1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. son left handicapped mother on the road to beg cm hemant took cognizance provided shelter in the old age home and also provided a wheel chair smj

बेटे ने दिव्यांग मां को भीख मांगने के लिए सड़क पर छोड़ा तो सीएम हेमंत ने लिया संज्ञान, वृद्धा आश्रम में पनाह के साथ व्हील चेयर भी कराया उपलब्ध

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand news : मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के निर्देश पर रांची डीसी दिव्यांग वृद्ध महिला को वृद्धा आश्रम पहुंचाये. व्हील चेयर भी कराये उपलब्ध.
Jharkhand news : मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के निर्देश पर रांची डीसी दिव्यांग वृद्ध महिला को वृद्धा आश्रम पहुंचाये. व्हील चेयर भी कराये उपलब्ध.
ट्विटर.

Jharkhand news, Ranchi news : रांची : शरीर से लाचार एक बुजुर्ग मां बिलास देवी को उसके बेटे ने भीख मांगने को छोड़ दिया. वृद्धा इतनी भी सक्षम नहीं थी कि चल-फिर सके. घसीटकर किसी तरह से चल पाती थी. इस वृद्धा पर उसके बेटे को तो रहम नहीं आया, लेकिन झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत साेरेन के संज्ञान में आते ही सीएम ने वृद्ध माता को आश्रय गृह में तत्काल पहुंचाने एवं उनकी देखभाल की उचित व्यवस्था करने का निर्देश रांची डीसी छवि रंजन को दिया.

राजधानी रांची के हरमू रोड स्थित सहजानंद चौक के पास शरीर से लाचार दिव्यांग वृद्ध माता बिलास देवी दो जून की रोटी के लिए खुद को घसीट कर भीख मांग रही थी. इसकी जानकारी सीएम श्री सोरेन को मिली. सीएम ने तत्काल रांची डीसी को वृद्ध माता को उचित सम्मान देने का निर्देश दिया. सीएम के आदेश के बाद भीख मांग कर जीवन-यापन कर रही दिव्यांग वृद्ध माता को वृद्धा आश्रम में पनाह मिल गयी. साथ ही उसे व्हील चेयर भी उपलब्ध करा दिया गया है.

इस दौरान डीसी छवि रंजन ने मुख्यमंत्री को बताया कि वृद्ध माता को व्हील चेयर उपलब्ध करवा कर हेसाग स्थित वृद्धा आश्रम में शिफ्ट कर दिया गया है. यहां उनके रहने और खाने की व्यवस्था की गयी है. साथ ही, सर्दियों के लिए गर्म कपड़ा और कंबल भी उपलब्ध करवा गया है.

सीएम को कैसे मिली जानकारी

सोशल मीडिया के माध्यम से सीएम श्री सोरेन को जानकारी मिली की हरमू रोड स्थित सहजानंद चौक के पास एक वृद्ध दिव्यांग माता घिसटकर भीख मांगने को मजबूर है. लेकिन, कोई मदद के लिए आगे नहीं आ रहा है. इस दिव्यांग वृद्ध माता की यह स्थित उसके बेटे ने किया है. उसी ने उसे भीख मांगने के लिए सहजानंद चौक पर छोड़ दिया है. इस जानकारी के बाद ही सीएम श्री सोरेन ने इसे गंभीरता से लेते हुए रांची डीसी को वृद्ध माता की हरसंभव सहायता करने का निर्देश दिये.

बता दें कि दिव्यांग होने के कारण बिलास देवी चल-फिर भी नहीं सकती थी. सहजानंद चौक के पास ही एक झुग्गी में रहती थी. यहीं बिलास देवी आने-जाने वाले लोगों से भीख मांग कर अपना जीवन गुजार रही थी. दिव्यांग होने के कारण वृद्ध बिलास देवी ने एक अदद व्हील चेयर की मांग कर रही थी, ताकि उसके सहारे आना-जाना कर सके, लेकिन इसकी इस फरियाद को किसी ने नहीं सुनी. सभी सरकारी प्रक्रिया से गुजरने की बातें कहते रहे, लेकिन किसी ने वृद्ध बिलास की मदद नहीं की. इसके बाद सोशल मीडिया पर खबरें आने और सीएम श्री सोरेन के संज्ञान में आने के बाद वृद्ध बिलास की दिन बदल गये हैं. अब वृद्ध बिलास को वृद्धा आश्रम में जगह मिली, वहीं एक व्हील चेयर भी मिला, जिसकी चाहत उसे काफी समय से थी.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें