1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. expert panel for west bengal 10th and 12th board exams mtj

बंगाल में 10वीं और 12वीं बोर्ड की परीक्षाओं के लिए सरकार ने बनायी विशेषज्ञों की समिति

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
बंगाल में बोर्ड की परीक्षा से पहले सरकार ने बनायी समिति
बंगाल में बोर्ड की परीक्षा से पहले सरकार ने बनायी समिति
File Photo

कोलकाता : पश्चिम बंगाल में 10वीं और12वीं बोर्ड की परीक्षाओं पर अंतिम फैसला लेने के लिए सरकार ने विशेषज्ञों की एक समिति बनायी है. विशेषज्ञों का पैनल इस बात की पड़ताल करेगा कि मौजूदा स्थिति के दौरान परीक्षा कैसे आयोजित की जाये और उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन कैसे किया जाये.

कोरोना महामारी के बीच 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं के कार्यक्रम की घोषणा करने के लिए बुधवार को होने वाली प्रेस वार्ता रद्द कर दी गयी थी. इसकी कोई वजह भी नहीं बतायी गयी थी. पश्चिम बंगाल माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (डब्ल्यूबीबीएसई) के अध्यक्ष कल्याणमय गांगुली ने कहा, हां, (परीक्षा के) कार्यक्रम की घोषणा करने के लिए होने वाली प्रेस वार्ता रद्द कर दी गयी है. इस समय हम और कुछ नहीं कह सकते हैं. हम चर्चा करेंगे.

डब्ल्यूबीबीएसई माध्यमिक (10वीं कक्षा की) परीक्षा आयोजित करता है, जो मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा पिछले हफ्ते की गयी घोषणा के तहत अगस्त के दूसरे सप्ताह में होनी है. पश्चिम बंगाल उच्च माध्यमिक शिक्षा परिषद की अध्यक्ष महुआ दास ने कॉल नहीं उठाया. उच्च माध्यमिक (12वीं कक्षा की) परीक्षा परिषद द्वारा ली जाती है, जो जुलाई के अंतिम हफ्ते में होनी है.

स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारी ने कहा कि मौजूदा स्थिति के दौरान परीक्षा कैसे आयोजित की जाये और उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन कैसे किया जाए, इसकी पड़ताल करने के लिए विशेषज्ञों की एक समिति बनायी गयी है. समिति में डब्ल्यूबीबीई, परिषद और पश्चिम बंगाल बाल अधिकार संरक्षण आयोग के प्रतिनिधियों के साथ-साथ शिक्षाविदों, शिक्षकों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों को शामिल किया गया है.

तीन दिन में रिपोर्ट देगी समिति

अधिकारी ने बताया कि समिति को परीक्षा आयोजित करने के लिए अन्य बोर्डों द्वारा किये गये उपायों पर गौर करने, छात्रों और शिक्षकों से प्रतिक्रिया लेने और अपनी सिफारिशें देने के लिए तीन दिन का समय दिया गया है.

दक्षिण कोलकाता के एक स्कूल जादवपुर विद्यापीठ के प्रधान अध्यापक परिमल भट्टाचार्य ने कहा, छात्र व उनके अभिभावक बेहद परेशान हैं. वे इस तरह की अनिश्चितता में लंबे समय तक नहीं रह सकते हैं. हमें उम्मीद है कि समिति ऐसा निर्णय लेगी, जो सभी को स्वीकार्य होगा.

सीबीएसई ने रद्द कर दी हैं 10वीं, 12वीं बोर्ड की परीक्षाएं

पहले कहा जा रहा था कि दोनों कक्षाओं के इम्तिहान गृह केंद्र (यानी उसी स्कूल में कराये जायेंगे, जहां छात्र पढ़ता है) और यह सिर्फ अनिवार्य विषयों के होंगे तथा समय भी 90 मिनट का ही होगा. इस साल 12 लाख विद्यार्थियों को 10वीं तथा 8.5 लाख को छात्रों को 12वीं की परीक्षा देनी है. गौरतलब है कि सीबीएसई ने कोविड-19 महामारी की वजह से हाल में 12वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा रद्द कर दी हैं.

Posted By: Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें