1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. isfr report 2022 forest area increased by 110 square kilometers in jharkhand and the greenery increased by 2261 square kilometer in india srn

झारखंड में 110 वर्ग किलोमीटर बढ़ा वन क्षेत्र तो देश में दो साल में 2261 वर्ग किलोमीटर बढ़ी हरियाली

पिछले दो सालों में झारखंड का वन क्षेत्र 110 किलो मीटर बढ़ गया तो पूरे भारत में वृक्ष एवं वन क्षेत्र में 2261 वर्ग किलोमीटर की बढ़ोतरी हुई है. इसकी जानकारी आइएसएफआर की रिपोर्ट से पता चला है

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
झारखंड में 110 वर्ग किलोमीटर बढ़ा वन क्षेत्र
झारखंड में 110 वर्ग किलोमीटर बढ़ा वन क्षेत्र
सांकेतिक तस्वीर

भारत में पिछले दो वर्षों में वृक्ष एवं वन क्षेत्र में 2261 वर्ग किलोमीटर की बढ़ोतरी हुई है. इसमें 1540 वर्ग किलोमीटर वन क्षेत्र और 721 वर्ग किलोमीटर वृक्ष क्षेत्र शामिल है. यह जानकारी इंडिया स्टेट ऑफ फॉरेस्ट रिपोर्ट (आइएसएफआर), 2021 में दी गयी है. मौजूदा समय में देश में जंगल और वृक्षों का क्षेत्रफल आठ करोड़ नौ लाख हेक्टेयर हो गया है, जो भारत के भौगोलिक क्षेत्र का 24.62 फीसदी है. रिपोर्ट के मुताबिक, देश के 17 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में वन क्षेत्र कुल भौगोलिक क्षेत्रफल का 33 फीसदी है.

सबसे अधिक 647 वर्ग किलोमीटर वन क्षेत्र की बढ़ोतरी आंध्र प्रदेश में हुई है. देश के वन संसाधनों के आकलन पर ‘फॉरेस्ट सर्वे ऑफ इंडिया’ की द्विवार्षिक रिपोर्ट केंद्रीय वन मंत्री भूपेंद्र यादव ने गुरुवार को जारी की. रिपोर्ट के अनुसार, पिछले चार साल में देश का वन क्षेत्रफल लगभग 15 हजार वर्ग किमी बढ़ा है. देश में मध्य प्रदेश सबसे अधिक वन क्षेत्र वाला राज्य है.

इसके बाद अरुणाचल प्रदेश, छत्तीसगढ़, ओड़िशा और महाराष्ट्र में सबसे अधिक वन क्षेत्र हैं. केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री भूपेंद्र यादव ने कहा कि देश में वन क्षेत्र का बढ़ना खुशी की बात है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार का लक्ष्य सिर्फ वनों का संरक्षण करना नहीं है, बल्कि इसकी गुणवत्ता को भी बेहतर बनाना है. रिपोर्ट में वन, वृक्ष, मैंग्रोव, कार्बन स्टॉक, जंगलों में आग लगने की निगरानी, टाइगर रिजर्व में वन क्षेत्र और क्लाइमेट हॉट-स्पॉट को भी शामिल किया गया है.

देश में कुल वन एवं वृक्ष क्षेत्र है आठ करोड़ नौ लाख हेक्टेयर

आंध्र प्रदेश में सबसे अधिक वन क्षेत्र बढ़ा

राज्य वन क्षेत्र बढ़ा

आंध्र प्रदेश 647 वर्ग किलोमीटर

तेलंगाना 632 वर्ग किलोमीटर

ओड़िशा 537 वर्ग किलोमीटर

कर्नाटक 155 वर्ग किलोमीटर

झारखंड 110 वर्ग किलोमीटर

कहां कितना घटा वन क्षेत्र

राज्यवन क्षेत्र घटा

अरुणाचल 257 वर्ग किमी

मेघालय 249 वर्ग किमी

नगालैंड 235 वर्ग किमी

मिजोरम 186 वर्ग किमी

अरुणाचल, छत्तीसगढ़, ओड़िशा और महाराष्ट्र में भी अधिक वन क्षेत्र

तटीय इलाकों में मैंग्रोव में हुआ इजाफा

तटीय इलाकों में मैंग्रोव क्षेत्र में भी वृद्धि हुई है. देश में कुल मैंग्रोव क्षेत्रफल 4992 वर्ग किलोमीटर दर्ज किया गया है, जो पिछले दो साल में 17 फीसदी बढ़ा है. पिछले दो साल में सबसे अधिक आठ वर्ग किलोमीटर मैंग्रोव ओड़िशा में बढ़ा है. इसके बाद महाराष्ट्र में चार और कर्नाटक में तीन वर्ग किलोमीटर मैंग्रोव के क्षेत्रफल में वृद्धि हुई है. मैंग्रोव ऐसे वृक्ष होते हैं, जो खारे पानी या अर्द्ध-खारे पानी में पाये जाते हैं.

पूर्वोत्तर राज्यों में 1020 वर्ग किमी घटा वन क्षेत्र : पूर्वोत्तर राज्यों में पिछले दो वर्षों में वन क्षेत्र में 1020 वर्ग किलोमीटर की कमी आयी है. रिपोर्ट के मुताबिक, पूर्वोत्तर राज्यों में कुल वन क्षेत्र 169521 वर्ग किमी है, जबकि कुल भौगोलिक क्षेत्र 262179 वर्ग किमी है. यह देश के कुल भौगोलिक क्षेत्र का 7.98% है. पूर्वोत्तर के आठ राज्यों का वन क्षेत्र देश के कुल वन क्षेत्र का 23.75% हैं.

राज्यवन क्षेत्र

मिजोरम 84.53%

अरुणाचल 79.33%

मेघालय 76.00%

मणिपुर 74.34%

नगालैंड 73.9%

Posted By : Sameer Oraon

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें