1. home Hindi News
  2. state
  3. maharashtra
  4. now ncp leader writes to amit shah seeking permission to read hanuman chalisa on pm residence vwt

एनसीपी की नेता ने अमित शाह को लिखी चिट्ठी, पीएम हाउस के सामने हनुमान चालीसा और नमाज पढ़ने की मांगी इजाजत

एनसीपी की महिला नेता फहमीदा हसन खान का दावा है कि वे अपने घर में हमेशा हनुमान चालीसा का पाठ का दुर्गा की पूजा करती हैं, लेकिन देश में बढ़ती महंगाई और बेरोजगारी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जगाना जरूरी हो गया है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
एनसीपी की नेता फहमीदा हसन खान
एनसीपी की नेता फहमीदा हसन खान
फोटो : ट्विटर

मुंबई/नई दिल्ली : महाराष्ट्र में हनुमान चालीसा विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. नवनीत राणा दंपति की ओर से महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के घर के बाहर हनुमान चालीसा का पाठ करने की नाकाम कोशिश के बाद अब राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) की महिला नेता ने गृहमंत्री अमित शाह को चिट्ठी लिखी है. उन्होंने अपनी चिट्ठी में प्रधानमंत्री आवास के बाहर हनुमान चालीसा, दुर्गा चालीसा, नवकार जैसे मंत्र और नमाज पढ़ने की इजाजत मांगी है.

हमेशा हनुमान चालीसा का करती हैं पाठ

हिंदी की वेबसाइट एनडीटीवी की एक रिपोर्ट के अनुसार, उत्तर मुंबई क्षेत्र की एनसीपी कार्याध्यक्ष फहमीदा हसन खान ने गृहमंत्री अमित शाह को एक चिट्ठी लिखी है. इस चिट्ठी में उन्होंने गृहमंत्री से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आवास के सामने नई दिल्ली में हनुमान चालीसा, दुर्गा चालीसा, नवकार जैसे मंत्र और नमाज पढ़ने का समय मांगा है. एनसीपी की महिला नेता फहमीदा हसन खान का दावा है कि वे अपने घर में हमेशा हनुमान चालीसा का पाठ का दुर्गा की पूजा करती हैं, लेकिन देश में बढ़ती महंगाई और बेरोजगारी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जगाना जरूरी हो गया है.

देश के फायदे के लिए करना चाहती हैं हनुमान चालीसा पाठ

मीडिया से बातचीत करते हुए फहमीदा ने बताया कि अगर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के निवास मातोश्री के बाहर हनुमान चालीसा पढ़ने से रवि राणा और नवनीत राणा को फायदा दिखाई दे रहा है, तो वह देश के फायदे के लिए दिल्ली में जाकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आवास के बाहर नमाज, हनुमान चालीसा और दुर्गा पाठ करना चाहती हैं.

अमित शाह से मांगा समय

एनसीपी की नेता फहमीदा हसन खान ने गृहमंत्री अमित शाह को लिखी चिट्ठी में कहा है, 'मैं आपसे निवेदन करती हूं कि मुझे भारत के प्रिय प्रधानमंत्री के निवास के बाहर नमाज, हनुमान चालीसा, नवकार मंत्र गुरू ग्रंथ और नोविनो पढ़ने की इजाजत दी जाए.' इसके साथ ही उन्होंने अपनी चिट्ठी में यह भी लिखा है कि कृपया करके मुझे समय और दिन के बारे में भी सूचित किया जाए.'

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें