29.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

शहरी जलापूर्ति योजना की लातेहार में खुली पोल, एनएच- 75 की सड़कों पर पानी की हो रही बर्बादी, सुध लेने वाला कोई नहीं

Jharkhand news, Latehar news : लातेहार में शहरी जलापूर्ति योजना अभी पूरी भी नहीं हुई है कि इस योजना के तहत हुए कार्यों की पोल खुलने लगी है. शहर से गुजरने वाली एनएच-75 पर शहरी जलापूर्ति का पानी सड़क पर बहने लग रहा है. गुरुवार को शहर के मुख्य मार्ग अमवाटीकर मोड़ के समीप शांति वस्त्रालय के सामने पाइप फट जाने से सड़कों पर पानी बहने लगा. इसी प्रकार किनामाड़ के पास पानी सड़क पर बहने लगा. लोगों का आरोप है कि कार्यकारी एजेंसी द्वारा इस महत्वपूर्ण परियोजना के निर्माण में व्यापक अनियमितता बरती गयी है.

Jharkhand news, Latehar news : लातेहार (चंद्रप्रकाश सिंह) : लातेहार में शहरी जलापूर्ति योजना अभी पूरी भी नहीं हुई है कि इस योजना के तहत हुए कार्यों की पोल खुलने लगी है. शहर से गुजरने वाली एनएच-75 पर शहरी जलापूर्ति का पानी सड़क पर बहने लग रहा है. गुरुवार को शहर के मुख्य मार्ग अमवाटीकर मोड़ के समीप शांति वस्त्रालय के सामने पाइप फट जाने से सड़कों पर पानी बहने लगा. इसी प्रकार किनामाड़ के पास पानी सड़क पर बहने लगा. लोगों का आरोप है कि कार्यकारी एजेंसी द्वारा इस महत्वपूर्ण परियोजना के निर्माण में व्यापक अनियमितता बरती गयी है.

प्राक्कन के अनुसार, गड्डे नहीं कर पाइप को बिछा दिया गया है. कहीं-कहीं तो 6 इंच एवं एक फीट गड्डा कर पाइप को बिछा दिया गया है. यही कारण है कि जब भी कोई भारी वाहन सड़क के किनारे से गुजरता है, तो पाइप लाइन फट जाती है, जिससे सड़कों पर पानी बहने लगता है.

क्या है परियोजना

नगर विकास विभाग द्वारा नगर पंचायत क्षेत्र में 32 करोड़ रुपये की लागत से शहरी जलापूर्ति योजना का निर्माण किया गया था. विगत दो से ढाई वर्ष पूर्व शुरू की गयी इस महत्वाकांक्षी योजना का ट्रायल इन दिनों किया जा रहा है. ट्रायल के दौरान शहर के कई क्षेत्रों से पाइप लाइन फटने की शिकायत मिलने लगी है. नगर विकास विभाग झारखंड की कार्यकारी एजेंसी जुडको द्वारा इस परियोजना को कराया जा रहा है.

Also Read: घाघरा डबल मर्डर केस मामले में गिरफ्तार आरोपी कुलदीप का नक्सली कनेक्शन, 3 दिन के रिमांड पर पुलिस कर रही पूछताछ
Undefined
शहरी जलापूर्ति योजना की लातेहार में खुली पोल, एनएच- 75 की सड़कों पर पानी की हो रही बर्बादी, सुध लेने वाला कोई नहीं 2
वार्ड पार्षदों ने भी की थी शिकायत

32 करोड़ रुपये की लागत से इस परियोजना का निर्माण नगर पंचायत क्षेत्र में कराया गया है. इस राशि से 3 जलमीनारों के अलावा नगर पंचायत क्षेत्र में पाइप लाइन बिछाने का कार्य किया जाना है. जब कार्य शुरू हुआ था, तभी नगर पंचायत के वार्ड पार्षदों ने इस योजना में व्यापक अनियमितता बरतने की लिखित शिकायत नगर पंचायत बोर्ड की बैठक में उठायी थी और इसकी जांच कराने की मांग की थी.

कार्य में शुरू से ही अनियमितता बरती गयी है : जितेंद्र पाठक

वार्ड पार्षद जितेंद्र पाठक कहते हैं कि शहर वासियों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने के उद्देश्य से इस परियोजना को लाया गया था. परियोजना के प्रारंभ से ही इसमें व्यापक अनियमितता बरती गयी है. नगर पंचायत की सभी बोर्ड की बैठक में इस मामले को उठाया गया था, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई.

शिकायत के बाद भी नहीं हुआ सुधार : सीतामणी तिर्की

नगर पंचायत अध्यक्ष सीतामणी तिर्की ने कहा कि शहर के लिए यह एक दीर्घकालिक एवं महत्वाकांक्षी योजना है. इसमें अनियमितता की शिकायत शुरू से ही मिल रही थी. कार्य में सुधार के लिए कई बार कार्यकारी एजेंसी को कहा गया था, लेकिन कोई सुधार नहीं हुआ.

Posted By : Samir Ranjan.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें