1. home Home
  2. world
  3. afghanistan crisis talibani terrorist started committing massacre 13 people killed including 17 year old girl vwt

अब अफगानिस्तान में बर्बर नरसंहार करने लगा तालिबान, 17 साल की लड़की समेत 13 लोगों का सर कर दिया कलम

बताया जाता है कि अफगानिस्तान के सेंट्रल प्रोविंस के दायकुंडी में तालिबानियों के हाथों मारे जाने वालों में ज्यादातर उसके लड़ाकों के सामने समर्पण करने वाले सैनिक थे.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
सुरक्षा की मांग कर रहे एएनएसएफ के जवानों की तालिबानियों ने ली जान.
सुरक्षा की मांग कर रहे एएनएसएफ के जवानों की तालिबानियों ने ली जान.
फोटो : ट्विटर.

काबुल : पाकिस्तान की मदद से अफगानिस्तान की सत्ता पर काबिज होने वाला तालिबान अब बर्बर नरसंहार करने पर आमादा हो गया है. उसने 17 साल की एक लड़की समेत तकरीबन 13 लोगों का सिर कलम कर दिया. उसके इस बर्बर नरंसहार के शिकार हुए लोगों में सभी शिया हजारा मुस्लिम समुदाय के शामिल हैं.

बताया जाता है कि अफगानिस्तान के सेंट्रल प्रोविंस के दायकुंडी में तालिबानियों के हाथों मारे जाने वालों में ज्यादातर उसके लड़ाकों के सामने समर्पण करने वाले सैनिक थे. एमनेस्टी इंटरनेशनल की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार, तालिबानियों ने बीते 30 अगस्त को अफगानिस्तान के दायकुंड प्रांत के काहेर गांव में 13 लोगों को मारकर बर्बर नरसंहार की वारदात को अंजाम दिया है. मारे जाने वालों में 11 अफगानिस्तानी राष्ट्रीय बलों के सदस्य थे. इनके अलावा, दो निर्दोष नागरिक और एक 17 साल की लड़की शामिल थी. इन सभी को तालिबानी आतंकवादी एक नदी के किनारे ले जाकर मार डाला.

बताया यह भी जा रहा है कि जिन लोगों की बर्बर तरीके से हत्या की गई है, तालिबानियों की चंगुल से भागने की फिराक में थे. भागने की कोशिश कर रहे अफगान सुरक्षा बलों के जवानों को निशाना बनाया गया. इस दौरान दोनों तरफ से जमकर गोलीबारी की गई. मीडिया रिपोर्ट्स में बताया जा रहा है कि इस गोलीबारी में अफगानिस्तान राष्ट्रीय सुरक्षा बल के जिन जवानों को मारा गया है, वे सभी शिया हजारा मुस्लिम समुदाय से ताल्लुक रखते थे.

एमनेस्टी इंटरनेशल के महासचिव एग्नेस कैलामार्ड ने कहा कि ये बर्बर हत्या इस बात का सबूत है कि तालिबान वही कुख्यात अपराध कर रहा है, जो वह अपने पिछले शासनकाल के दौरान किया करता था. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, अफगानी सत्ता पर तालिबानियों का कब्जा होने के बाद तकरीबन 34 पूर्व सैनिकों ने खिदिर जिले में सुरक्षा की मांग कर रहे थे. ये सभी हथियारबंद सैनिक तालिबानी आतंकवादियों के सामने सरेंडर करने तक को तैयार हो गए.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, बीते 30 अगस्त को करीब 300 की संख्या में तालिबानी आतंकवादी दहानी कुल गांव पहुंचे. यहां उन लोगों ने सपरिवार रह रहे सुरक्षा बल के जवानों पर गोलियां बरसानी शुरू कर दी. इस दौरान एक जवान ने जवाबी फायरिंग भी की, जिसमें एक तालिबानी आतंकी भी मार गिराया गया.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें