1. home Hindi News
  2. state
  3. rajasthan
  4. locust ttack in border areas of rajasthan amid coronavirus crisis

VIDEO : कोरोना संकट के बीच राजस्थान के सीमावर्ती जिलों में लगातार जारी है टिड्डियों का आक्रमण

By Agency
Updated Date
राजस्थान समेत कई राज्यों में टिड्डियों ने आतंक मचाया. फसलों को नुकसान पहुंचाया.
राजस्थान समेत कई राज्यों में टिड्डियों ने आतंक मचाया. फसलों को नुकसान पहुंचाया.
Twitter

जयपुर : राजस्थान के सीमावर्ती जिलों में टिड्डियों का आक्रमण लगातार जारी है. टिड्डयों का लगातार आक्रमण अधिकारियों के लिए चुनौती बन गया है. अधिकारी व उनका अमला इन पर नियंत्रण के लिए जुटा हुआ है.

कृषि विभाग में उपनिदेशक बी आर कडवा ने कहा कि पिछले लगभग डेढ़ महीने से पाकिस्तान से लगते हमारे सीमावर्ती जिलों में टिड्डियों का लगातार हमला हो रहा है. उन पर काबू पाने के लिए लगातार अभियान चलाया जा रहा है.

उन्होंने कहा कि टिड्डियों के पुराने दल तो खत्म हो गये, लेकिन अब नये दल आ रहे हैं. अधिकारी ने कहा कि राज्य सरकार ने इस समस्या पर काबू पाने व दवा छिड़कने के लिए हेलीकॉप्टर के इस्तेमाल की अनुमति केंद्र सरकार से मांगी है.

उन्होंने बताया कि फिलहाल टिड्डियों की समस्या से सबसे अधिक प्रभावित जिले जोधपुर, जैसलमेर, बाड़मेर, श्रीगंगानगर हैं, जिनकी सीमा पाकिस्तान से लगती है. मानूसन की बारिश और रबी की फसलों की बुवाई को ध्यान में रखते हुए अधिकारी टिड्डियों पर जल्द से जल्द काबू पाने की कोशिश कर रहे हैं, जो भारत व पाकिस्तान के बीच फैले रेगिस्तान में प्रजनन कर सकती हैं.

ज्ञात हो कि टिड्डी दल शनिवार को हरियाणा के गुड़गांव, राष्ट्रीय राजधानी के सीमावर्ती क्षेत्रों और उत्तर प्रदेश के आधा दर्जन जिलों में पहुंच गया. टिड्डियों के आतंक को देखते हुए प्रशासन को चेतावनी जारी करनी पड़ी, वहीं केंद्र सरकार ने कहा कि उसने स्थिति नियंत्रण के लिए और टीमें तैनात की हैं.

अधिकारियों ने बताया कि दिल्ली में एयर ट्रैफिक कंट्रोल (एटीसी) ने पायलटों को एयरपोर्ट के आसपास टिड्डी दल को लेकर सतर्क रहने को कहा है. पिछले करीब डेढ़ महीने से टिड्डियों का दल पाकिस्तान से झुंड में राजस्थान आ रहा है और अपने रास्ते में आने वाले राज्यों की फसलें बर्बाद कर रहा है.

पेड़ों, छतों और पौधों पर बैठे टिड्डी दल से लोग चिंतित हैं और कई लोगों ने अपने घरों की बालकनी से बनाये गये वीडियो भी साझा किये हैं. टिड्डी दल दक्षिणी दिल्ली के द्वारका और असोला भाटी में भी दिखा. टिड्डियों के गुड़गांव पहुंचने के बाद दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने उनके संभावित हमले से निबटने की रणनीति बनाने के लिए आपात बैठक बुलायी थी.

Posted By : Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें