1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. good news kidney transplant in rims soon appointment of specialists is going on ranchi news prt

खुशखबरी! रिम्स में जल्द होगा किडनी ट्रांसप्लांट, सस्ते इलाज की मिलेगी सुविधा

रिम्स जल्द ही अंग प्रत्यारोपण में देश का 12वां और झारखंड का पहला सरकारी अस्पताल बनने जा रहा है. किडनी ट्रांसप्लांट के साथ राज्य के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल के नये अध्याय की शुरुआत होगी. अस्पताल प्रशासन जी-जान से इसकी तैयारी में जुटा है.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
kidney transplant in rims
kidney transplant in rims
Twitter

Ranchi News: रिम्स जल्द ही अंग प्रत्यारोपण में देश का 12वां और झारखंड का पहला सरकारी अस्पताल बनने जा रहा है. किडनी ट्रांसप्लांट के साथ राज्य के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल के नये अध्याय की शुरुआत होगी. अस्पताल प्रशासन जी-जान से इसकी तैयारी में जुटा है. यह जानकारी रिम्स निदेशक डॉ कामेश्वर प्रसाद ने शुक्रवार को दी. डॉ प्रसाद ने कहा कि मल्टी ऑर्गन फेल्योर की समस्या बढ़ गयी है, अंग प्रत्यारोपण ही इसका विकल्प होता है. लेकिन, जरूरत के मुताबिक अंग दान नहीं होता है.

इस कारण सैकड़ों लोगों की जान चली जाती है. रिम्स में अंग प्रत्यारोपण शुरू होने के बाद हम अंग दान को बढ़ावा देने और इसके लिए लोगों को जागरूक करने की पहल करेंगे. रिम्स निदेशक ने कहा कि किडनी प्रत्यारोपण शुरू करने के लिए सर्जन की जरूरत है. इसके लिए विशेषज्ञ की नियुक्ति की प्रक्रिया चल रही है. आेपीडी में परामर्श दिया जा रहा है. अब डायलिसिस से इलाज भी होगा.

डॉ प्रसाद ने कहा कि शोध से ही रिम्स की छवि बेहतर हो सकती है. एनाटॉमी के डॉ राजीव रंजन ने कहा कि किडनी प्रत्यारोपण के लिए केंद्र व राज्य सरकार के बीच एमओयू हुआ है. कोरोना के कारण विलंब हो रहा है. नेत्र रोग के विभागाध्यक्ष डॉ राजीव गुप्ता ने बताया कि नेत्रदान पखवाड़ा चल रहा है. नेत्र दान व प्रत्यारोपण के लिए लोग रिम्स की वेबसाइट के जरिये फॉर्म भर सकते हैं. मौके पर पीआरओ डॉ डीके सिन्हा भी मौजूद थे.

सीटी स्कैन मशीन मुंबई पहुंची : रिम्स के ट्रॉमा सेंटर में सीटी स्कैन मशीन पहले हफ्ते में लग जायेगी. मशीन मुंबई बंदरगाह पर पहुंच गयी है. इस मशीन में कार्डियेक सीटी एंजियोग्राफी की सुविधा है. दूसरी सीटी स्कैन की मशीन भी शीघ्र आयेगी. वहीं, ट्रॉमा सेंटर में 24 घंटे की पैथोलॉजी जांच का शुभारंभ सितंबर में हो जायेगा. 15 सितंबर तक मशीन आ जायेगी, जिसको चिह्नित जगह पर स्थापित कर दिया जायेगा.

प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र के लिए एजेंसी का चयन आज : रिम्स परिसर में जन औषधि केंद्र के संचालन की प्रक्रिया अंतिम चरण में है. निविदा के माध्यम से शनिवार को एजेंसी का चयन कर लिया जायेगा. इसके लिए क्रय समिति की बैठक शनिवार को होगी. इस केंद्र में मेडिसिन के अलावा सर्जिकल दवा भी मिलेगा. डॉक्टरों को दवा की लिस्ट उपलब्ध करा दी जायेगी.

एमबीबीएस की 250 सीट के लिए विभागाध्यक्ष से मांगी गयी जानकारी : रिम्स एमबीबीएस में 250 सीट करने की तैयारी की जा रही है. फैकल्टी और आधारभूत संरचना को मजबूत करने का प्रयास चल रहा है. विभागाध्यक्षों को इसके लिए सुझाव मांगा गया है. सुझाव के हिसाब से एनएमसी और स्वास्थ्य विभाग को नये स्तर से प्रस्ताव भेजा जायेगा. एनएमसी इसी के हिसाब से निरीक्षण करने आयेगी.

किडनी प्रत्यारोपण को लेकर विशेषज्ञ की नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू कार्डियोलॉजी व न्यूरो सर्जरी में सस्ती दर पर होने लगा इलाज रिम्स के कार्डियोलॉजी और न्यूरो सर्जरी विभाग में भर्ती मरीजों को सस्ती दर पर इलाज मिलने लगा है. कंपनियों से रेट कॉन्ट्रेक्ट होने के बाद अब यहां सस्ती दर पर इंप्लांट उपलब्ध कराया जा रहा है. मरीजाें को अभी चिह्नित एजेंसी से इंप्लांट मंगाया जा रहा है. शीघ्र ही रिम्स ही इसको उपलब्ध करायेगा.

Posted by: Pritish Sahay

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें