1. home Hindi News
  2. world
  3. bengalis are among poorest indians living in usa more than 6 percent nris living below poverty line mtj

अमेरिका में सबसे ज्यादा गरीबों में बंगाली समाज के लोग, गरीबी रेखा से नीचे रह रहे हैं 6 फीसदी एनआरआइ

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
अमेरिका में रह रहे 42 लाख भारतीयों में करीब 2.4 लाख लोग गरीबी रेखा से नीचे जी रहे हैं.
अमेरिका में रह रहे 42 लाख भारतीयों में करीब 2.4 लाख लोग गरीबी रेखा से नीचे जी रहे हैं.

कोलकाता/वाशिंगटन : अमेरिका में सबसे गरीब तबकों में बंगाली और पंजाबी समुदाय के लोग हैं. एक रिपोर्ट में इसका खुलासा किया गया है. रिपोर्ट में कहा गया है कि अमेरिका में रह रहे करीब 42 लाख भारतीय-अमेरिकियों में से करीब 6.5 प्रतिशत लोग गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन कर रहे हैं.

रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि कोविड-19 महामारी की वजह से समुदाय में गरीबी बढ़ने की आशंका है. जॉन हॉपकिंस स्थित पॉल नीत्ज स्कूल ऑफ एडवांस्ड इटंरनेशनल स्टडीज के देवेश कपूर और जश्न बाजवात द्वारा ‘भारतीय-अमेरिकी आबादी में गरीबी’ विषय पर किये गये शोध के नतीजों को इंडियास्पोरा परोपकार सम्मेलन-2020 में जारी किया गया.

कपूर ने कहा कि बंगाली और पंजाबी भाषी भारतीय अमेरिकी लोगों में गरीबी अधिक है. उन्होंने कहा कि इनमें से एक तिहाई श्रम बल का हिस्सा नहीं हैं, जबकि करीब 20 प्रतिशत लोगों के पास अमेरिकी नागरिकता भी नहीं हैं. इंडियास्पोरा के संस्थापक एमआर रंगास्वामी ने कहा, ‘इस रिपोर्ट के साथ, हम सबसे अधिक वंचित भारतीय अमेरिकियों की अवस्था की ओर ध्यान आकर्षित करना चाहते हैं.’

रंगास्वामी ने कहा, ‘कोविड-19 के स्वास्थ्य और अर्थव्यवस्था पर पड़ने वाले प्रभाव को देखते हुए यह उचित समय है कि आमतौर पर संपन्न माने जाने वाले हमारे समुदाय में मौजूद गरीबी के प्रति जागरूकता पैदा की जाये और इस मुद्दे को उठाया जाये. हमें उम्मीद है कि इस रिपोर्ट से इस विषय की ओर ध्यान आकर्षित होगा और सकारात्मक बदलाव लाने के लिए कदम उठाये जायेंगे.’

श्री कपूर के मुताबिक, अध्ययन से भारतीय अमेरिकी समुदाय में दरिद्रता की विस्तृत स्थिति का पता चला है. हालांकि, श्वेत, अश्वेत और हिस्पैनिक अमेरिकी समुदाय के मुकाबले भारतीय अमेरिकियों के गरीबी का सामना करने की संभावना कम है.

Posted By : Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें