15.1 C
Ranchi
Saturday, February 24, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Homeराज्यउत्तर प्रदेशGorakhpur विश्वविद्यालय बांग्लादेश के साथ मिलकर कृषि शिक्षा और शोध पर करेगा काम

Gorakhpur विश्वविद्यालय बांग्लादेश के साथ मिलकर कृषि शिक्षा और शोध पर करेगा काम

गोरखपुर विश्वविद्यालय बांग्लादेश से कृषि शिक्षा और शोध में सहयोग के लिए करार करने जा रहा है. दोनों देशों के विश्वविद्यालय के बीच इसको लेकर करार की पृष्ठभूमि बन गई है. बहुत जल्दी करार की प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी.

गोरखपुर : कृषि शिक्षा और शोध में सहयोग के लिए दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय और शेरे बांग्ला कृषि विश्वविद्यालय बांग्लादेश के बीच करार किया जाएगा. इसे लेकर पहल गोरखपुर विश्वविद्यालय की ओर से की गई है.दोनों विश्वविद्यालय के बीच इसे लेकर सहमति बन चुकी है. इसके बाद दोनों विश्वविद्यालय शिक्षा ही नहीं शोध को बढ़ावा देने में भी एक दूसरे की मदद करेंगे. दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय कि कुलपति प्रोफेसर पूनम टंडन ने बताया कि गोरखपुर विश्वविद्यालय और बांग्लादेश के विश्वविद्यालय के बीच शिक्षा व शोध को लेकर करार की पृष्ठभूमि बन गई है. बहुत जल्द करार की प्रक्रिया पूरी की जाएगी. इस करार से कृषि क्षेत्र में शोध को नया आयाम मिलेगा.विश्वविद्यालय के इंटरनेशनल सेल के निदेशक डॉक्टर रामवंत गुप्ता और कृषि एवं प्राकृतिक संस्थान के निदेशक डॉक्टर शरद कुमार मिश्रा ने शेरे बांग्ला कृषि विश्वविद्यालय की आंतरिक गुणवत्ता आश्वासन प्रकोष्ठ की डॉक्टर तुहिन सुबनो राय से इसे लेकर बातचीत की.

दोनों देशों के विश्वविद्यालय के प्रतिनिधियों ने बैठक की

दोनों पक्षों के बीच कृषि क्षेत्र में हो रहे शोध के विषयों पर विचार विमर्श किया गया.इसके बाद दोनों विश्वविद्यालय के प्रतिनिधि इस निष्कर्ष पर पहुंचे कि भारत और बांग्लादेश दोनों देशों की कृषि अनुसंधान में व्यापक रुचि है.और सभी स्तरों पर उत्कृष्ट शिक्षक के प्रति प्रतिबद्धता है.शेरे बांग्ला विश्वविद्यालय के डॉक्टर मिर्जा हसनुज्जमां ने कहा कि इस साझेदारी का प्राथमिक उद्देश्य उद्योग की आवश्यकताओं और युवाओं के पास मौजूद कौशल के बीच अंतर और पाटना और कृषि क्षेत्र में कार्य बल को मजबूत करना है. इस दौरान गोरखपुर विश्वविद्यालय के प्रोफेसर शरद कुमार मिश्रा ने विश्वविद्यालय में कृषि को लेकर चल रहे शोध गतिविधियों की जानकारी दी. और हर स्तर सहयोग की बात भी कहीं. बताते चले कृषि क्षेत्र में फसलों की खेती के साथ-साथ जानवरों को पालने आदि भी शामिल रहते हैं.

रिपोर्ट : कुमार प्रदीप

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें