1. home Home
  2. world
  3. america warning possibility of another terrorist attack in kabul taliban isis prt

फिर दहल सकता है काबुल, अमेरिका ने दी एक और आतंकी हमले की चेतावनी

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन के राष्ट्रीय सुरक्षा दल ने यह चेतावनी दी है. दल ने कहा है कि काबुल में एक और आतंकी हमला होने की आशंका है. इधर हमले की आशमका को देखते हुए काबुल एयरपोर्ट की सुरक्षा बढ़ा दी गई है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Kabul Airport
Kabul Airport
pti
  • काबुल में हो सकता है एक और आतंकी हमला

  • राष्ट्रपति जो बाइडेन के राष्ट्रीय सुरक्षा दल ने दी चेतावनी

  • राष्ट्रपति बाइडेन ने कहा- सैनिकों को मुहैया कराएंगे हर संसाधन

America Alert, Kabul Attack: काबुल में हो सकता है एक और आतंकी हमला. अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन के राष्ट्रीय सुरक्षा दल ने यह चेतावनी दी है. राष्ट्रीय सुरक्षा दल ने कहा है कि काबुल में एक और आतंकी हमला होने की आशंका है. इधर, हमले की आशंका को देखते हुए काबुल एयरपोर्ट की सुरक्षा बढ़ा दी गई है. व्हाइट हाउस की प्रवक्ता जेन साकी ने बाइडन की टीम द्वारा राष्ट्रपति को दी गई जानकारी के बारे में विस्तृत विवरण साझा नहीं किया है.

गौरतलब है कि अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में बीते दिन कई बम धमाके हुए. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इन धमाकों में 13 अमेरिकी नौसैनिकों समेत 100 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है. जिसके बाद अमेरिका समेत दुनिया भर के देशों के लिए निकासी प्रक्रिया में बाधा पहुुंची. इस कड़ी में साकी ने ये भी कहा कि अफगानिस्तान से अमेरिकियों और वहां से निकलने के इच्छुक अफगानों के निकासी अभियान के अगले कुछ दिन अब तक के सबसे जोखिम भरे दिन होंगे.

जेन साकी ने कहा है कि, राष्ट्रपति जो बाईडेन को इस्लामिक स्टेट-खोरासन से निपटने की योजना की जानकारी दे दी गई है. इधर, राष्ट्रपति बाइडेन भी अमेरिकी सैनिको को हर संसाधन मुहैया कराने का आश्वासन दिया है. इधर इसी कड़ी में अमेरिकी विदेश विभाग के प्रवक्ता ने बयान दिया है कि, निकासी प्रक्रिया पूरी हो जाने के बाद अमेरिका काबुल हवाई अड्डे को वापस अफगानिस्तान के लोगों को सौंप देगा.

हर पल दहशत में अफगानी: इधर, अफगानिस्तान के मौजूदा हालात से यहां के नागरिक भयभीत हैं. संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी ने कहा है कि पांच लाख से ज्यादा अफगानी मुल्क छोड़ कर निकल सकते हैं. शुक्रवार को यह अंदेशा जताते हुए संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी ने सभी पड़ोसी मुल्कों से अपील की है कि वे अपने बॉर्डरों को खोल दें. यूएन हाई कमिश्नर फॉर रिफ्यूजिज, केली क्लेमेन्ट्स ने बताया कि हालात सबसे खराब हैं. उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान के अंदर हालात इतने खराब हैं कि इसके बारे में कल्पना नहीं की जा सकती है.

बता दें कि 15 अगस्त को जैसे ही तालिबान ने काबुल पर कब्जा जमाया था, पूरे अफगानिस्तान में हड़कंप मच गया. अफगानिस्तान छोड़ कर निकलने की जल्दी काबुल एयरपोर्ट पर नजर आयी. यहां लोगों की भारी भीड़ जमा हो गयी. देश छोड़ कर भागने की जल्दी में लगे लोगों की जो तस्वीरें आयीं वो बेहद ही हैरान करने वाली थीं.

भाषा इनपुट के साथ

Posted by: Pritish Sahay

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें