1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. sawan somvar 2020 in jharkhand live update first somvari of sawan today system of virtual darshan of baba bholenath in jharkhand

Sawan Somvar 2020 in jharkhand Update : सावन की सोमवारी पर 70 हजार फूलों से सजा इटखोरी का भद्रकाली मंदिर, कोरोना को लेकर मंदिरों में प्रवेश पर रोक

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
सावन की पहली सोमवारी पर भद्रकाली मंदिर की सजावट देखते ही बनती है.
सावन की पहली सोमवारी पर भद्रकाली मंदिर की सजावट देखते ही बनती है.
Vijay Sharma

Sawan Somvar 2020 in jharkhand LIVE Update, Shravani Mela 2020 : रांची : आज 06 जुलाई (सोमवार) से पवित्र सावन महीने की शुरुआत हो गयी है. सावन की पहली सोमवारी आज है. झारखंड में बाबा भोलेनाथ के ऑनलाइन दर्शन की व्यवस्था है. भक्त घर बैठे बाबा भोलेनाथ का वर्चुअल दर्शन कर रहे हैं. कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए इस बार श्रावणी मेले का आयोजन नहीं किया गया है. मंदिर में भी श्रद्धालुओं के प्रवेश पर रोक है.

email
TwitterFacebookemailemail

बुढ़वा महादेव मंदिर में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ हुई पूजा

बुढ़वा महादेव मंदिर में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ हुई पूजा.
बुढ़वा महादेव मंदिर में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ हुई पूजा.
Prabhat Khabar

हजारीबाग के बड़कागांव प्रखंड में 500 मीटर ऊंची महोदी पर्वत स्थित बुढ़वा महादेव मंदिर में सावन की पहली सोमवारी पर भक्तों ने सोशल डिस्टेंस के साथ पूजा-अर्चना की. बुढ़वा महादेव मंदिर में पूजा करने वालों की भीड़ न लगे, इसके लिए बड़कागांव पुलिस वहां मुस्तैद थी.

email
TwitterFacebookemailemail

70 हजार फूलों से सजा मां भद्रकाली मंदिर परिसर

सावन की पहली सोमवारी पर भद्रकाली मंदिर की सजावट देखते ही बनती है.
सावन की पहली सोमवारी पर भद्रकाली मंदिर की सजावट देखते ही बनती है.
Vijay Sharma

सावन माह की पहली सोमवारी को चतरा जिला के इटखोरी प्रखंड स्थित मां भद्रकाली मंदिर परिसर को 70 हजार फूलों से सजाया गया है. मंदिर परिसर को गेंदा, रजनीगंधा, उड़हुल व गुलाब के फूलों से सजाया गया है. सजावट देख भक्त बेहद प्रसन्न हैं. माता को खीर का भोग लगाया गया.

email
TwitterFacebookemailemail

गढ़वा के जुड़वनियां मंदिर से निराश लौटे भक्त

मंदिर बंद होने की वजह से लौट रहे भक्त.
मंदिर बंद होने की वजह से लौट रहे भक्त.
जितेंद्र

गढ़वा में दानरो नदी के तट पर स्थित जुड़वनियां शिव मंदिर में सावन मास की पहली सोमवारी को पूरे दिन ताला लटका रहा. श्रद्धालु मंदिर तक आये, लेकिन मंदिर में प्रवेश नहीं कर पाये. भगवान भोलेनाथ को जलाभिषेक किये बगैर उन्हें घर लौटना पड़ा.

email
TwitterFacebookemailemail

घर पर रहकर ही करें शिव की आराधना

साहिबगंज के उपायुक्त ने सावन की पहली सोमवारी की शुभकामनाएं दी है. इन्होंने कोरोना को देखते हुए लोगों से अपील की है कि घर पर रहकर ही भगवान शिव की आराधना करें.

email
TwitterFacebookemailemail

सापूर्वी सिंहभूम जिले में अधिकतर शिव मंदिर बंद रहे. श्रद्धालुओं ने बाहर से ही अपने आराध्य भगवान शिव का दर्शन कर आराधना की.

जमशेदपुर में बंद रहे शिव मंदिर, बाहर से श्रद्धालुओं ने की पूजा
जमशेदपुर में बंद रहे शिव मंदिर, बाहर से श्रद्धालुओं ने की पूजा
मनीष सिन्हा
email
TwitterFacebookemailemail

सावन की पहली सोमवारी को झारखंड के खूंटी जिले में शिवालय बंद रहे. श्रद्धालुओं ने मंदिर के मुख्य द्वार पर भगवान शिव का दर्शन कर पूजा-अर्चना की.

खूंटी जिले में श्रद्धालुओं ने शिव मंदिर के मुख्य द्वार पर पूजा-अर्चना की.
खूंटी जिले में श्रद्धालुओं ने शिव मंदिर के मुख्य द्वार पर पूजा-अर्चना की.
चंदन कुमार
email
TwitterFacebookemailemail

रांची के ऐतिहासिक पहाड़ी मंदिर में भी पुजारियों ने बाबा भोलेनाथ की विधिवत पूजा की. भक्तों ने घर बैठे बाबा का ऑनलाइन दर्शन किया. मंदिर में श्रद्धालुओं के प्रवेश की अनुमति नहीं है. इसके लिए सुरक्षा के प्रबंध किये गये हैं. मेन गेट पर ही सुरक्षाकर्मी तैनात हैं. कई श्रद्धालुओं ने मंदिर के मुख्य द्वार पर आकर बाबा भोलेनाथ की आराधना की.

रांची के पहाड़ी मंदिर के मुख्य द्वार पर तैनात पुलिसकर्मी और आराधना करने पहुंचे श्रद्धालु
रांची के पहाड़ी मंदिर के मुख्य द्वार पर तैनात पुलिसकर्मी और आराधना करने पहुंचे श्रद्धालु
प्रभात खबर
email
TwitterFacebookemailemail

उपायुक्त ने की बाबा बैद्यनाथ की आराधना

देवघर की उपायुक्त नैंसी सहाय ने सावन की पहली सोमवारी पर बाबा बैद्यनाथ की आराधना की. उन्होंने ट्वीट कर कल्याण की कामना की. आपको बता दें कि देवघर के बाबा धाम में आम श्रद्धालुओं के प्रवेश की अनुमति नहीं है. सिर्फ पुजारियों ने बाबा बैद्यनाथ की पूजा की. वर्चुअल दर्शन की व्यवस्था की गयी है.

email
TwitterFacebookemailemail

बाबा बासुकीनाथ का कीजिए दर्शन

कोरोना के कारण इस बार सावन में भक्तों के लिए बाबा बासुकीनाथ के वर्चुअल दर्शन की व्यवस्था की गयी है. मंदिर में आम श्रद्धालुओं के प्रवेश पर रोक लगायी गयी है. आप घर बैठे बाबा बासुकीनाथ का दर्शन करें.

email
TwitterFacebookemailemail

सीएम ने दी शुभकामनाएं

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने श्रावण मास के प्रथम सोमवार की शुभकामनाएं झारखंवासियों को दी हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि इस वर्ष श्रद्धालु संकट के समय घर पर ही पूजन कार्य कर अपने-अपने घरों को ही देवघर बनायें और सभी के कल्याण हेतु महादेव से प्रार्थना करें. महादेव महामारी की बेला में सभी को स्वस्थ एवं सुरक्षित रखें.

email
TwitterFacebookemailemail

बाबा का करिये दर्शन

सावन की पहली सोमवारी को भोलनाथ की पूजा-अर्चना की गयी. देवघर स्थित बाबा बैद्यनाथ मंदिर के गर्भगृह से आरती का सीधा प्रसारण किया गया, ताकि शिव भक्त घर बैठे बाबा का दर्शन कर आशीर्वाद ले सकें.

email
TwitterFacebookemailemail

बाबा बैद्यनाथ की पूजा का सीधा प्रसारण

देवघर में पुजारियों ने बाबा बैद्यनाथ की पूजा-अर्चना की. इसका सीधा प्रसारण किया गया, ताकि भक्त बाबा का वर्चुअल दर्शन घर बैठे कर सकें. यहां सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गये हैं. कोरोना के कारण मंदिर में श्रद्धालुओं का प्रवेश वर्जित है. इसलिए बाबा के ऑनलाइन दर्शन की सुविधा उपलब्ध करायी गयी है

email
TwitterFacebookemailemail

देवघर में बाबा बैद्यनाथ की हुई पूजा

आज से सावन माह शुरू हो चुका है. आज पहली सोमवारी भी है. कोरोना को देखते हुए इस बार श्रावणी मेले का आयोजन नहीं किया गया है, लेकिन विश्व प्रसिद्ध बाबा बैद्यनाथ मंदिर में बाबा भोलेनाथ के ऑनलाइन दर्शन की व्यवस्था है. आज मंदिर के पुजारियों ने सुबह 5.45 बजे तक भगवान शिव की पूजा-अर्चना की.

email
TwitterFacebookemailemail

घर पर जलाभिषेक कर रहे भक्त

सावन महादेव का महीना है. इस बार श्रावण माह की शुरुवात सोमवार से हुई है. सोमवार भगवान शिव का प्रिय दिन माना जाता है. आज भक्त व्रत रख कर घर पर भगवान शिव पर जलाभिषेक कर रहे हैं, क्योंकि कोरोना को देखते हुए शिव मंदिरों में श्रद्धालुओं को प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी गयी है. सिर्फ वर्चुअल दर्शन की सुविधा है.

email
TwitterFacebookemailemail

घर पर रहकर करें बाबा का दर्शन

झारखंड के देवघर स्थित बाबा बैद्यनाथ धाम, दुमका स्थित बासुकीनाथ धाम और रांची के ऐतिहासिक पहाड़ी मंदिर में इस सावन भक्तों के मंदिर में प्रवेश की इजाजत नहीं है. कोरोना महामारी को देखते हुए पहली बार सावन में बाबा के वर्चुअल दर्शन की व्यवस्था की गयी है, ताकि घर पर रहकर ही भक्त भोलेनाथ का दर्शन कर सकें.

email
TwitterFacebookemailemail

श्रद्धालुओं के मंदिर में प्रवेश पर रोक

आज से पवित्र सावन महीने की शुरुआत हो गयी है. सावन की पहली सोमवारी आज है. देवघर में बाबा भोलेनाथ के ऑनलाइन दर्शन की व्यवस्था है. भक्त घर बैठे बाबा भोलेनाथ का वर्चुअल दर्शन कर रहे हैं. कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए इस बार श्रावणी मेले का आयोजन नहीं किया गया है. मंदिर में भी श्रद्धालुओं के प्रवेश पर रोक है.

email
TwitterFacebookemailemail

वर्षों बाद अदभुत संयोग

सावन महीने में वर्षों बाद अदभुत संयोग है जब सावन माह में पांच सोमवार पड़ रहे हैं. ज्योतिष के जानकारों के अनुसार इस बार पांच सोमवार इसलिए भी अहम है क्योंकि वेद पुराणों में भगवान शिव के भी पांच मुख का वर्णन है. मानव शरीर का निर्माण भी पंच महाभूतों से हुआ है. इसलिए सावन मास में इन पांचों सोमवार को शिव की आराधना करने से आपके सभी मनोरथ पूर्ण होते हैं.

email
TwitterFacebookemailemail

घर बैठे कीजिए भोलेनाथ का दर्शन

झारखंड में कोरोना को लेकर इस बार सावन में बाबा बैद्यनाथ धाम, बाबा बासुकीनाथ और पहाड़ी मंदिर में भगवान शिव के ऑनलाइन दर्शन की सुविधा उपलब्ध करायी गयी है, ताकि भक्त घर बैठे अपने आराध्य का दर्शन कर सकें.

email
TwitterFacebookemailemail

बाबा भोलेनाथ का वर्चुअल दर्शन

श्रावणी मेला 2020 (Shravani Mela 2020) की पहली सोमवारी (Shravan Somvar) आज है. कोरोना वायरस (Coronavirus) की गंभीरता को देखते हुए हाईकोर्ट (Highcourt) ने देवघर (Deoghar) स्थित बाबा बैद्यनाथ मंदिर (Baba Baidyanath Temple) और बासुकिनाथ मंदिर (Basukinath Temple) के वर्चुअल दर्शन (Virtual Darshan) की अनुमति दी है. इस बार मंदिर में श्रद्धालुओं के प्रवेश की अनुमित नहीं है.

email
TwitterFacebookemailemail

सावन की पहली सोमवारी आज

आज सावन की पहली सोमवारी है. झारखंड के शिव भक्त घर बैठे बाबा भोलेनाथ का वर्चुअल दर्शन कर रहे हैं. कोरोना को देखते हुए इस बार मंदिर में श्रद्धालुओं के प्रवेश पर रोक लगायी गयी है. इसके लिए सुरक्षा के कड़े प्रबंध किये गये हैं. मंदिर प्रबंधन की ओर से श्रद्धालुओं के लिए बाबा भोलेनाथ के ऑनलाइन दर्शन की व्यवस्था की गयी है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें