1. home Hindi News
  2. business
  3. big bazaar future in limbo reliance announces cancellation of deal with future group mtj

अधर में बिग बाजार का भविष्य! रिलायंस ने फ्यूचर समूह के साथ सौदा निरस्त करने का किया ऐलान

सौदे को शेयरधारकों एवं असुरक्षित कर्जदाताओं ने बहुमत से स्वीकार कर लिया है, लेकिन सुरक्षित ऋणदाताओं ने प्रस्ताव को नकार दिया है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
रिलायंस ने फ्यूचर समूह के साथ सौदा निरस्त किया
रिलायंस ने फ्यूचर समूह के साथ सौदा निरस्त किया
प्रतीकात्मक तस्वीर

नयी दिल्ली: रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (Reliance Industries Limited) ने शनिवार को कहा कि फ्यूचर समूह (Future Group) के साथ हुए उसके 24,713 करोड़ रुपये के सौदे को सुरक्षित कर्जदाताओं की बैठक में मंजूरी नहीं मिलने के बाद इसे क्रियान्वित नहीं किया जा सकता है. रिलायंस इंडस्ट्रीज ने शेयर बाजारों को भेजी गयी सूचना में कहा कि फ्यूचर रिटेल लिमिटेड (Future Retail Limited) और फ्यूचर समूह की अन्य कंपनियों ने इस सौदे की मंजूरी के लिए हुई बैठकों के नतीजों से अवगत कराया है.

इसके मुताबिक, सौदे को शेयरधारकों एवं असुरक्षित कर्जदाताओं ने बहुमत से स्वीकार कर लिया है, लेकिन सुरक्षित ऋणदाताओं ने प्रस्ताव को नकार दिया है. रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) ने अपने बयान में कहा, ‘एफआरएल के सुरक्षित ऋणदाताओं ने प्रस्तावित योजना के खिलाफ मतदान किया है. ऐसी स्थिति में इस योजना को आगे क्रियान्वित नहीं किया जा सकता है.’

फ्यूचर समूह ने अगस्त 2020 में रिलायंस समूह की कंपनी रिलायंस रिटेल वेंचर्स लिमिटेड (आरआरवीएल) के साथ 24,713 करोड़ रुपये के विलय समझौते की घोषणा की थी. इस समझौते के तहत खुदरा, थोक, लॉजिस्टिक एवं भंडारण खंडों में सक्रिय फ्यूचर समूह की 19 कंपनियों का रिलायंस रिटेल अधिग्रहण करने वाली थी. इस विलय समझौते की घोषणा के बाद से ही दिग्गज ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन इसका विरोध कर रही थी.

अमेजन ने किया था सौदे का विरोध

विभिन्न अदालती मुकदमों में अमेजन ने यह कहते हुए इस सौदे का विरोध किया कि उसके साथ हुए फ्यूचर समूह के निवेश समझौते का यह करार उल्लंघन करता है. विवाद गहराने पर इस सौदे पर शेयरधारकों एवं ऋणदाताओं की मंजूरी लेने के लिए फ्यूचर समूह की संबंधित कंपनियों ने हफ्ते की शुरुआत में अलग-अलग बैठकें बुलायी थी.

फ्यूचर समूह ने शुक्रवार को ही बताया था कि शेयरधारकों एवं असुरक्षित ऋणदाताओं ने इस सौदे को स्वीकृति दे दी है, लेकिन सुरक्षित कर्जदाताओं ने इसे नामंजूर कर दिया है. रिलायंस इंडस्ट्रीज ने इसी घटनाक्रम के परिप्रेक्ष्य में सौदे को निरस्त कर दिया है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें