1. home Home
  2. business
  3. bank strike today privatization of bank to closed know the reason of bank holiday amh

Bank Strike Today : आज से चार दिन बैंक बंद! जानिए वजह

खबरों की मानें तो बैंकों के प्रबंधक और इंडियन बैक एसोसिएशन बैंक यूनियनों के संपर्क में थे. वे लगातार इस हड़ताल को टालने की बात कर रहे थे.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Bank Strike Today
Bank Strike Today
twitter

यदि आप आज किसी काम से बैंक जा रहे हैं तो इस खबर को जरूर पढ़ लें. जी हां...आज और कल बैंकों में हड़ताल है जिस वजह से यहां ताला लटका नजर आएगा. दरअसल यूनाइटेड फोरम आफ बैंक यूनियंस के आह्वान पर सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के निजीकरण के विरोध में 16 व 17 दिसंबर को बैंक कर्मचारी देशव्यापी हड़ताल कर रहे हैं.

देश के सबसे बड़े बैंक स्‍टेट बैंक यानी एसबीआई ने अपने आधिकारिक ट्वीटर हैंडल से ट्वीट कर अपने कर्मचारियों से अपील करने का काम किया है. बैंक ने कहा कि कोरोना महामारी को देखते हुए कर्मचारियों के इस बैंक हड़ताल से स्टेकहोल्डर्स को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है. इतना ही नहीं एसबीआई ने बैंक यूनियनों को बातचीत का न्यौता भी भेजा है.

इधर, सेंट्रल बैंक ने भी अपने कर्मचारियों और यूनियनों को खत लिखा है और कहा है कि वे अपने सदस्यों को बैंक के बेहतरी के काम करें. वहीं, पीएनबी ने भी ट्वीट के माध्‍यम से कर्मचारियों को हड़ताल पर नहीं जाने की अपील की है.

राजस्‍थान संयोजक महेश मिश्रा ने क्‍या कहा

यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस के राजस्‍थान संयोजक महेश मिश्रा ने विज्ञप्ति जारी कर बताया की इस हड़ताल में सार्वजनिक क्षेत्र की 4,000 से भी अधिक शाखाओं में कार्यरत 25,000 अधिकारी व कर्मचारी शामिल हो रहे हैं. केंद्र सरकार संसद के मौजूदा सत्र में बैंकिंग कानून संशोधन विधेयक लेकर आ रही है जिससे भविष्य में किसी भी सरकारी बैंक को निजी क्षेत्र में देने का रास्ता क्‍लियर हो जाएगा. बैंक कर्मचारी व अधिकारी सरकार के इस निर्णय के खिलाफ लामबंद हो रहे हैं और 16 व 17 दिसंबर की दो दिन की देशव्यापी हड़ताल कर रहे हैं.

निजीकरण का विरोध कर रहे हैं बैंक में कार्यरत कर्मचारी

यहां चर्चा कर दें कि आम बजट 2021 में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने दो सरकारी बैंकों के निजीकरण करने की घोषणा की थी. हालांकि सोमवार को वित्त मंत्री ने लोकसभा में निजीकरण को लेकर बनी कैबिनेट कमिटी पर कहा कि दो बैंक जिनका निजीकरण होना है जिसपर फैसला नहीं लिया गया है.

हड़ताल को टालने का प्रयास

खबरों की मानें तो बैंकों के प्रबंधक और इंडियन बैक एसोसिएशन बैंक यूनियनों के संपर्क में हैं. वे लगातार इस हड़ताल को टालने की बात कर रहे थे.

आज से चार दिन बैंक बंद

गौर हो कि वैसे तो इस हफ्ते दो दिन हड़ताल है और रविवार की छुट्टी है लेकिन शनिवाक को शिलॉन्ग में बैंक बंद रहेंगे. रिजर्व बैंक के कैलेंडर के मुताबिक, शिलॉन्ग में 18 दिसंबर यानी शनिवार को यू सो सो थाम की डेथ एनिवर्सरी के चलते बैंकों में काम-काज नहीं होगा. वहीं, देश भर में 16,17 और 19 दिसंबर को बैंक बंद हैं.

Posted By : Amitabh Kumar

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें