1. home Home
  2. state
  3. maharashtra
  4. maharashtra minister nawab malik has filed an additional affidavit before bombay hc in the defamation suit filed by ncb zonal director sameer wankhede father dnyaneshwar wankhede smb

महाराष्ट्र: नवाब मलिक ने समीर वानखेड़े के पिता की ओर से दायर मानहानि के केस में HC में दायर किया हलफनामा

Maharashtra News महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक ने एनसीबी के क्षेत्रीय निदेशक समीर वानखेड़े के पिता ज्ञानेश्वर वानखेड़े द्वारा दायर मानहानि के मुकदमे में बॉम्बे हाईकोर्ट के समक्ष एक अतिरिक्त हलफनामा दायर किया है. न्यूज एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक, इस मामले की सुनवाई कल होने की संभावना है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Maharashtra Minister Nawab Malik
Maharashtra Minister Nawab Malik
File

Maharashtra News महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक ने एनसीबी के क्षेत्रीय निदेशक समीर वानखेड़े के पिता ज्ञानेश्वर वानखेड़े द्वारा दायर मानहानि के मुकदमे में बॉम्बे हाईकोर्ट के समक्ष एक अतिरिक्त हलफनामा दायर किया है. न्यूज एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक, इस मामले की सुनवाई कल यानि गुरुवार को जज के चैंबर में होने की संभावना है.

बता दे कि ड्रग्स केस को लेकर चल रहे विवाद के बीच एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े के पिता ध्यानदेव काचरूजी वानखेड़े ने बॉम्बे हाईकोर्ट में महाराष्ट्र के कैबिनेट मंत्री नवाब मलिक के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर किया है. दायर केस में समीर वानखेड़े के पिता ने नवाब मलिक पर चरित्र और प्रतिष्ठा को क्षति पहुंचाने का आरोप लगाया है. वानखेड़े के वकील ने कहा कि मलिक ने वानखेड़े के परिवार के सदस्यों के नाम, चरित्र, प्रतिष्ठा और सामाजिक छवि को धूमिल करने की कोशिश में लगे हैं.

समीर वानखेड़े के पिता ध्यानदेव की मांग है कि मलिक, उनकी पार्टी के नेताओं और अन्य सभी को उनके और उनके परिवार के खिलाफ मीडिया में कुछ भी आपत्तिजनक, मानहानिकारक सामग्री लिखने, बोलने या प्रकाशित करने पर रोक लगाई जाए. ध्यानदेव ने हाईकोर्ट से अपील करते हुए कहा है कि मलिक के बयान और आरोप चाहे लिखित हो या मौखिक दोनों ने उनकी और उनके परिवार की छवि को नुकसान पहुंचाया है. इस तरह से लगाए गए आरोप प्रकृति में अत्याचारी और मानहानिकारक हैं. इसके अलावा ध्यानदेव ने हाईकोर्ट से अपील करते हुए कहा कि नवाब मलिक के इलेक्ट्रॉनिक और सोशल मीडिया में दिए गए सभी बयान जल्द से जल्द हटाए जाएं.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें