1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. scuffle between nia inspector doctor and nurse over treatment of naxalites in prisoner ward of rims smj

रिम्स के कैदी वार्ड में नक्सली के इलाज को लेकर NIA के दारोगा और डॉक्टर एवं नर्स के बीच हाथापाई

रिम्स के कैदी वार्ड में भर्ती नक्सली राधेश्याम यादव के इलाज को लेकर NIA के दारोग और रिम्स के डॉक्टर और नर्स के बीच हाथापाई हो गयी. महिला चिकित्सक और नर्स का आरोप है दारोगा ने मोबाइल से वीडियो बनाने लगा, जिसका विरोध करने पर दारोगा उनलोगों से उलझ गया.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand news: रिम्स के कैदी वार्ड में NIA और डॉक्टर के बीच हाथापाई के बाद पहुंचे सुपरिटेंडेंट.
Jharkhand news: रिम्स के कैदी वार्ड में NIA और डॉक्टर के बीच हाथापाई के बाद पहुंचे सुपरिटेंडेंट.
प्रभात खबर.

Jharkhand News: रांची के रिम्स में इनामी नक्सली राधेश्याम यादव उर्फ विमल यादव के इलाज को लेकर NIA के दारोगा और रिम्स के डॉक्टर एवं नर्सों के बीच रविवार को कैदी वार्ड में पहले नोक-झोंक हुई. फिर बात हाथापाई तक पहुंच गयी. जानकारी मिलते ही रिम्स के चिकित्सा अधीक्षक डॉ हिरेंद्र बिरुआ ने इस घटना की जानकारी रिम्स निदेशक डॉ कामेश्वर प्रसाद, रांची एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा और बरियातू थाना को देने की बात कही है.

क्या है मामला

बताया गया कि शनिवार को NIA की पूछताछ के दौरान गिरफ्तार नक्सली राधेश्याम यादव का बीपी अचानक बढ़ने लगा था. जिसके बाद एनआइए की टीम राधेश्याम को लेकर रिम्स के कैदी वार्ड पहुंची. रविवार की दोपहर करीब पौने एक बजे कैदी वार्ड में राधेश्याम की स्थिति सही नहीं देखते हुए एनआइए के दारोगा मौके पर मौजूद नर्स एवं महिला चिकित्सक को बार-बार उसका ब्लड प्रेशर जांच करने को कह रहे थे. वहीं, दारोगा मोबाइल से नर्स और महिला चिकित्सक का वीडियो भी बनाने लगा. इससे नर्स और महिला चिकित्सक भड़क गईं. उनलोगों ने दारोगा को वीडियो बनाने से मना किया, लेकिन वे नहीं मानें. तब महिला चिकित्सक और नर्स आदि ने दारोगा का मोबाइल छीन लिया. इसी बात को लेकर हाथापाई की नौबत तक आ गयी.

रिम्स निदेशक को दी जाएगी घटना की जानकारी

इस संबंध में रिम्स के चिकित्सा अधीक्षक डॉ हिरेंद्र बिरुआ ने कहा कि मेडिसिन विभाग की चिकित्सक डॉ ग्रेगरी मिंज की देखरेख में कैदी राधेश्याम यादव का इलाज चल रहा है. रविवार को महिला चिकित्सक से एनआइए जवानों ने दुर्व्यहार किया. जवान हर घंटे कैदी का बीपी जांच करने का आदेश नर्स और चिकित्सक को दे रहे थे. इसी बात को लेकर यूनिट की महिला जूनियर रेजीडेंट डॉक्टर से बकझक हो गयी. घटना की जानकारी रिम्स निदेशक डॉ कामेश्वर प्रसाद, रांची एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा और बरियातू थाना को दी जायेगी.

Posted By: Samir Ranjan.

Prabhat Khabar App :

देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, मोबाइल, गैजेट, क्रिकेट की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें