29.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

गोल्ड लोन के लिए कर रहे हैं अप्लाई, तो जानिए इसके फायदे

Gold Loan: गोल्ड लोन के मामले में बैंकों और NBFCs को सबसे सुरक्षित माना जाता है, इसलिए ग्राहकों को यह सलाह दी जाती है कि वे बैंकों और NBFCs में ही गोल्ड लोन के लिए अप्लाई करें.

Gold Loan: आप अपने सोने के गहनों को गिरवी रखकर तुरंत लोन पा सकते हैं और अचानक सामने आने वाले खर्चों को पूरा कर सकते हैं. कई बैंकों और वित्तीय संस्थानों द्वारा बेहतर ब्याज दरों पर गोल्ड लोन की पेशकश की जाती है, साथ ही लोन चुकाने के लिए कई तरह के विकल्प भी दिए जाते हैं. जब आप अपने सोने के गहनों पर लोन लेते हैं, तो आपको कम गोल्ड लोन इंटरेस्ट रेट (Gold Loan Interest Rate), आवेदन की आसान प्रक्रिया और तुरंत मंजूरी का फायदा भी मिलता है. आपको अपने सोने के गहनों की कीमत का 75% तक लोन मिल सकता है, जो बाजार में सोने की मौजूदा कीमत पर आधारित है. गोल्ड लोन लेने से पहले आपको कुछ बातें ध्यान में रखनी चाहिए.

लोन देने वाले संस्थान की विश्वसनीयता

गोल्ड लोन के लिए अप्लाई करते समय यह पता लगाना सबसे जरूरी है कि, लोन देने वाला संस्थान भरोसेमंद है या नहीं. गोल्ड लोन का बाजार असंगठित है, जहां लोन देने वाली कई अनौपचारिक कंपनियां ग्राहकों को कम ब्याज दरों पर बड़ी आसानी से गोल्ड लोन देती हैं. लेकिन इस मामले में बैंकों और NBFCs को सबसे सुरक्षित माना जाता है, इसलिए ग्राहकों को यह सलाह दी जाती है कि वे बैंकों और NBFCs में ही गोल्ड लोन (Gold Loan)के लिए अप्लाई करें. ब्याज दरों, एलिजिबिलिटी से जुड़ी जरूरतों और लोन के तौर पर दी जाने वाली रकम की तुलना करें. आमतौर पर, गोल्ड लोन देने वाली NBFCs की ब्याज दरें या प्रोसेसिंग फीस बैंकों से कम होती हैं.

ब्याज दरें और शुल्क

लोन देने वाले अलग-अलग संस्थानों में गोल्ड लोन की ब्याज दरों और प्रोसेसिंग फीस भी अलग-अलग होती है. इसलिए, गोल्ड लोन लेने से पहले लोन देने वाले अलग-अलग संस्थानों की ब्याज दरों और प्रोसेसिंग फीस की तुलना करना बेहद जरूरी है. अपने लोन की लागत को कम करने के लिए आपको ऐसे संस्थान से लोन लेना चाहिए, जिसकी ब्याज दरें और प्रोसेसिंग फीस कम हो. लोन देने वाले ज्यादातर बड़े संस्थानों की ब्याज दरें 9.50% प्रति वर्ष से शुरू होती हैं.

लोन की समय-सीमा

गोल्ड लोन लेने से पहले लोन की समय-सीमा पर अच्छी तरह गौर करें, क्योंकि आपको इसी समय-सीमा के भीतर अपना लोन चुकाना होगा. आपको उसी समय-सीमा में लोन चुकाने की कोशिश करनी चाहिए, क्योंकि इसमें किसी भी तरह से चूक होने पर आपको अतिरिक्त शुल्क और जुर्माने का भुगतान करना पड़ सकता है.

लोन चुकाने के विकल्प

गोल्ड लोन के लिए अप्लाई करने से पहले लोन चुकाने के विकल्प पर गौर करना भी बेहद जरूरी है. भारत के सभी प्रमुख बैंक और NBFCs गोल्ड लोन चुकाने के लिए कई विकल्पों की पेशकश करते हैं. आप लोन के शुरुआत में ब्याज की पूरी रकम चुका सकते हैं और बाकी बची मूल रकम का भुगतान बाद में कर सकते हैं. आप हर महीने, दो महीने में, तीन महीने में, 6 महीने में या साल में ब्याज के भुगतान का विकल्प भी चुन सकते हैं और लोन की समय-सीमा के अंत में मूल रकम का भुगतान कर सकते हैं.

गोल्ड लोन EMI कैलकुलेटर की पेशकश

इसके अलावा, लोन देने वाली कंपनियों की ओर से गोल्ड लोन EMI कैलकुलेटर की पेशकश की जाती है, जिसकी मदद से आप अपने सोने के गहनों के वजन और शुद्धता के आधार पर लोन की रकम का अंदाजा लगा सकते हैं. इस तरह आप लोन लेने से पहले ही यह पता लगा सकते हैं कि, आपको हर महीने कितनी रकम चुकानी होगी.

सोने की शुद्धता और उसकी कीमत

जिस गहने पर आप लोन लेना चाहते हैं, उसकी शुद्धता की जांच करें. लोन देने वाले ज्यादातर संस्थान केवल 22-कैरेट या उससे अधिक मूल्य के शुद्ध सोने के गहनों पर ही लोन देना पसंद करते हैं. बजाज फिनसर्व जैसी लोन देने वाली कंपनियों में सोने की कीमत तय करने की प्रक्रिया पारदर्शी होती है. यहां टॉप-ऑफ-द-लाइन कैरेट मीटर का उपयोग किया जाता है, ताकि आपके सोने के गहनों को अधिकतम कीमत मिले. इसके अलावा, गिरवी रखे सोने के गहनों को बेहद सुरक्षित तिजोरी में रखा जाता है और उनकी 24×7 निगरानी की जाती है.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें