सीबीआइ ने फर्जी चिटफंड कंपनी के मास्टरमाइंड को दिल्ली से दबोचा

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

सिलीगुड़ी : चिटफंड मामले में सीबीआई की उत्तर बंगाल की टीम ने ने एक फर्जी कंपनी के मास्टरमाइंड सिद्धार्थ नाग को दिल्ली से गिरफ्तार किया. असम-बांग्लादेश बॉर्डर करीमगंज निवासी सिद्धार्थ नाग पर फर्जी कंपनी की आड़ में गैरकानूनी तरीके से बाजार से 9.13 करोड़ वसूलने का आरोप है.

बताया जा रहा है कि सिद्धार्थ की कंपनी सेबा रियल एस्टेट लिमिटेड ने सिलीगुड़ी में भी काफी लोगों को चूना लगाया था. दिल्ली अदालत में पेश कर आरोपी को ट्रांजिट रिमांड पर लेकर शनिवार को सीबीआई की टीम सिलीगुड़ी पहुंची. जहां आरोपी सिद्धार्थ नाग को सिलीगुड़ी एसीजेएम अदालत में पेश किया गया.
अदालत ने दोनों पक्षों की दलील को सुनने के बाद आरोपी को तीन दिनों की सीबीआई रिमांड पर रखने का निर्देश दिया. सीबीआई सूत्रों के मुताबिक आगामी मंगलवार को एक बार फिर से इस मामले की सुनवाई होगी. शनिवार को सिलीगुड़ी एसीजेएम अदालत में पेशी के बाद पब्लिक प्रॉसिक्यूटर दिपक कोरिया ने बताया कि चिटफंड मामले में सीबीआई ने सिद्धार्थ को 20 फरवरी दिल्ली से गिरफ्तार किया गया था.
उन्होंने बताया कि सिलीगुड़ी के प्रधान नगर थाना क्षेत्र के किसी व्यक्ति ने भी इसकी कंपनी में पैसा लगाया था. उन्होंने बताया कि ट्रांजिट रिमांड पर आरोपी को दिल्ली से सिलीगुड़ी लाया गया. कोर्ट में पेशी के बाद उसे तीन दिनों के लिए पुलिस कस्टडी में भेज दिया गया है.
कोलकाता : कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने प्रदेश कांग्रेस भवन विधानभवन में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बरसते हुए कहा कि 'बहुत हुआ नफरत का कारोबार, अब तो बंद करो मोदी सरकार.
उनके मुताबिक प्रधानमंत्री लगातार महात्मा गांधी का राजनीतिक इस्तेमाल कर रहे हैं, लेकिन उनकी नीतियों का पालन नहीं कर रहे हैं. देश में असहिष्णुता तेजी से बढ़ रही है. लोगों के बीच नफरत की खाई फैल रही है. देश का पिछड़े जा रहा है. परंतु प्रधानमंत्री इस बात से खुश हैं कि पाकिस्तान के हाथों में कटोरा आ गया है, जबकि देश में लोगों को बांटा जा रहा है.
हेट क्राइम में 28 फीसदी बढ़ोतरी हुई है. उत्तर प्रदेश में 59 से 60 फीसदी अपराध गौ वंश को लेकर हुए. मानवाधिकार के उल्लंघन और सीएए की वजह से पूरे विश्व में भारत की छवि खराब हुई है. जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाकर मोदी अपनी पीठ थपथमा रहे हैं, जबकि हकीकत यह है कि वहां पर पांच लाख लोग जो रोजगार करते थे, वे बेरोजगार हो गये हैं.
निर्यात नहीं हो पाने के कारण 2.4 बिलियन अमेरिकी डॉलर का नुकसान हुआ है. उन्होंने कर्नाटक में पाकिस्तान जिंदाबाद का नारा लगानेवाली किशोरी का समर्थन नहीं करने की बात कहते हुए शरजील इमाम का समर्थन करते हुए कहा कि एक नौजवान कुछ बोल दिया, तो उसपर देशद्रोह का मुकदमा थोप देना कहां तक जायज है.
Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें