1. home Hindi News
  2. state
  3. maharashtra
  4. maharashtra political crisis latest updates bjp meet eknath shinde faction prt

महाराष्ट्र में बीजेपी बनाएगी सरकार! एकनाथ शिंदे गुट से जारी है बीजेपी नेताओं के मुलाकात का दौर

महाराष्ट्र में जारी सियासी संग्राम और गहरा गया है. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे महाविकास आघाड़ी सरकार और शिवसेना को बचाने की कोशिशों में जुटे हैं. तो इधर बीजेपी के नेता महाराष्ट्र के बागी विधायकों और एकनाथ शिंदे से लगातार मुलाकात कर रहे हैं. इस मुलाकात के कई सियासी मायने निकाले जा रहे हैं.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
एकनाथ शिंदे
एकनाथ शिंदे
twitter

महाराष्ट्र में छिड़ा सियासी संग्राम अब गहराता जा रहा है. एक तरफ शिवसेना अपनी महाविकास आघाड़ी सरकार की सरकार बचाने के लिए एड़ी-चोटी का जोर लगा रही है तो वहीं, बीजेपी भी सरकार बनाने की कवायद में जुटी है. दरअसल, कल यानी शनिवार देर रात असम के एक मंत्री ने महाराष्ट्र के बागी विधायकों से मुलाकात की. इस मुलाकात को प्रदेश में भाजपा के सरकार गठन के रूप में देखा जा रहा है. असम के मंत्री अशोक सिंघल ने गुवाहाटी स्थित होटल रैडिसन ब्लू में एकनाथ शिंदे सहित महाराष्ट्र के बागी विधायकों से मिले.

चर्चा में देवेंद्र फडणवीस और एकनाथ शिंदे की गुजरात में हुई मुलाकात

तेजी से बदलते सियासी घटनाक्रम के बीच 24-25 जून की मध्यरात्रि भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस और शिवसेना के बागी नेता एकनाथ शिंदे की गुजरात में हुई मुलाकात की चर्चा जोरों पर है. सूत्रों के मुताबिक, दोनों नेताओं की यह मुलाकात वडोदरा में हुई है. दावा किया जा रहा है कि दोनों के बीच सरकार गठन पर चर्चा हुई. शिंदे इस मुलाकात के बाद गुवाहाटी के उस पांच सितारा होटल लौट गये, जहां 40 से अधिक बागी विधायक डेरा डाले हुए हैं.

शिंदे की गुपचुप गुजरात यात्रा को लेकर यह भी कहा जा रहा है कि विधायकों के नये गुट की विधानसभा में मान्यता को लेकर शिवसेना एवं विधानसभा उपाध्यक्ष नरहरि जिरवाल द्वारा पैदा की जा रही अड़चनों को लेकर आगे की रणनीति पर फडणवीस से चर्चा करने के लिए ही शिंदे गुजरात गये थे.

बता दें, यह भेंट ऐसे वक्त हुई है, जब शिवसेना के भीतर असली शिवसेना को लेकर जंग तेज हो गयी है. उद्धव ठाकरे के पास विधायकों की संख्या भले ही कम हो, लेकिन पार्टी पर नियंत्रण स्थापित करने के लिए उनकी कवायद तेज हो गयी है. शिवसेना की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की शनिवार को हुई बैठक में उद्धव ठाकरे को बागियों पर कार्रवाई का अधिकार दिया गया है. इधर, शिवसेना के ठाकरे गुट ने विधानसभा के डिप्टी स्पीकर को आवेदन दिया है और 16 विधायकों को अयोग्य ठहराने की बात कही है. इसको लेकर डिप्टी स्पीकर ने इन विधायकों को दो दिन का समय दिया है और सोमवार शाम 5.30 बजे तक लिखित जवाब देने को कहा है.

शिंदे कैंप ने बनाया नया गुट- ‘शिवसेना बालासाहेब’

इधर, महाराष्ट्र में जारी लड़ाई अब कानूनी पेच में उलझ गयी है. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे महाविकास आघाड़ी सरकार और पार्टी (शिवसेना) को बचाने की कोशिशों में जुटे हैं. इस बीच डिप्टी स्पीकर नरहरि जिरवाल ने अविश्वास प्रस्ताव खारिज कर दिया है. इससे बागी गुट को झटका लगा है. एकनाथ शिंदे गुट अब इसके खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का रुख करेंगे. इस बीच, महाराष्ट्र की सियासी लड़ाई अब चुनाव आयोग पहुंच गयी है. बता दें कि शिंदे कैंप ने बागी विधायकों का एक नया गुट बनाया है, जिसका नाम ‘शिवसेना बालासाहेब’ रखा गया है. टीम ठाकरे ने आयोग में आपत्ति दर्ज कराते हुए कहा है कि शिंदे गुट ‘बालासाहेब’ और ‘शिवसेना’ का नाम इस्तेमाल नहीं कर सकता है.

Prabhat Khabar App :

देश, दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, टेक & ऑटो, क्रिकेट और राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें