1. home Home
  2. state
  3. up
  4. up news bjp mla shashank trivedi controversial statement in sitapur said he will beat maholi sdm with shoes video viral acy

BJP विधायक के बिगड़े बोल, कहा- गरीबों का घर गिराने वालों को जूते से मारेंगे, वीडियो वायरल

बीजेपी विधायक शशांक त्रिवेदी के बिगड़े बोल का वीडियो वायरल हो रहा है. इस वीडियो में विधायक एसडीएम को जूतों से मारने की बात कह रहे हैं. इतना ही नहीं, उन्होंने एसडीएम पर घूसखोरी का भी आरोप लगाया है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
bjp mla shashank trivedi
bjp mla shashank trivedi
fb

UP News: उत्‍तर प्रदेश के सीतापुर जिले की महोली सीट से बीजेपी विधायक शशांक त्रिवेदी (BJP MLA Shashank Trivedi) के बोल एक बार फिर बिगड़ गए हैं. उन्होंने फोन पर गरीबों का घर गिराने का आरोप लगाते हुए एसडीएम को जमकर फटकार लगाई. विधायक ने कहा कि वह एसडीएम को जूतों से पीटेंगे और उनके खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराएंगे. उन्होंने एसडीएम पर घूसखोरी का भी आरोप लगाया.

बीजेपी विधायक शशांक त्रिवेदी का सार्वजनिक रूप से हुई इस बातचीत का वीडियो अब तेजी से वायरल हो रहा है. वायरल वीडियो में विधायक लोगों के बीच में खड़े हैं और फोन पर अपशब्दों का प्रयोग कर रहे हैं. उनको वीडियो में यह कहते हुए सुना जा सकता है कि गरीबों का घर गिराने वाले एसडीएम को जूतों से मारेंगे और उन पर एफआईआर भी दर्ज कराएंगे.

पांच दिन पुराना है वीडियो

विधायक ने एसडीएम पर आरोप लगाया कि इन लोगों को पैसे वालों के घर नहीं दिखते. गरीबों का ही घर गिराएंगे. सोशल मीडिया में वायरल विधायक शशांक त्रिवेदी का यह वीडियो पांच दिन पुराना बताया जा रहा है. विधायक क्षेत्र भ्रमण के दौरान प्रशासन पर घर गिराने का आरोप लगाए जाने पर आक्रोशित हो उठे और फोन पर ही जमकर भड़ास निकली.

विधायक के पहले भी बिगड़े चुके हैं बोल

दरअसल, महोली विधासभा सीट से बीजेपी विधायक शशांक त्रिवेदी अक्सर विवादों में रहते हैं. पिछले साल क्षेत्र पंचायतों की वार्षिक बैठक के दौरान उन्‍होंने एक महिला सांसद को शायराना अंदाज में भौजाई कह कर पुकारा था, जिस पर सांसद ने उन्‍हें जमकर मर्यादा का पाठ पढ़ाया था और कहा था कि 'मैं आपकी भौजाई नहीं बड़ी बहन हूं.'

दिव्यांग के मकान का शुरू कराया निर्माण

मीडिया सूत्रों के मुताबिक, कुछ दिन पहले महोली तहसील के पकरिया पाण्डेय गांव में एसडीएम ने एक दिव्यांग का घर उजाड़ दिया था. तहसील प्रशासन का कहना था कि उसने यह कार्रवाई दिव्यांग के द्वारा ग्राम समाज की जमीन पर कब्जे को लेकर की है. जबकि दिव्यांग का कहना था कि वह 25 सालों से उस जमीन पर काबिज है. उसके द्वारा जमीन की रजिस्ट्री भी कराई गई है. वहीं, जब इस बात की जानकारी बीजेपी विधायक शशांक त्रिवेद्वी को हुई तो उन्होंने गांव पहुंचकर पीड़ित दिव्यांग के मकान का निर्माण कार्य शुरू करवाया.

Posted by : Achyut Kumar

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें