Feel Good : 2020 में निजी कंपनियों के वर्कर्स को मिल सकता 10 फीसदी से भी अधिक सैलरी इनक्रीमेंट का बेनिफिट

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

नयी दिल्ली : एक सर्वेक्षण में कहा गया है कि भारतीय उद्योग जगत 2020 के मौजूदा समीक्षा सत्र में कर्मचारियों के लिए दहाई अंक में वेतन वृद्धि कर सकता है. यह वृद्धि 2019 की वार्षिक वृद्धि से ऊंची होगी. सर्वेक्षण में अधिकांश प्रबंधकों का कहना है कि मध्यम स्तर के पेशेवरों को 20 से 30 फीसदी तक की वेतन वृद्धि हासिल हो सकती है.

टाइम्स जॉब के ताजा सर्वेक्षण के मुताबिक, उद्योगों के विभिन्न क्षेत्रों में 30 फीसदी तक वेतन वृद्धि दर्ज की जा सकती है. सर्वेक्षण में 1,296 नियुक्ति प्रबंधकों से 2020 को लेकर उनकी प्रतिक्रिया पूछी गयी. विभिन्न कार्यक्षेत्रों में कार्यरत इन प्रबंधकों में से 80 फीसदी ने बताया कि 2020 में औसत वेतन मूल्यांकन पिछले साल के मुकाबले ऊंचा ही रहेगा.

सर्वेक्षण में 41 फीसदी मानव संसाधन (एचआर) प्रबंधकों ने कहा है कि स्थान के हिसाब से यदि बात की जाए, तो देश की सूचना प्रौद्योगिकी राजधानी बेंगलुरु इस साल वेतन वृद्धि के मामले में सबसे आगे होगी. इसके बाद दिल्ली-राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र और मुंबई के पेशेवरों का वेतन वृद्धि के मामले में क्रमश: दूसरा और तीसरा स्थान होगा.

सर्वेक्षण के अनुसार, सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) क्षेत्र इस साल अन्य सभी क्षेत्रों को पीछे छोड़ देगा. वेतन वृद्धि समीक्षा के मामले में आईटी सबसे आगे रहेगा, उसके बाद मीडिया, मनोरंजन और स्वास्थ्य देखभाल क्षेत्र का क्रमश: दूसरा और तीसरा स्थान रहेगा. टाइम्स जॉब के इस ताजा सर्वेक्षण के अनुसार, 2020 के दौरान बैंकिंग, वित्तीय सेवा और बीमा (बीएफएसआई), बीपीओ और आटोमोबाइल क्षेत्रों में वेतन समीक्षा फीकी रह सकती है. फिलहाल, इन क्षेत्रों में कारोबारी परिदृश्य काफी उत्साहवर्धक नहीं रहा है.

टाइम्स जॉब और टेक गिग के व्यवसाय प्रमुख संजय गोयल ने कहा, ‘पिछले कई सालों से विभिन्न कारकों का वेतन समीक्षा मॉडल पर प्रभाव पड़ता रहा है, लेकिन मौजूदा कड़ी प्रतिस्पर्धा के माहौल में हर कंपनी सबसे अच्छी प्रतिभा वाले कर्मचारियों को अपने पास बनाये रखना चाहती है और ऐसे में उन कर्मचारियों को आकर्षित करने के लिये संतोषजनक वेतन उपलब्ध कराना महत्वपूर्ण भूमिका निभायेगा.

सर्वेक्षण में भाग लेने वाले 68 फीसदी एचआर प्रबंधकों का कहना है कि इस साल मध्यम स्तर के पेशेवरों को सबसे अच्छी वेतन वृद्धि (करीब 20 से 30 फीसदी) तक प्राप्त हो सकती है. वहीं, 44 फीसदी प्रबंधकों का कहना है कि शीर्ष स्तर के पेशेवरों को सबसे ऊंची वेतन वृद्धि मिल सकती है. वरिष्ठ स्तर पर 40 फीसदी तक की वेतन वृद्धि हासिल हो सकती है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें