1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. agra news crime news 51 prisoners released on parole did not return to jail sht

Agra News: पैरोल पर रिहा 51 कैदियों की वापसी की आस में प्रशासन, जेल अधीक्षक ने SSP को लिखा पत्र

कोरोना संक्रमण के चलते 51 कैदियों को शासन के आदेश पर पैरोल पर रिहा किया गया था, लेकिन अब निर्धारित समय के बाद बंदियों की वापसी न होने पर जेल प्रशासन की मुश्किलें बढ़ गई हैं. इस सबंधं में जिला जेल अधीक्षक ने एसएसपी को पत्र लिखकर बंदियों को जल्द से जल्द दाखिल करने के लिए कहा है.

By Prabhat Khabar Digital Desk, Agra
Updated Date
Agra News
Agra News
File Photo

Agra News: कोरोना संक्रमण के चलते शासन के आदेश पर जिला जेल से बंदियों को पैरोल पर रिहा किया गया था, जिसके बाद बंदी जेल से रिहा होकर अपने घर चले गए. पैरोल वाले बंदियों में 7 साल से कम सजा और आजीवन कारावास वाले कैदी शामिल थे, लेकिन अब पैरोल अवधि समाप्त हो गई है. पैरोल पर छूटे 51 बंदी अभी तक जेल वापस नहीं आए हैं. जेल प्रशासन की मानें तो यह सभी लापता हो गए हैं. जिसके लिए जिला जेल अधीक्षक ने एसएसपी को पत्र लिखकर बंदियों को जल्द से जल्द दाखिल करने के लिए कहा है.

बढ़ते कोरोना के चलते दी गई थी पैरोल

दरअसल, मार्च 2020 में कोरोना संक्रमण के मामले अत्यधिक सामने आने के बाद शासन ने 7 साल और इससे कम सजा वाले कैदियों को पैरोल देने का फैसला लिया था, जिसके अनुसार अप्रैल 2020 में जिला जेल से 2 बार में 114 बंदियों को पैरोल दी गई थी. इनकी पैरोल अवधि 13 और 23 नवंबर 2020 को समाप्त हुई थी. इसके बाद फिर से 2021 में भी कुछ बंदियों को पैरोल पर रिहा किया गया था.

48 बंदी 7 साल से कम सजा वाले

जिला जेल अधीक्षक पीडी सलोनिया की माने तो 51 बंदी अपनी पैरोल अवधि समाप्त होने के बाद भी वापस नहीं आए हैं. इनमें से 48 बंदी 7 साल से कम सजा वाले हैं और 3 बंदी आजीवन कारावास की सजा काट रहे हैं. यह सभी बंदी वर्ष 2020 और 2021 में पैरोल पर गए थे. जेल अधीक्षक ने बंदियों के जेल में दाखिल नहीं होने पर एसएसपी सुधीर कुमार को पत्र लिखा है और बंदियों को जल्द से जल्द जेल में दाखिल कराने के लिए कहा है.

बंदियों के आचरण के आधार पर मिलती है पैरोल

जेल प्रशासन के अनुसार, पैरोल देने से पहले बंदियों का आचरण देखा जाता है. बाकायदा इसकी रिपोर्ट भी बनती है. इसी आधार पर उन्हें पैरोल मिलती है. अब बंदी लौट कर नहीं आ रहे हैं तो ऐसे में उनका आचरण खराब दर्ज किया जाएगा और बंदियों को पुलिस गिरफ्तार कर जेल में दाखिल करेगी, लेकिन उनके खराब आचरण के चलते उन्हें फिर से पैरोल मिलना मुश्किल हो जाएगा.

परिजनों ने कुछ भी कहने से किया इनकार

जेल प्रशासन ने पैरोल पर छूटे बंदियों के बारे में जब उनके घर पर पता किया तो जानकारी मिली के बंदी पैरोल अवधि समाप्त होने से कुछ दिन पहले ही घर छोड़कर कहीं चले गए हैं, और अभी तक लौटकर नहीं आए हैं. वहीं उनके परिजन उनके बारे में कुछ भी बता पाने में असमर्थ है.

कैदियों की गिरफ्तारी के लिए एसएसपी को लिखा पत्र

इस पूरे मामले में प्रभारी डीआईजी जेल वीके सिंह ने बताया कि, पैरोल अवधि समाप्त होने के बाद वापस नहीं आने वाले बंदियों को तलाशा जा रहा है. गिरफ्तारी को लेकर संबंधित जिले के एसएसपी को पत्र लिखा गया है. वहीं सेंट्रल जेल से 78 बंदियों को पैरोल दी गई थी. इनमें से 75 आ चुके हैं, जबकि 3 बंदी अभी भी वापस नहीं आए हैं. जेल प्रशासन को पता चला है कि वह तीनों बंदी बीमार हैं.

जल्द होगी कैदियों की गिरफ्तारी

आगरा के एसएसपी सुधीर कुमार सिंह का कहना है कि, कोर्ट के आदेश पर जेल बंदियों को पैरोल दी गई थी. उनके खिलाफ कोर्ट का आदेश मिलने पर फिर से कार्रवाई होगी. साथ ही फरार बंदियों को जल्द गिरफ्तार कर जेल में दाखिल कराया जाएगा.

रिपोर्ट- राघवेंद्र गहलोत

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें