1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. tribal organisations honored jharkhand chief minister hemant soren for passing sarna adivasi dharma code in vidhan sabha mtj

आदिवासी संगठनों ने सरना आदिवासी धर्म कोड पारित कराने के लिए हेमंत सोरेन को किया सम्मानित

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
Adivasi Dharm Code 2020: आदिवासी संगठनों ने सरना आदिवासी धर्म कोड पारित कराने के लिए हेमंत सोरेन को किया सम्मानित.
Adivasi Dharm Code 2020: आदिवासी संगठनों ने सरना आदिवासी धर्म कोड पारित कराने के लिए हेमंत सोरेन को किया सम्मानित.
Prabhat Khabar

रांची : झारखंड विधानसभा से सरना आदिवासी धर्म कोड का प्रस्ताव पारित कराने के लिए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को झारखंड के आदिवासी संगठनों की ओर से सम्मानित किया गया. धनतेरस के दिन गुरुवार (12 नवंबर, 2020) को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से राष्ट्रीय आदिवासी सरना धर्म रक्षा अभियान का प्रतिनिधिमंडल मिला और उन्हें धन्यवाद एवं बधाई दी. प्रतिनिधिमंडल ने आदिवासी सरना धर्म के प्रतीक के रूप में मुख्यमंत्री को शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया.

मुख्यमंत्री ने कहा कि कल का दिन हम सभी के लिए ऐतिहासिक था. झारखंड विधानसभा से सरना आदिवासी धर्मकोड का जो प्रस्ताव पारित हुआ है, उससे न सिर्फ झारखंड, बल्कि पश्चिम बंगाल और ओड़िशा समेत कई राज्यों में आदिवासी समाज के लोग काफी उत्साहित हैं. उनमें खुशी का माहौल है. श्री सोरेन ने कहा कि इस दिशा में यह पहला कदम है. हमें कई और सीढ़ियां चढ़नी है. हमें उम्मीद ही नहीं, पूरा विश्वास है कि हमने जो कदम बढ़ाये हैं, उसकी गूंज पूरे देश में सुनाई देगी.

मुख्यमंत्री ने कहा कि आदिवासी सरना धर्मकोड को लेकर वे 15 दिनों से लगातार प्रयासरत थे. बार-बार चिंता हो रही थी. लगातार विचार-विमर्श करते रहे. अब जबकि विधानसभा से आदिवासी सरना धर्म कोड का प्रस्ताव पारित हो गया है, मन को शांति मिली है. सुखद अनुभूति हो रही है. उन्होंने कहा कि अभी आगे लंबी लड़ाई है. केंद्र सरकार से इसे हर हाल में इसे लागू कराना है, ताकि जनगणना में इसे शामिल कराया जा सके. इसकी विस्तृत कार्य योजना तैयार कर ली गयी है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि आदिवासी सरना समाज को उसका हक और अधिकार मिले, इसके लिए हमारे कदम कभी नहीं रुके हैं. हम आगे बढ़ते ही रहेंगे. मुख्यमंत्री ने कहा कि आदिवासी समाज को राष्ट्रीय स्तर पर एकजुट होने की जरूरत है. कहा कि आदिवासी समाज ने बहुत संघर्ष किये हैं. संघर्षों की बदौलत बहुत कुछ प्राप्त भी किया है, लेकिन अभी और बहुत कुछ करना है. इसके लिए समाज को जागरूक करना होगा.

मुख्यमंत्री को बधाई देने वालों में सरना धर्म गुरु बंधन तिग्गा, डॉ करमा उरांव, सुशील उरांव, सोमा मुंडा, नरेश मुर्मू, शिवा कच्छप, जयपाल मुर्मू, रवि तिग्गा, निर्मल पाहन, संजय तिर्की, चंपा कुजूर, रेणु उरांव, बलकु उरांव, प्रदीप तिर्की, कमल उरांव, दुर्गावती और नारायण उरांव समेत राष्ट्रीय आदिवासी सरना धर्म रक्षा अभियान और अंतरराष्ट्रीय संथाल परिषद के कई और प्रतिनिधि मौजूद थे.

Posted By : Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें