले महीने बहुत तेजी से बढ रहे थे जिसे देखते हुए गोल्ड हॉलमार्किंग की अनिवार्यता को बढ़ाने निर्णय लिया गया था. नियम तो 1 जून से लागू होने वाले थे, लेकिन सरकार ने कोरोना संक्रमण के मद्देनजर उसे 15 जून तक के लिए टालने का निर्णय किया था. दरअसल कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स और ज्वेलरी इंडस्ट्री ने सरकार ने इस डेडलाइन को बढ़ाने की मांग की थी. ऐसा इसलिए ताकि वो वक्त पर अपनी तैयारियों को पूराने में सक्षम हो सकें.

जानें गोल्ड हॉलमार्किंग के बारे में आप भी : गोल्ड हॉलमार्किंग के बारे में यदि आप नहीं जानते तो आपको बता दें कि यह शुद्ध सोने की पहचान को दर्शाता है. हमारे देश में सोने के आभूषणों में दुनिया के सर्वोत्तम मानक को नापने के लिए गोल्ड हॉलमार्किंग को जरूरी करने का काम किया गया है. ग्राहक नकली सोने की ज्वैलरी से बचें और साथ ही साथ ज्वैलरी कारोबार पर निगरानी सरकार रख सके…इसके लिए इसे अनिवार्य कर दिया गया है.

जानिए क्या है नया नियम : नए नियम की बात करें तो सोना खरीदने और बेचने के लिए हॉलमार्किंग अब जरूरी हो चुका है. वहीं हॉलमार्क वाले सोने को यदि आप बेचने जाएंगे तो सामने वाला आपसे कोई डेप्रिसिएशन कॉस्ट नहीं काटेगा. नियम का पालन नहीं करने वालों पर सख्त नजर रहेगी और उनपर एक लाख से लेकर ज्वेलरी के दाम के पांच गुना तक जुर्माना वसूला जा सकता है. जांच के लिए सरकार ने BIS-Care नाम से App लॉन्च करने का काम किया है. इसपर पर सोने की शुद्धता की जांच के साथ शिकायत दर्ज करने की सुविधा भी ग्राहकों को उपलब्ध होगी.

Posted By : Amitabh Kumar

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें