1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. up chunav 2022 akhilesh yadav gave a call to samajwadi workers go door to door knocking amy

UP Chunav 2022: अखिलेश यादव ने किया आह्वान, घर-घर जाकर दस्तक दें समाजवादी कार्यकर्ता

सपा प्रमुख ने कहा कि समाजवादी प्रत्येक व्यक्ति से निवदेन करेंगे कि 2022 का चुनाव लोकतंत्र के साथ ही विकास के लिए भी हो रहा है. समाजवादी पार्टी की जीत से ही खुशहाली और समृद्धि के रास्ते खुलेंगे.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
Akhilesh Yadav
Akhilesh Yadav
File Photo

UP Chunav 2022: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कार्यकर्ताओं, पदाधिकारियों से बिना समय गवाएं घर-घर जाकर पार्टी के लिए दस्तक देने का आह्वान किया है. उन्होंने सोमवार को कहा कि समाजवादी प्रत्येक व्यक्ति से निवदेन करेंगे कि 2022 का चुनाव लोकतंत्र के साथ ही विकास के लिए भी हो रहा है.

समाजवादी पार्टी की जीत से ही खुशहाली और समृद्धि के रास्ते खुलेंगे. भाजपा अपनी रैलियों में सरकारी साधनों का पूरी तरह दुरुपयोग करने के बाद भी समाजवादी विजय रथ यात्रा का मुकाबला नहीं कर सकी. सपा की सफल रैलियों से डरी भाजपा अब साजिशों में जुट गई है. इसमें दो राय नहीं कि सन् 2022 का विधानसभा चुनाव लोकतंत्र को बचाने का चुनाव है.

अखिलेश यादव ने कहा कि एक समाजवादी रथ छह भाजपाई रथों पर भारी पड़ गया है. जनता का प्रबल समर्थन समाजवादी पार्टी को मिल रहा है. भाजपा ऐसा राजनीतिक दल है जो सिर्फ चुनाव लड़ता है, विकास और जनहित से उसका लेना-देना नहीं है. बीजेपी ने किसानों, नौजवानों के भविष्य को रौंदने का काम किया है. नीति आयोग भाजपा सरकार को कई क्षेत्रों में फिसड्डी घोषित किया है.

संवैधानिक संस्थाओं को भाजपा सरकार ने जानबूझकर कमजोर किया है. लोकतंत्र में भाजपा का आचरण हर तरह से अमर्यादित और लोकलाज से परे है. झूठे विज्ञापनों में कभी चीन, कभी कलकत्ता के दृश्य दिखाकर अपनी वाहवाही की है. भाजपा की रणनीति चुनाव को जटिल बनाने और सरकारी मशीनरी का दुरूपयोग करके चुनाव की निष्पक्षता को प्रभावित करने की है.

समाजवादी सरकार ने बुनियादी ढांचों के विस्तार देने का काम किया है. विकास समाजवादी सरकार ने किया. बीजेपी बिना कुछ काम किए अपने झूठे दावे कर रही है. मुख्यमंत्री के रिपोर्ट कार्ड में ध्वस्त कानून व्यवस्था, महिलाओं के साथ दुष्कर्म की बढ़ती घटनाएं, स्वास्थ्य क्षेत्र की बदहाली, शिक्षा में अव्यवस्था, महंगाई और भ्रष्टाचार है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें