1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. up vidhan sabha chunav 2022 asaduddin owaisi mission up aimim political equations of muslim seat bjp congress sp cm yogi akhilesh yadav amh

UP Vidhan Sabha Chunav 2022 : यूपी चुनाव को हल्के में नहीं ले रहे ओवैसी, बढ़ने वाली है दूसरे दलों की मुश्‍किल

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
UP Vidhan Sabha Chunav 2022
UP Vidhan Sabha Chunav 2022
twitter

UP Vidhan Sabha Chunav 2022 : अगले साल उत्तर प्रदेश (UP Election) में होने वाले चुनाव के पहले सभी पार्टियों ने कमर कस ली है. जहां गुरुवार को एक कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (pm modi) ने योगी सरकार (cm yogi) की जमकर तारीफ की...वहीं आज से कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (congress,priyanka gandhi) प्रदेश के दौरे पर हैं. सपा (samajwadi party) भी योगी सरकार को घेरने का मौका नहीं छोड़ रही है. इन सबके बीच एआइएमआइएम (AIMIM) भी सूबे में अपनी पैंठ जमाने के प्रयास में है. पार्टी प्रमुख असदुद्दीन (asaduddin owaisi) ओवैसी के संभल-मुरादाबाद दौरे से कई पार्टियों में खलबली मच गई है.

यूं तो ओवैसी की पार्टी की एंट्री मुरादाबाद में नई नहीं है. यदि आपको याद हो तो 2017 के विधानसभा चुनाव में ओवैसी ने यहां तकरीरें की थीं लेकिन इस बार उनका मूड ही दूसरा नजर आ रहा है. वे अब पहले से ज्यादा आक्रामक और तैयारी के साथ चुनावी मैदान में उतरने की कोशिश में हैं. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली रोड के एक होटल में एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदउद्दीन ओवैसी ने मंथन किया और मंडल की हर सीट का गणित समझाने का प्रयास किया. कई टिकट की इच्छा लिए भी उनके पास पहुंचे.

ओवैसी खड़ी करेंगे मुश्‍किल : ओवैसी कुछ प्लान के साथ इस बार चुनावी समर में उतरेंगे. प्रदेश की योगी सरकार को चौतरफा घेरने के साथ समाज के लोगों की दुर्दशा, शोषित वंचितों के लिए काम करने के दावे के साथ ओवैसी लोगों को अपनी पार्टी की ओर आकर्षित करेंगे. उनके इस प्लान के बाद 2022 में कुछ दलों की मुश्किल बढ़ सकती है. बताया जा रहा है कि पश्चिम यूपी की मुस्लिम बहुल सीटें और पूर्वांचल की राजभर की बहुलता वाली सीटों पर ओवैसी की पैनी नजर है.

ओवैसी ने नहीं किया खुलासा : ओवैसी अपनी रणनीति का खुलासा नहीं करते हैं. वे केवल इतना कहते नजर आते हैं कि जम्हूरियत में सबको वोट का अधिकार है. चुनाव लड़ने का अधिकार है. वे योगी सरकार पर हमला करते हुए कहते हैं कि प्रदेश की जनता ने जिनका साथ दिया उन्होंने उनके लिए क्या किया ?

राजभर के साथ का मिलेगा फायदा : ओम प्रकाश राजभर इस बार ओवैसी के साथ हैं. ओवैसी का मानना है कि राजभर का साथ उन्हें पूर्वांचल में ताकत देने का काम करेगा. इससे साथ ही कई छोटी पार्टियों का एक मोर्चे की दिशा में काम जारी है. आगामी चुनाव में ओवैसी की पार्टी कितना जादू बिखेरेगी ये तो आने वाले वक्त में ही पता चलेगा. लेकिन ये तो है कि उनकी तैयारियों से दूसरे दलों में खलबली मच गई है.

Posted By : Amitabh Kumar

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें