18.1 C
Ranchi
Thursday, February 22, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Homeराज्यझारखण्डरिम्स में MBBS के आठ विद्यार्थियों पर 10 हजार का दंड, तीन हॉस्टल से निकाले गये

रिम्स में MBBS के आठ विद्यार्थियों पर 10 हजार का दंड, तीन हॉस्टल से निकाले गये

विद्यार्थियों और अभिभावकों को जांच कमेटी ने स्पष्ट निर्देश दिया है कि दोबारा मारपीट या अनुशासनहीनता में नाम आने पर शैक्षणिक कार्य से विद्यार्थियों को बाहर कर दिया जायेगा.

रांची : रिम्स के हॉस्टल नंबर-1 में हुई मारपीट के आठ आरोपियों पर दस-दस हजार रुपये का आर्थिक दंड लगाया गया है. वहीं, इसमें से तीन विद्यार्थी आशीष कुमार दुबे, आयुष केडिया और आशीष नचिकेता को स्थायी रूप से हॉस्टल से बाहर कर दिया गया है. यह कार्रवाई सोमवार को रिम्स अनुशासनात्मक और डीन स्टूडेंट एंड वेलफेयर कमेटी ने की है. चिह्नित 10 आरोपियों में नौ अपने माता-पिता के साथ सोमवार को दिन के दस बजे जांच कमेटी के समक्ष उपस्थित हुए. एक आरोपी आयुष केडिया बिना परिजनों के जांच कमेटी के समक्ष उपस्थित हुआ.

कमेटी के सदस्यों ने कहा कि माता-पिता के साथ आयें तभी आपकी बातें सुनी जायेगी. इन विद्यार्थियों पर आर्थिक दंड की कार्रवाई सरकारी संपत्ति को क्षति पहुंचाने और रजिस्टर जलाने के कारण की गयी है. विद्यार्थियों और अभिभावकों को जांच कमेटी ने स्पष्ट निर्देश दिया है कि दोबारा मारपीट या अनुशासनहीनता में नाम आने पर शैक्षणिक कार्य से विद्यार्थियों को बाहर कर दिया जायेगा. कमेटी ने पूछताछ के बाद अमन राज और सौरभ गोराई को निदोर्ष करार दिया. इन्हीं दोनों ने मारपीट की लिखित शिकायत प्रबंधन से की थी. जांच कमेटी में डॉ लखन माझी, डॉ उमाशंकर केसरी, वार्डन डॉ राजीव रंजन, डॉ सुनंदा झा, डॉ सोनल, डॉ ओमप्रकाश, डॉ रोजबेला एक्का और डॉ लालचंद टुड्डू आदि शामिल थे.

Also Read: रांची के रिम्स में होमगार्ड के 372 जवान तैनात, फिर भी बेखौफ घूम रहे दलाल
हॉस्टल नंबर-पांच के बाहर कैंटीन चलानेवाले की एंट्री पर रोक

हॉस्टल नंबर-पांच के बाहर कैंटीन चलानेवाले की एंट्री पर रोक लगा दी गयी है. कमेटी ने स्पष्ट निर्देश दिया है कि जो विद्यार्थी कैंटीन संचालक के संपर्क में रहेगा उस पर सख्त कार्रवाई की जायेगी. कई स्टूडेंट ने आरोप लगाया है कि कैंटीन संचालक द्वारा हॉस्टल में मादक पदार्थ उपलब्ध कराया जाता है.

क्या है मामला

हॉस्टल नंबर-एक में चार जनवरी को एमबीबीएस फाइनल इयर (बैच 2019) के विद्यार्थियों ने मारपीट की थी. पूरी घटना नशा करने और अवैध रूप से संचालित कैंटीन में मादक पदार्थों की बिक्री से जुड़ा हुआ बताया जा रहा है. मारपीट की घटना के बाद बरियातू पुलिस को बुलाना पड़ा था.

चक्रधरपुर में 27 पुड़िया ब्राउन शुगर के साथ मेडिकल का छात्र गिरफ्तार

चक्रधरपुर पुलिस ने सोमवार को मेडिकल के छात्र अभि कुमार (22 वर्ष) को 27 पुड़िया ब्राउन शुगर के साथ गिरफ्तार किया है. वह रामदास भट्ठा का रहनेवाला है और वहीं पर नशेड़ियों के बीच ब्राउन शुगर बेच रहा था, तभी पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया. पुलिस के अनुसार, 27 पुड़िया में दो ग्राम ब्राउन शुगर है और एक पुड़िया की कीमत लगभग पांच हजार रुपये है. अभि भुवनेश्वर के एक बड़े शिक्षण संस्थान में मेडिकल की पढ़ाई कर रहा है. अभि के परिजन ने बताया कि कॉलेज की फीस जमा करने के लिए उसे 6000 रुपये दिये गये थे. वह छुट्टी में घर (चक्रधरपुर) आया था. पुलिस उससे ड्रग्स के कारोबार में शामिल अन्य लोगों के बारे में जानकारी हासिल करने के लिए पूछताछ कर रही है.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें