25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

आरएसपी के ओडिशा खान समूह ने लौह अयस्क उत्पादन और प्रेषण में नये मानक स्थापित किये

राउरकेला इस्पात संयंत्र के अंतर्गत संचालित ओडिशा खान समूह ने वित्तीय वर्ष 2023-24 के लिए लौह अयस्क उत्पादन और प्रेषण में अभूतपूर्व उपलब्धियां हासिल की हैं.

राउरकेला. राउरकेला इस्पात संयंत्र (आरएसपी) के अंतर्गत संचालित ओडिशा खान समूह (ओजीओएम) ने वित्तीय वर्ष 2023-24 के लिए लौह अयस्क उत्पादन और प्रेषण में अभूतपूर्व उपलब्धियां हासिल की हैं. समूह ने अपना अब तक का सबसे अधिक वार्षिक लौह अयस्क उत्पादन दर्ज किया, जो 14.304 मिलियन टन (एम.टी.) तक पहुंच गया, जो पिछले वर्ष के 13.92 एमटी से 2.76 प्रतिशत अधिक है. साथ ही, समूह ने 14.154 एमटी का रिकॉर्ड वार्षिक लौह अयस्क प्रेषण हासिल किया, जो 2021-22 में 13.810 एम.टी. के पिछले सर्वश्रेष्ठ से 3.84 प्रतिशत अधिक है. समूह के भीतर कई अलग-अलग खदानों ने भी नये रिकॉर्ड स्थापित किए हैं. बोलानी अयस्क खदानों ने 2022-23 में 7.1 मिलियन टन के पिछले रिकॉर्ड को पार करते हुए 7.20 मिलियन टन का अपना सर्वश्रेष्ठ वार्षिक लौह अयस्क उत्पादन दर्ज किया.

तालडीह लौह खदान ने उच्चतम वार्षिक उत्पादन लक्ष्य हासिल किया

इसी तरह, तालडीह लौह खदान ने स्थापना के बाद से अपना उच्चतम वार्षिक उत्पादन हासिल किया, जिसमें कुल 1.489 मिलियन टन लौह अयस्क का उत्पादन हुआ, जो पिछले वर्ष के 1.34 मिलियन टन से अधिक था. इसमें 0.559 मिलियन टन आयरन और लम्पस और 0.930 मिलियन टन आयरन और फाईंस का रिकॉर्ड उत्पादन शामिल था, जो दोनों ही अपने-अपने पिछले सर्वश्रेष्ठ उत्पादन से अधिक थे. काल्टा लौह खदान ने भी 1.964 मिलियन टन आयरन ओर फाइंस के रिकॉर्ड उत्पादन के साथ सफलता में योगदान दिया, जो पिछले वर्ष के 1.959 मिलियन टन से थोड़ा अधिक था. इसके अतिरिक्त, दिसंबर 2023 में खदानों में अब तक के सर्वश्रेष्ठ मासिक उत्पादन आंकड़े दर्ज किये गये. बोलानी ने 4,76,875 टन फाइंस और कुल 7,45,955 टन उत्पादन हासिल किया, जबकि तालडीह ने 1,77,641 टन उत्पादन किया. ओडिशा खान समूह ने सामूहिक रूप से 5,26,857 टन लम्पस और 9,83,331 टन फाइंस का उत्पादन किया, जिससे नए मासिक मानक स्थापित हुए.

बोलानी अयस्क खदान ने 7.39 मिलियन टन का सर्वश्रेष्ठ वार्षिक प्रेषण हासिल किया

बोलानी अयस्क खदान ने 7.39 मिलियन टन का अपना सर्वश्रेष्ठ वार्षिक लौह अयस्क प्रेषण हासिल किया, जिसमें आयरन ओर फाइंस और लम्पस का क्रमश: 4.71 मिलियन टन और 2.68 मिलियन टन का प्रेषण हुआ. तालडीह लौह खदान ने 1.448 मिलियन टन का रिकॉर्ड प्रेषण दर्ज किया, जिसमें 0.549 मिलियन टन लंपस और 0.903 मिलियन टन फाइंस शामिल है. कल्टा लौह खदान ने भी 1.927 मिलियन टन आयरन ओर फाइंस का अपना उच्चतम प्रेषण दर्ज किया. इन उपलब्धियों के अलावा, समूह ने बोलानी अयस्क खदानों के 6.9 वर्ग मील के पट्टे से मैंगनीज अयस्क का प्रेषण शुरू किया. 1136 टन की पहली खेप 30 अगस्त, 2023 को राउरकेला इस्पात संयंत्र को भेजी गयी, जो खदान के परिचालन पेटिका के विस्तार में एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर साबित हुई. ये उपलब्धियां परिचालन उत्कृष्टता के लिए ओडिशा ग्रुप ऑफ माइंस की प्रतिबद्धता और आरएसपी को समर्थन देने में इसकी महत्वपूर्ण भूमिका को रेखांकित करती हैं. समूह उच्च मानकों के लिए प्रयास करना जारी रखा है, जो इस्पात उद्योग की आपूर्ति शृंखला में महत्वपूर्ण योगदान दे रहा है.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें