18.1 C
Ranchi
Wednesday, February 21, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Homeदेशकोरोना की तीसरी लहर को लेकर बंगाल अलर्ट, राज्य सरकार की 10 सदस्यीय कमेटी को अहम जिम्मा

कोरोना की तीसरी लहर को लेकर बंगाल अलर्ट, राज्य सरकार की 10 सदस्यीय कमेटी को अहम जिम्मा

Bengal Corona Update: पश्चिम बंगाल में कोरोना संक्रमण के मामलों के बीच डेल्टा वैरिएंट को लेकर चौकसी बढ़ा दी गई है. सीएम ममता बनर्जी ने डेल्टा वैरिएंट और कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए मुकम्मल तैयारियां का निर्देश दिया है. तीसरी लहर और डेल्टा वैरिएंट से निपटने के लिए राज्य सरकार ने दस सदस्यीय कमेटी का गठन किया है. इस कमेटी को तीसरी लहर से निपटने के लिए आवश्यक दिशानिर्देश देने का अहम जिम्मा भी दिया गया है.

Bengal Corona Update: पश्चिम बंगाल में कोरोना संक्रमण के मामलों के बीच डेल्टा वैरिएंट को लेकर चौकसी बढ़ा दी गई है. सीएम ममता बनर्जी ने डेल्टा वैरिएंट और कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए मुकम्मल तैयारियां का निर्देश दिया है. तीसरी लहर और डेल्टा वैरिएंट से निपटने के लिए राज्य सरकार ने दस सदस्यीय कमेटी का गठन किया है. इस कमेटी को तीसरी लहर से निपटने के लिए आवश्यक दिशानिर्देश देने का अहम जिम्मा भी दिया गया है.

Also Read: ‘एक बार काली बोलो’ की ऐतिहासिक कालीघाट में गूंज, कोरोना संकट में मंगलवार से भक्तों के लिए खुला माता का दरबार

राज्य सरकार की दस सदस्यीय कमेटी तीसरी लहर से निपटने की रणनीति तैयार करेगी. इसके अलावा बच्चों और महिलाओं की सुरक्षा को देखते हुए स्वास्थ्य व्यवस्था में सुधार और आवश्यक तैयारियों को अंजाम देने का सुझाव भी देगी. इसके पहले राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने तीसरी लहर से मुकाबले के लिए अस्पतालों में महिलाओं के लिए बेड बढ़ाने का ऐलान किया है. इसको लेकर सीएम ममता बनर्जी ने अधिकारियों के साथ बैठक करके आवश्यक दिशानिर्देश भी दे दिए हैं.

राज्य सरकार के स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक विशेषज्ञ समिति के ओएसडी (ऑफिसर ऑन स्पेशल ड्यूटी) फिजिशियन जीके धाली हैं. जबकि, अन्य सदस्यों में डॉक्टर मैत्रेयी बंद्योपाध्याय (एसएसकेएम), दिलीप पॉल (बीसी रॉय चिल्ड्रन हॉस्पिटल), योगीराज रॉय (ट्रॉपिकल मेडिसिन स्कूल), मृणाल कांति दास (एसएसकेएम), विभूति साहा (ट्रॉपिकल मेडिसिन स्कूल), आशुतोष घोष (एसएसएमके), ज्योतिर्मय पाल (आरजी कर हॉस्पिटल्स) और अभिजीत चौधरी शामिल हैं.

Also Read: नई मुसीबत में नुसरत जहां, अब सांसद बने रहने पर उठे सवाल…

स्वास्थ्य विभाग की विशेषज्ञ समिति तीसरी लहर से निपटने के तरीकों पर सलाह देगी. खास तौर पर कोरोना संक्रमण से प्रभावित होने पर बच्चों का किस तरह इलाज किया जाए, इसके बारे में विशेषज्ञ समिति जानकारी देगी. पश्चिम बंगाल स्वास्थ्य सेवा निदेशक अजय चक्रवर्ती के मुताबिक सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में 26,000 कोविड-19 बेड हैं. इसमें लिंगानुसार अलॉटमेंट देने की कोशिश हो रही है. फिलहाल, पश्चिम बंगाल में 60:40 के अनुपात में पुरुष और महिलाओं के लिए बेड उपलब्ध हैं. इसे तीसरी लहर को देखते हुए 40:60 के अनुपात में करने की योजना है.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें