1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. will shivpal singh yadav soon join hands with azam khan to increase the challenges for akhilesh yadav nrj

प्रसपा प्रमुख शिवपाल यादव ने दिया सियासी संदेश, आजम खान के साथ मिलकर क्‍या सपा को जल्‍द देंगे चुनौती?

जेल में आजम खान से मुलाकात के बाद जब शिवपाल यादव से सवाल किया गया कि आजम उनके साथ है या फिर अखिलेश यादव के साथ तो इसके जवाब में शिवपाल ने कहा कि वह आजम के साथ हैं और आजम उनके साथ हैं. भविष्य की रणनीति को लेकर शिवपाल ने कहा कि सही समय पर इस बारे में बताया जाएगा.

By Prabhat Khabar Digital Desk, Lucknow
Updated Date
प्रसपा प्रमुख शिवपाल सिंह यादव
प्रसपा प्रमुख शिवपाल सिंह यादव
प्रभात खबर

Lucknow News: प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के राष्‍ट्रीय प्रमुख शिवपाल यादव ने सपा व‍िधायक आजम खान की एक पुरानी वीडियो क्लिप को साझा करके सियासी गलियारों में नई चर्चा छेड़ दी है. शिक्षा को लेकर अपने कामों की जानकारी देते इस वीडियो में आजम खान के बारे में शिवपाल यादव ने लिखा है, 'अच्छी और ईमानदार सोच हमेशा अपने मुकाम पर पहुंचती है. मैं आपके साथ था, हूं और रहूंगा.'

बोले- जब सही समय आएगा तब बताऊंगा

दरअसल, जेल में आजम खान से मुलाकात के बाद जब शिवपाल यादव से सवाल किया गया कि आजम उनके साथ है या फिर अखिलेश यादव के साथ तो इसके जवाब में शिवपाल ने कहा कि वह आजम के साथ हैं और आजम उनके साथ हैं. भविष्य की रणनीति को लेकर शिवपाल ने कहा कि सही समय पर इस बारे में बताया जाएगा. वहीं, भाजपा में जाने को लेकर उन्होंने जवाब दिया कि जब सही समय आएगा, तब वे इसकी भी जानकारी देंगे. यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव के चाचा और प्रसपा (लोहिया) के अध्यक्ष शिवपाल यादव की हालिया गतिविधियों को देखकर उनके भारतीय जनता पार्टी में जाने की अटकलें लगाई जा रही थीं. हालांकि, उन्होंने इसे लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में कोई सीधी बात नहीं कही, लेकिन उनकी सोशल मीडिया पोस्ट के जरिये वो अफवाहों को हवा देते दिख रहे हैं.

जेल में बंद आजम से मुलाकात के बाद...

दरअसल, कुछ दिन पहले ही शिवपाल यादव ने सपा के दिग्गज नेता आजम खान से सीतापुर जेल में जाकर मुलाकात की थी. अखिलेश यादव से नाराजगी जाहिर करने वाले शिवपाल ने मुलाकात के बाद कहा था कि सपा ना तो अपनी पार्टी के सबसे वरिष्ठ नेता और संस्थापक सदस्य आजम खान के लिए कोई संघर्ष कर रही है और ना ही कोई मदद. उन्होंने कहा था कि आजम खान उत्तर प्रदेश विधानसभा में सबसे वरिष्ठ सदस्य होने के साथ 10 बार के विधायक हैं. वह लोकसभा और राज्यसभा सदस्य भी रहे हैं, बावजूद इसके सपा ने उनकी सहायता नहीं की.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें