1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. ministry of home affairs asked west bengal government for a report on the post election violence targeting opposition political bjp workers by mamta banerjee party tmc suppoters in bengal smb

बंगाल में चुनाव बाद शुरू हुई हिंसा की घटना पर केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राज्य सरकार से मांगी रिपोर्ट, जानें अबतक के अपडेट्स

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
पश्चिम बंगाम में विधानसभा चुनाव के परिणाम आने के बाद कई शुरू हुई हिंसा की घटना.
पश्चिम बंगाम में विधानसभा चुनाव के परिणाम आने के बाद कई शुरू हुई हिंसा की घटना.
प्रभात खबर

Post Election Violence In West Bengal पश्चिम बंगाम में विधानसभा चुनाव के परिणाम आने के बाद कई जगहों से राजनीतिक हिंसा की बात सामने आई है. हिंसा की इन घटनाओं पर केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सोमवार को राज्य सरकार से रिपोर्ट मांगी है. गृह मंत्रालय ने राज्य सरकार से विपक्षी दलों के कार्यकर्ताओं पर हुए हमले की पूरी जानकारी सौंपने बात कही है. वहीं, पश्चिम बंगाल में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने अपनी प्रतिक्रिया में कहा है कि चुनाव के बाद बंगाल में शुरू हुई हिंसा में बीते 24 घंटे में अब तक 9 लोगों की मौत हुई है.

भाजपा नेता दिलीप घोष ने कहा कि पश्चिम बंगाल में भय और दहशत का माहौल है. ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि सत्ताधारी पार्टी हाथ बांध कर बैठी है और पुलिस निष्क्रिय है. उन्होंने कहा कि हम राज्यपाल के पास निवेदन लेकर आए थे, जिसे उन्होंने स्वीकार कर लिया है. वहीं, हिंसा की खबरों के बीच पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री बनर्जी ने सभी से शांति बनाए रखने की अपील की है और आरोप लगाते हुए कहा कि केंद्रीय बलों ने चुनावों के दौरान टीएमसी समर्थकों पर काफी अत्याचार किए है.

पूर्व बर्दवान और बीरभूम में मतगणना के बाद राजनीतिक हिंसा भड़की, पांच की मौत!

विधानसभा चुनाव के परिणाम घोषित होने के बाद से पूर्वी बर्दवान जिले के विभिन्न हिस्सों में हिंसा भड़क गई है. जमालपुर में सोमवार को नबग्राम की सस्तीतला में भाजपा और तृणमूल कांग्रेस के बीच संघर्ष में तीन लोग मारे गए. इनमें एक भाजपा कार्यकर्ता और दो तृणमूल कार्यकर्ता मारे गए है. तृणमूल ने आरोप लगाया कि भाजपा समर्थकों ने सोमवार को हमला किया, जबकि तृणमूल कार्यकर्ता जीत का जश्न मना रहे थे. घटना में तीन तृणमूल के कर्मी गंभीर रूप से घायल हो गए.

बीजेपी का आरोप

बीजेपी ने आरोप लगाया कि इस दिन, तृणमूल कार्यकर्ताओं ने 45 वर्षीय काकली खेत्रपाल पर हमला किया, जो उनकी पार्टी के शक्ति केंद्र के प्रमुख आशीष खेत्रपाल की मां थीं, क्योंकि वे गांव से गुजर रहे थे. तभी चाकू से उनपर हमला किया गया चाकू काकुली के गले आ आरपार हो गयी गम्भीर हालत में जमालापुर ब्लॉक अस्पताल ले जाने पर चिकित्सक ने मृत घोषित कर दिया. इस घटना के बाद व्यापक तनाव इलाके में उत्पन्न हो गया. इस बीच, स्थानीय और पुलिस सूत्रों ने कहा कि झड़प में कई लोग गंभीर रूप से घायल हो गए.जब घायलों को जमालपुर स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया, तो उनमें से कुछ को बर्दवान मेडिकल कॉलेज अस्पताल रेफर कर दिया गया.

इलाके में भारी पुलिस बल तैनात

घटना के बाद इलाके में भारी पुलिस बल तैनात किया गया है. तृणमूल के जिला प्रवक्ता प्रसेनजीत दास ने कहा कि डॉक्टरों ने 28 वर्षीय शाहजहां शाह और 28 वर्षीय विभास बाग को मृत घोषित कर दिया, दोनों तृणमूल कर्मी थे. उन्होंने कहा कि जिस इलाके में घटना हुई, वहां भाजपा हावी थी. तृणमूल कार्यकर्ता सक्रिय थे, भाजपा कार्यकर्ताओं ने उन पर धारदार हथियार से हमला किया. दो लोग गंभीर रूप से घायल हो गए. भाजपा सूत्रों के अनुसार, आशीष खेत्रपाल के पिता अनिल खेत्रपाल और काकुली पर तृणमूल ने धारदार हथियार से हमला किया था. अनिल खेत्रपाल को गंभीर रूप से पैर में चोट के साथ बर्दवान अस्पताल में भर्ती कराया गया है. इस बीच, चुनाव के परिणामों की घोषणा के बाद से, तृणमूल भाजपा रायना और जमालपुर सहित विभिन्न स्थानों में राजनीतिक हिंसा फैल गई है.

भाजपा पर आरोप, रायना में चुनाव का रिजल्ट सुनकर घर लौट रहे तृणमूल कर्मी की हत्या, पांच घायल

पूर्व बर्दवान जिले के रायना थाना के समसपुर ग्राम में रविवार देर शाम राज्य विधानसभा चुनाव का रिजल्ट सुनकर अपने घर लौट रहे तृणमूल कांग्रेस के एक दल पर भाजपा समर्थित बदमाशों द्वारा हमला चलाया गया. इस घटना में एक तृणमूल कांग्रेस कर्मी की हत्या कर दी गयी. वहीं पांच तृणमूल समर्थक घायल हो गये. घायलों को स्थानीय ग्रामीणों ने खबर के बाद पुलिस की मदद से बरामद कर उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया है. पुलिस ने मृतक तृणमूल कर्मी का नाम गणेश मालिक (61) बताया है.

तृणमूल का दावा

तृणमूल ने दावा किया कि भाजपा समर्थित उपद्रवियों ने तृणमूल की जीत को स्वीकार नहीं किया. हालांकि, भाजपा ने आरोपों से इनकार किया है. उनका प्रतिवाद यह है कि यह तृणमूल गुटबाजी का परिणाम है. पुलिस ने दोषियों की तलाश शुरू कर दी है. पुलिस सूत्रों ने बताया कि हमले में शामिल होने के संदेह में तीन लोगों को गिरफ्तार किया है. इलाके में तनाव बढ़ने पर पुलिस की गश्त जारी है.

भाजपा का आरोप, बीरभूम में पार्टी कार्यकर्ता की पिट-पिटकर हत्या

मतगणना के बाद से एक बार फिर बीरभूम जिले में हिंसात्मक घटना शुरू हो गया है. जिले के बोलपुर विधानसभा क्षेत्र के इलम बाजार थाना के गोपल नगर गांव में बुथ नम्बर 137 इलाके में एक भाजपा कार्यकर्ता की तृणमूल दुष्कृतियों द्वारा पिट पिट कर हत्या किए जाने का मामला प्रकाश में आया है. मृतक भाजपा कर्मी का नाम गौरव सरकार बताया गया है. घटना के बाद से इलाके में भाजपा समर्थकों कार्यकर्ताओं में बड़ी उत्तेजना के बाद घटना के प्रतिवाद में स्थानीय भाजपा समर्थकों, कार्यकर्ताओं ने सड़क अवरोध कर विरोध प्रदर्शन जताया.

भाजपा कार्यकर्ताओं के घर में तोड़फोड़ व लूटपाट की गई

भाजपा कार्यकर्ताओं का आरोप है कि तृणमूल के लोगों ने हमारे भाजपा सदस्य की पीट-पीटकर हत्या कर दी. भाजपा कार्यालय आदि में भी तोड़फोड़ चलाया गया, कई कार्यकर्ताओं के घर में भी तोड़फोड़ किया गया. लूटपाट की गई. झंडे व बैनर फाड़ दिए गए. सूचना के बाद मौके वारदात पर पुलिस पहुंचकर परिस्थिति को नियंत्रित करने में जुट गई है. जिला भाजपा पार्टी अध्यक्ष ध्रुव साहा का आरोप है कि हमारे भाजपा कार्यकर्ता की तृणमूल समर्थित बदमाशों ने हत्या की है. भाजपा कार्यकर्ताओं के घर में तोड़फोड़ व लूटपाट की गई है. मतगणना के बाद हिंसा की राजनीति फिर जिले में शुरू हो गया है .हालांकि स्थानीय तृणमूल नेता ने इस घटना के पीछे तृणमूल के हाथ होने की बात को अस्वीकार किया है. पुलिस मामले की तहकीकात में जुट गई है.

Upload By Samir

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें