जिले से मानव तस्करी को जड़ से खत्म करना है : उपायुक्त

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

रविकांत साहू, सिमडेगा

समाहरणालय सभाकक्ष में उपायुक्त जटाशंकर चौधरी व एसपी संजीव कुमार की संयुक्त अध्यक्षता में आकांक्षी जिला रूपांतरण कोषांग एवं जिला बाल संरक्षण इकाई की संयुक्त पहल पर बाल संरक्षण हमारा अभियान के दूसरे चरण में चौकीदारों के साथ कार्यशाला का आयोजन किया गया. अभियान बचपन बचाओ अभियान के सहायता से जिले के कोषांगो द्वारा अभियान मुख्य तौर पर चलाया जा रहा है.

इसका मुख्य उद्देश्य जिले से मानव तस्करी को खत्म करने का है. उपायुक्त जटाशंकर चौधरी ने आकांक्षी जिला रूपांतरण कोषांग के सात्वीक मिश्र तथा बल संरक्षण के तेजबल को इस पहल के प्रति समर्पित भाव से कार्य करने के प्रति सराहना की. उन्होंने कहा कि मानव तस्करी जिले के लिए श्राप है.

कार्यशाला के द्वारा चौकीदारों को मानव तस्करी को रोकने के उपाय बताये गये. विद्यालयों में मानव तस्करी हेतु बच्चों को प्रशिक्षित किया जा रहा है. बच्चों को अपने भविष्य के विषय में जागरूक करने की आवश्कता है. चौकीदार कार्यशाला का मुख्य उद्देश्य उनके द्वारा अपने-अपने क्षेत्रों की विशेष जानकारी प्राप्त करने से हैं. उपायुक्त ने सभी चौकीदारों को अपनी भूमिका समझकर कार्य करने को कहा.

चौकीदारों को साप्ताहिक सूची अपने थाना में उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया. एसपी संजीव कुमार ने इस संवेदनशील विषय को समझाते हुए उपस्थित चौकीदारों से कहा कि आप सभी इसी जिले से जुड़े हैं. आप लोग इस क्षेत्र को बेहतर समझते हैं. यहां के निवासियों से भी मुख्य रूप से परिचित हैं. कोई मानव तस्करी का शिकार हो रहा है तो इसकी जानकारी प्राप्त होने की संभावना है.

मौके पर डीडीसी अनन्य मित्तल, डीएसपी आशीष कुजूर, भीभी के अजरुन, आकांक्षी जिला फैलो, जिला बाल संरक्षण पदाधिकारी, थानेदार, 50 से ज्यादा चौकीदार व अन्य उपस्थित थे.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें