1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. vaccination in jharkhand less than 50 in all districts except east singhbhum srn

झारखंड में टीकाकरण की गति धीमी, पूर्वी सिंहभूम को छोड़ सभी जिलों में 50 फीसदी से कम वैक्सीनेशन

झारखंड में कोरोना टीकाकरण की स्थिति बदतर है, झारखंड सरकार ने पूर्वी सिंहभूम को छोड़ सभी जिलों में लाल घेरे में रखा है. केवल वही एकमात्र जिला है जहां 56 फीसदी टीकाकरण हुआ है. जबकि राज्य में दूसरे डोज का टीकाकरण 40.54% ही हुआ है.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
झारखंड में टीकाकरण की गति धीमी
झारखंड में टीकाकरण की गति धीमी
file

रांची : झारखंड में टीकाकरण की स्थिति ठीक नहीं है. सरकार ने 50 फीसदी से कम टीकाकरण वाले जिलों को लाल घेरे में रखा है. आंकड़े बताते हैं कि पूर्वी सिंहभूम को छोड़ राज्य के 23 जिले लाल घेरे में हैं. सिर्फ पूर्वी सिंहभूम में 56 फीसदी टीकाकरण हुआ है यानी 9,46,589 लोगों का पूर्ण टीकाकरण हो चुका है. यहां बता दें कि 50 से 60 फीसदीवाले को पिंक, 60 से 70 फीसदीवाले को ऑरेंज, 70 से 80 फीसदी वाले को येलो, 80 से 90 फीसदीवाले को लाइट ग्रीन और 90 फीसदी से ऊपरवाले जिला को डार्क ग्रीन में रखा गया है.

राज्य में दूसरे डोज का टीकाकरण 40.54% ही :

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, 2,41,21,312 को पहला और दूसरा डोज का टीका लगाना है, लेकिन वर्तमान समय में दूसरे डोज का टीका सिर्फ 97,79,821 को ही लगा है. यानी कुल लक्ष्य का 40.54 फीसदी ही टीकाकरण हुआ है.

राज्य में कोरोना टीकाकरण की वर्तमान स्थिति के हिसाब से दूसरे डोज का टीका मुश्किल से 80 से 85 हजार के बीच लग रहा है, जो लक्ष्य के हिसाब से बहुत कम है. दूसरे डोज में सबसे कम टीकाकरण 35.42 फीसदी 18 से 44 साल की आयु में हुआ है, वहीं 45 से 59 साल के आयु वर्ग में 44.31 फीसदी और 60 साल से अधिक उम्रवाले 43.78 फीसदी को दूसरा डोज का टीका लगा है.

जिला दूसरा डोज

बोकारो 40

चतरा 32

देवघर 41

धनबाद 36

दुमका 46

पू सिंहभूम 56

जिला दूसरा डोज

गढ़वा 33

गिरिडीह 34

गोड्डा 41

गुमला 39

हजारीबाग 43

जामताड़ा 38

जिला दूसरा डोज

खूंटी 46

कोडरमा 43

लातेहार 34

लोहरदगा 41

पाकुड़ 35

पलामू 42

जिला दूसरा डोज

रामगढ़ 44

रांची 44

साहिबगंज 34

सरायकेला 37

सिमडेगा 48

प सिंहभूम 37

कोरोना टीका की गति को बढ़ाने के लिए महाअभियान चलाया जा रहा है. गांव-गांव और खलिहान तक स्वास्थ्यकर्मियों को पहुंचने का निर्देश दिया गया है. अधिकारियों की जिम्मेदारी तय कर दी गयी है. उम्मीद है कि शीघ्र ही वर्तमान स्थिति में सुधार दिखेगा.

अरुण कुमार सिंह, स्वास्थ्य सचिव

Posted By : Sameer Oraon

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें