ISIS ने जारी किया पत्रकार की हत्‍या का खौफनाक वीडियो,देखें

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

वाशिंगटन: चरमपंथी समूह इस्लामिक स्टेट ने एक वीडियो जारी किया है, जिसमें अमेरिकी पत्रकार जेम्सफोलेका 'क़त्ल करते हुए दिखाया गया' है. जेम्सफोलेसाल 2012 से लापता थे.

पत्रकारफोलेकी मां डायने ने फेसबुक पर लिखा है कि उनके बेटे ने सीरियाई लोगों की मुश्किलों को दुनिया के सामने लाने के लिए अपना जीवन दे दिया.देखें वीडियो:-

चरमपंथी समूह इस्लामिक स्टेट द्वारा जारी इस आनलाइन वीडियो में एक और पत्रकार भी बंदी बनाया हुआ दिख रहा है.पत्रकारफोलेकी मां ने कहा है कि जिम की तरह वे भी निर्दोष हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि इन लोगों का इराक, सीरिया या दुनिया के किसी भी देश को लेकर अमेरिकी नीति पर कोई नियंत्रण नहीं है.

अमेरिका का बयान

व्हाइट हाउस ने सीरिया में अमेरिकी पत्रकार के साथ निर्ममता पर गुस्सा जाहिर करते हुए कहा है कि सीरिया में आतंकियों द्वारा एक अमेरिकी पत्रकार के सिर काटने के दृश्यों वाली वीडियो की सत्यता की जांच अमेरिका कर रहा है.

राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद की प्रवक्ता सी. हेडन ने कहा,हमने एक वीडियो देखा है, जिसमें आईएसआईएल द्वारा अमेरिकी नागरिक जेम्स फोले की हत्या का दावा किया गया है. उन्होंने कहा कि खुफिया समुदाय इस वीडियो की सत्यता जल्दी से जल्दी जांचने के लिए काम कर रहा है.

हेडन ने कहा, यदि यह सही है तो हम एक निर्दोषअमेरिकी पत्रकार की निर्मम हत्या से स्तब्ध हैं और हम उनके परिवार एवं मित्रों के प्रति अपनी गहरी संवेदनाएं जाहिर करते हैं. जैसे ही और जानकारी मिलती है, हम उपलब्ध करवाएंगे.

हाल ही में इस्लामिक स्टेट ऑफ इराक एंड द लेवेंट द्वारा जारी किए गए इस वीडियो की जानकारी राष्ट्रपति बराक ओबामा को राष्ट्रीय सुरक्षा उपसलाहाकार ने दी.प्रमुख प्रेस उपससिचव एरिक शुल्त्ज ने कहा, राष्ट्रपति नियमित जानकारी लेते रहेंगे

पत्रकारफोलेअमरीकी अख़बार ग्लोबल पोस्ट, फ्रांस की समाचार एजेंसी एएफपी सहित कई मीडिया समूहों के लिए पूर्व एशिया की रिपोर्टिंग कर चुके है.

जारी वीडियो का शीर्षक दिया गया है- अमेरिका को संदेश. इस वीडियो में शख़्स जेम्स फॉली की हत्या करने वाले व्यक्ति ने खुद को इस्लामिक स्टेट का सदस्य बताया है. साल 2012 में अपने एक इंटरव्यू में फॉली ने कहा था, "मैं युद्ध क्षेत्र की अनसुनी कहानियों को दुनिया के सामने लाना चाहता हूं."

एक बयान में सीनेटर स्कॉट ब्राउन ने कहा , यदि किसी को इस्लामी आतंकवाद की अमानवीयता का और कोई सबूत चाहिए तो यह लीजिए. यह रहा सबूत. उन्होंने कहा, आईएसआईएस पूरी तरह दुष्ट है और उसे रोका जाना चाहिए. पत्रकारों की सुरक्षा की पैरोकार द कमेटी टू प्रोटेक्ट जर्नलिस्ट्स ने फोले की हत्या की निंदा की है. फोले अमेरिका के एक स्वतंत्र पत्रकार थे और उन्हें नवंबर 2012 में सीरिया में बंधक बना लिया गया था.

ऑनलाइन डाले गए एक वीडियो में अल-कायदा से अलग हुए समूह इस्लामिक स्टेट ने फोले को मौत की सजा देने का दावा करते हुए कहा था कि यह काम इराक में अमेरिकी सेना के हस्तक्षेप की सजा है.

इस वीडियो की शुरुआत ओबामा द्वारा इस्लामिक स्टेट के खिलाफ हवाई हमलों की घोषणा के साथ होती है और इसका शीर्षक आता है अमेरिका के नाम एक संदेश.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें