1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. karma puja 2020 to be celebrated in jharkhand with simplicity due to coronavirus pandemic kendriya sarna samiti demands three day state holiday mth

Karma Puja 2020: करमा महापर्व पर झारखंड में तीन दिन के राजकीय अवकाश की मांग

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
करमा पर्व महोत्सव 2020 के आयोजन से पहले केंद्रीय सरना समिति ने बैठक कर तीन दिन के राजकीय अवकाश की मांग झारखंड सरकार से की.
करमा पर्व महोत्सव 2020 के आयोजन से पहले केंद्रीय सरना समिति ने बैठक कर तीन दिन के राजकीय अवकाश की मांग झारखंड सरकार से की.
Prabhat Khabar

रांची : कोरोना वायरस को देखते हुए वर्ष 2020 में करमा महापर्व सादगी के साथ मनाया जायेगा. राजधानी रांची में केंद्रीय सरना समिति की एक बैठक में यह निर्णय लिया गया. 29 अगस्त, 2020 को होने वाले करमा महापर्व से पहले सरना टोली हतमा में गुरुवार (27 अगस्त, 2020) को एक बैठक का आयोजन किया गया.

केंद्रीय सरना समिति के केंद्रीय अध्यक्ष बबलू मुंडा की अध्यक्षता में हुई बैठक में मुख्य पाहन जगलाल पाहन ने कहा कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए इस वर्ष पारंपरिक धार्मिक विधि-विधान एवं रीति-रिवाज के साथ सादगीपूर्वक महापर्व मनाया जायेगा. जगलाल पाहन ने बताया कि शनिवार (29 अगस्त, 2020) की रात 8 बजे करम पूजा होगी.

करम देव का रातभर जागरण कर अगले दिन सुबह यानी रविवार (30 अगस्त, 2020) को टोलों-मोहल्लों के डिंडा करम का एवं सोमवार (31 अगस्त, 2020) को मौजा के राजी करम का घर-घर भ्रमण कराकर विधि-विधान एवं रीति-रिवाज से उनका विसर्जन करें.

केंद्रीय अध्यक्ष बबलू मुंडा ने कहा कि केंद्रीय सरना समिति की विशेष बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि सभी करम पूजा करने वाले भाई-बहन कोरोना महामारी को ध्यान रखते हुए करम पूजा अखड़ा पर अनावश्यक भीड़ न लगायें. पूजा के दौरान मास्क का इस्तेमाल जरूर करें. इस दौरान सोशल डिस्टैंसिंग का भी पालन करें.

श्री मुंडा ने कहा कि पूजा के दौरान एक-दूसरे से कम से कम 2 मीटर की दूरी बनाये रखें. श्री मुंडा ने राज्य सरकार से मांग की है कि आदिवासियों की पारंपरिक व्यवस्था को देखते हुए करम पर्व पर 3 दिन का राजकीय अवकाश घोषित किया जाये. साथ ही पूजा से पहले सभी अखड़ा में साफ-सफाई, बिजली, पानी, शौचालय, सैनिटाइजर एवं मास्क की व्यवस्था सरकार करे.

केंद्रीय सरना समिति के संरक्षक रामसहाय सिंह मुंडा ने सभी पाहनों से आग्रह किया है कि समय पर सभी करम अखड़ा में विधिवत पूजा करें. समिति के महासचिव कृष्णकांत टोप्पो ने ईसाई मिशनरियों से आग्रह किया है कि वे आदिवासियों की पारंपरिक रूढ़िवादी व्यवस्था को विकृत करने की कोशिश न करें.

ईसाई मिशनरियों से कहा गया है कि अगर उन्हें करम पर्व मनाना ही है, तो अपने टोला के अखड़ा या मौजा के अखड़ा में पारंपरिक धार्मिक विधि-विधान व रीति-रिवाज के साथ इस पर्व को मनायें. बैठक में कार्यकारी अध्यक्ष शोभा कच्छप, उपाध्यक्ष किरण तिर्की, सचिव डब्लू मुंडा, अरुण पाहन, व अन्य मौजूद थे.

Posted By : Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें