26.1 C
Ranchi
Thursday, February 29, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags

अनिल त्रिगुणायत

कतर में भारत की बड़ी कूटनीतिक जीत

भारत एवं कतर के संबंध में एक प्रभावशाली कारक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कतर के अमीर तमीम बिन हमाद अल थानी के बीच परस्पर सम्मान और निकटता है. प्रधानमंत्री मोदी के सत्ता में आने के बाद शेख तमीम भारत दौरा (मार्च 2015) करने वाले पहले अरब नेता थे. उसके अगले साल प्रधानमंत्री मोदी ने कतर की यात्रा की थी.

देश की सुरक्षा और विदेश नीति में स्पष्टता आयी है

पहले यह होता था कि विदेश नीति की बागडोर मुख्य रूप से विशेषज्ञों और कूटनीतिकों के हाथ में हुआ करती थी. वर्तमान सरकार में हमने देखा है कि प्रक्रिया बदली है और विदेश नीति में अधिक जन-भागीदारी को बढ़ावा दिया गया है.

गहन होते भारत-फ्रांस द्विपक्षीय संबंध

निर्भरता और विश्वास पर आधारित ठोस संबंध कुछ ही देशों के साथ स्थापित हो सकता है. कई पश्चिमी देशों के साथ भरोसे को लेकर स्थिति सहज नहीं रहती है, पर फ्रांस के साथ ऐसा नहीं है.

मालदीव : मंत्रियों का आचरण अमर्यादित

मुइजू अनेक बयानों में यह कह चुके हैं कि भारत ने कई क्षेत्रों में मालदीव को सहयोग दिया है और वे भारत से अच्छे संबंध चाहते हैं, लेकिन अगर उनके मंत्री और उनकी पार्टी के नेता भारत या भारत के प्रधानमंत्री के बारे में अभद्र भाषा का इस्तेमाल करेंगे, तो स्वाभाविक है कि संबंधों में दरार आयेगी.

सुरक्षा परिषद में तत्काल सुधार आवश्यक

जितने भी विशिष्ट अंतरराष्ट्रीय समूह हैं, भारत उनका संस्थापक सदस्य है. संयुक्त राष्ट्र की भावना और निर्णयों को भारत ने हमेशा सम्मान की दृष्टि से देखा है तथा वैश्विक संस्थाओं को बेहतर और बहुपक्षीय बनाने में हरसंभव योगदान दिया है.

आतंकवाद को शह देता कनाडा

ध्यान रखना चाहिए कि जिस व्यक्ति की मौत को लेकर हंगामा हो रहा है वह एक घोषित आतंकवादी है. यदि आप उसका समर्थन करेंगे, तो उससे आतंकवाद को बढ़ावा मिलेगा, क्योंकि आतंकवाद किसी एक देश की नहीं, बल्कि एक वैश्विक समस्या है.