1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. jitin prasada can be included in yogi cabinet to cultivate brahmins of up clear way through back door vwt

ब्राह्मणों को साधने के लिए यूपी कैबिनेट में शामिल किए जा सकते हैं जितिन, पिछले दरवाजे से एंट्री का रास्ता साफ

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
भाजपा के नेता जितिन प्रसाद.
भाजपा के नेता जितिन प्रसाद.
फोटो : ट्विटर.

लखनऊ : उत्तर प्रदेश में भाजपा से नाराज चल रहे ब्राह्मणों को साधने के लिए जितिन प्रसाद को योगी के नए कैबिनेट में शामिल किया जा सकता है. सूत्रों के हवाले से मीडिया की खबर के अनुसार, जितिन प्रसाद को विधान परिषद के जरिए योगी कैबिनेट में शामिल करने की तैयारी पूरी कर ली गई है.

मीडिया की खबर में इस बात की चर्चा की जा रही है कि यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जल्द ही अपने कैबिनेट का विस्तार कर सकते हैं. बताया यह जा रहा है कि इस कैबिनेट विस्तार में सूबे में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए सत्ताधारी भाजपा जातीय समीकरण को दुरुस्त करने पर ज्यादा जोर देगी.

इंडिया टीवी की एक खबर में इस बात का जिक्र किया गया है कि उत्तर प्रदेश के कैबिनेट में मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ समेत करीब 60 मंत्रियों को शामिल किया जा सकता है. इसलिए इसमें 54 मंत्री और 6 अन्य सरकार में शामिल किए जाएंगे. सूत्रों के हवाले से दी गई खबर में कहा गया है कि कैबिनेट का यह विस्तार विधान पार्षदों के चुनाव के बाद किया जाएगा.

सूत्रों ने बताया कि राज्य सरकार ने अभी हाल ही में केंद्र के पास पांच नाम भेजे हैं, लेकिन केंद्र ने इसमें और नामों को शामिल करने का निर्देश दिया है. इसके बाद, अब राज्य सरकार ने केंद्र के पास 10 नाम भेजे हैं, जिसमें कांग्रेस छोड़कर भाजपा का दामन थामने वाले जितिन प्रसाद का नाम भी शामिल है. बताया यह जा रहा है कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश के ब्राह्मणों में जितिन प्रसाद एक दमदार नेता माने जाते हैं. इसीलिए केंद्र उन्हें योगी कैबिनेट में शामिल करना चाहता है.

बताया यह भी जा रहा है कि पिछले महीने दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात के बाद योगी आदित्यनाथ कैबिनेट का विस्तार करने जा रहे हैं. अभी हाल ही में प्रधानमंत्री मोदी ने अपने मंत्रिमंडल में बड़ा विस्तार किया है, जिसमें उत्तर प्रदेश के सात सांसदों को इसमें शामिल किया गया है.

Posted by : Vishwat Sen

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें