1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. coaching operator navin kumar provocative post on twitter jailed aligarh police nrj

Aligarh Hate Speech: ट्वीटर पर भड़काऊ पोस्ट डालने वाला कोचिंग संचालक भेजा सलाखों के पीछे

एक निजी कोचिंग संचालक ने ट्विटर अकाउंट से पोस्ट ट्वीट किया था, उसके 4 दिन बाद अन्य लोगों ने उसे भी रिट्वीट करते हुए अलीगढ़ पुलिस को टैग किया, तो अलीगढ़ पुलिस में खलबली मच गई. पुलिस ने कोचिंग संचालक को गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे भेज दिया.

By Prabhat Khabar Digital Desk, Aligarh
Updated Date
निजी कोचिंग संचालक नवीन कुमार.
निजी कोचिंग संचालक नवीन कुमार.
Prabhat Khabar

Aligarh News: कोचिंग में बच्चों को फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी पढ़ाने वाला शिक्षक ट्विटर पर भड़काऊ पोस्ट डालने के मामले में गिरफ्तार कर लिया. एक निजी कोचिंग संचालक ने ट्विटर अकाउंट से पोस्ट ट्वीट किया था, उसके 4 दिन बाद अन्य लोगों ने उसे भी रिट्वीट करते हुए अलीगढ़ पुलिस को टैग किया, तो अलीगढ़ पुलिस में खलबली मच गई. पुलिस ने कोचिंग संचालक को गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे भेज दिया.

कोचिंग सेंटर संचालक ने किए भड़काऊ पोस्ट

अलीगढ़ के गांधीपार्क क्षेत्र के गांव गड़ियावली निवासी नवीन कुमार जादौन का धनीपुर मंडी के पास कोचिंग सेंटर है, वह वहां बच्चों को फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी पढ़ाता है. नवीन कुमार यादव ने 11 जून को अपने ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया, इसमें हथियार उठाने के साथ अन्य भड़काऊ बातें लिखी थीं. उस पोस्ट को 4 दिन बाद लोगों ने रिपीट करना शुरू किया. एक अन्य व्यक्ति ने अलीगढ़ पुलिस को टैग करते हुए कार्रवाई के बारे में पूछा. पुलिस ने गिरफ्तार अभियुक्त नवीन कुमार जादौन पर धारा 153ए, 505, 295ए, 336 में मुकदमा दर्ज कर आरोपित को जेल भेज दिया.

कोचिंग संचालक दबोचा

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म व्हाट्सएप, ट्विटर, फेसबुक, यू-ट्यूब, इंस्टाग्राम आदि पर भड़काऊ पोस्ट, वीडियो, गलत टिप्पणी व शेयर करने वालों के विरूद्ध कड़ी दण्डात्मक कार्यवाही करने हेतु आदेश दिए थे. थाना महुआखेड़ा पुलिस टीम ने ट्विटर के माध्यम से भड़काऊ पोस्ट डालकर विद्वेष फैलाने एवं शांति व्यवस्था प्रभावित करने वाले आरोपी नवीन कुमार जादौन पुत्र रमेश पाल सिंह को याकूतपुर बम्बा से गिरफ्तार किया.

लग सकता है एनएसए

अलीगढ़ एसएसपी ने निर्देश दिए हैं कि सोशल मीडिया का जनहित में संभल कर उपयोग करें, जिससे किसी की भावनाएं आहत न हों . अगर कोई भी व्यक्ति आपत्तिजनक सामग्री व्हाट्सप्प या फेसबुक आदि पर डालेगा या ग्रुप में अग्रसारित करेगा, तो उसके विरुद्ध आईपीसी के अन्तर्गत मुकदमा दर्ज किया जाएगा, उसके विरुद्ध एनएसए तक की कार्यवाही भी की जा सकती है.

रिपोर्ट : चमन शर्मा

Prabhat Khabar App :

देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, मोबाइल, गैजेट, क्रिकेट की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें