23.1 C
Ranchi
Thursday, February 29, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Health Budget 2024 : आशा वर्कर भी पाएंगी आयुष्मान योजना का फायदा, जानें और क्या बदला

Budget 2024 Updates: संसद में अंतरिम बजट पेश करते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि आयुष्मान भारत योजना के तहत सभी आशा वर्कर्स, आंगनवाड़ी सेविकाओं और हेल्पर्स को भी कवर किया जाएगा.

Budget 2024 Updates: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज यानी गुरुवार को संसद में अंतरिम बजट पेश करते हुए आयुष्मान भारत के तहत स्वास्थ्य देखभाल के दायरे में सभी आशा और आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को लाने की घोषणा की है. आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री-जन आरोग्य योजना (एबी-पीएमजेएवाई) दुनिया की सबसे बड़ी सार्वजनिक वित्त पोषित स्वास्थ्य बीमा योजना है. यह योजना माध्यमिक और तृतीयक देखभाल अस्पताल में भर्ती के लिए हर साल प्रति परिवार पांच लाख रुपये का कवरेज देता है.

पिछले साल 27 दिसंबर तक इस योजना के दायरे में 12 करोड़ परिवारों के 55 करोड़ लोग थे. अपने बजट में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उद्यमों को पर्याप्त और समय पर वित्तपोषण उपलब्ध कराना सरकार की प्राथमिकता है. इसके अलावा वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अपने बजट भाषण में कहा कि लखपति दीदी योजना को सरकार बढ़ावा देगी. इसे 2 करोड़ से बढ़ाकर 3 करोड़ किया जाएगा. वित्त मंत्री ने बताया कि बीते 10 सालों में महिलाओं को 30 करोड़ मुद्रा योजना ऋण दिए गए हैं. इसके अलावा उन्होंने कहा कि पीएम आवास के तहत 70 फीसदी घर महिलाओं को दिए गए हैं. पीएम संपदा योजना से 38 लाख किसानों को लाभ हुआ है. 9 से 14 साल की लड़कियों के लिए सर्वाइकल कैंसर वैक्सीन लगाई जाएगी.

5 लाख रुपये तक का स्वास्थ्य बीमा

केंद्र सरकार की आयुष्मान भारत स्कीम के तहत जो लोग योजना के पात्र है उनके परिवारों को 5 लाख रुपये तक का स्वास्थ्य बीमा दिया जाता है. पात्र परिवारों को आयुष्मान गोल्डन कार्ड मिलता है. इस कार्ड की सहायता से सूचीबद्ध अस्पतालों में लाभुक पांच लाख रुपये तक का मुफ्त इलाज करा सकते हैं. पूरे देश में 13 हजार से ज्यादा सरकारी और निजी अस्पतालों में आयुष्मान गोल्डन कार्ड से इलाज कराया जा सकता है.

किन रोगों में मिलती है सहायता

गौरतलब है कि आयुष्मान योजना के तहत कैंसर और हृदय रोग जैसी गंभीर बीमारियों सहित करीब 1500 बीमारियों का इलाज मुफ्त में लाभुक करा सकते हैं. इस योजना के तहत पुरानी और नई सभी बीमारियां को शामिल किया गया है. इस योजना की सबसे बड़ी बात यह है कि यह पेपरलेस होने के साथ-साथ कैशलेस भी है. इसका मतलब है कि आयुष्मान कार्ड धारक को केवल अस्पताल में कार्ड दिखाने की जरूरत होती है. लाभुकों को अस्पताल में न तो कोई कागजात जमा करने की जरूरत होती है और न ही पैसा.

केंद्र सरकार की उपलब्धियों का जिक्र

गौरतलब है कि आज यानी गुरुवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का आखिरी बजट पेश किया. इस बजट में आगामी तीन महीने तक के खर्च का लेखा जोखा रखा गया है. अंतरिम बजट में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने केंद्र सरकार की कई उपलब्धियों का जिक्र किया है.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें