1. home Home
  2. state
  3. up
  4. up assembly elections 2022 akhilesh yadav targeted bjp government cm yogi adityanath over flood in many districts of uttar pradesh acy

'बाढ़ से हर तरफ तबाही मची है, लेकिन बेखबर सरकार उत्सवों में व्यस्त है', अखिलेश यादव ने भाजपा पर बोला हमला

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भाजपा सरकार पर हमला बोला है. उन्होंने कहा कि प्रदेश में बाढ़ से हर तरफ तबाही मची हुई है, लेकिन भाजपा सरकार बेखबर होकर सरकारी उत्सवों में व्यस्त है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
akhilesh yadav targeted bjp government
akhilesh yadav targeted bjp government
fb

UP Assembly Elections 2022: समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने सोमवार को भाजपा सरकार (BJP Government) पर हमला बोला. उन्होंने कहा कि प्रदेश में कई नदियों के उफान पर होने से सैकड़ों गांव बाढ़ (Flood) में डूबे हुए हैं. लोग घरों में फंसे हैं. राहत कार्य शुरू न होने से हर तरफ तबाही मची हुई है, लेकिन भाजपा सरकार बाढ़ की विभीषिका से बेखबर सरकारी उत्सवों में व्यस्त है.

जान बचाने के लिए लोग कर रहे पलायन

उन्होंने कहा कि बलरामपुर, महाराजगंज, बाराबंकी, सिद्धार्थनगर और गोण्डा सहित कई जिलों में बाढ़ में फंसे लोग जान बचाने के लिए पलायन कर रहे हैं. हर साल आने वाली बाढ़ के खतरे से निपटने की जगह भाजपा सरकार लापरवाही बरत रही है. उन्होंने कहा कि दैवीय आपदा के नाम पर तटबंधों के रख रखाव पर काफी धनराशि खर्च की जाती है, लेकिन यह रकम कहां बह जाती है? भाजपा को न तो प्रदेश के विकास की चिंता है और न हीं जनता की तकलीफों से उसका कोई वास्ता है.

ऐसी संवेदनशू्न्य सरकार लोगों ने कभी नहीं देखी

अखिलेश यादव ने कहा, लोग बाढ़ में फंसे हैं, लेकिन सरकार को उनको राहत पहुंचाने की फिक्र नहीं है. ऐसी संवेदनशून्य सरकार प्रदेश के लोगों ने कभी नहीं देखी है. उन्होंने कहा कि बलरामपुर में तराई क्षेत्र के पहाड़ी नालों में आई बाढ़ से भारी तबाही मची हुई है. दर्जनों गांवों में लोगों के घरों में पानी घुस गया है. सैकड़ों हेक्टेयर फसल नदी में समा चुकी है, अधिकतर गांवों में कोई राहत सामग्री नहीं पहुंची है. लोग बाढ़ के पानी के तेज बहाव को देखते हुए सुरक्षित स्थानों की ओर भाग रहे हैं.

नाव से लोग नदी को कर रहे पार

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि सरयू नदी की बाढ़ बाराबंकी जिले की रामनगर, सिरौली गौसपुर रामसनेही घाट तहसीलों के गांवों में फिर कहर बरपाने लगी है. दर्जनों गांवों का सम्पर्क रास्ता कटने से टूट गया है. अब नाव से ही लोग नदी के आर पार आते-जाते हैं. सरयू नदी के साथ कुआनों, मनवर, मनोरमा और कठिनइया नदियां भी उफान पर हैं.

कई गांवों में 10 फीट तक भरा पानी

उन्होंने कहा, महराजगंज तराई ललिया मार्ग स्थित खरझार नाला में उफान से कई गांवों में पानी घुसने से लोगों ने छतों पर भागकर शरण ली. घरों में रखा अनाज पानी में तैर रहा है. नारायणी नदी के बढ़े जलस्तर से महराजगंज के टापू कहे जाने वाले सोहगीबरवा भी पानी में घिर गया है. नारायणी, चंदन, रोहिन और व्यास नदियों में पानी खतरे के निशान से ऊपर बह रहा है. कई गांवों में पानी 10 फिट तक भर गया है.

दोबारा सत्ता में नहीं आएगी भाजपा

अखिलेश यादव ने कहा कि बाढ़ के संकट में फंसे ग्रामीणों की सुध लेने वाला कोई नहीं है. जिलों में अधिकारी अभी भी सोए हुए हैं. लोग अपनी सुरक्षा और खान-पान के लिए अपने साधनों पर ही निर्भर हैं. भाजपा सरकार को बाढ़ संकट के बजाय अपनी झूठी उपलब्धियां गिनाने के लिए विज्ञापन छपाने से ही फुर्सत नहीं मिल रही है. जनता इन्हीं वजहों से अब भाजपा को दोबारा सत्ता में नहीं आने देना चाहती है.

Posted by : Achyut Kumar

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें