1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. encroachment on 41 acres of jharkhand university of technology land jharkhand news ranchi prt

झारखंड यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी की 41 एकड़ जमीन पर अतिक्रमण, जेयूटी ने प्रशासन से मांगी मदद

नामकुम स्थित झारखंड यूनिवर्सिटी अॉफ टेक्नोलॉजी (जेयूटी) को राज्य सरकार द्वारा दी गयी 50.44 एकड़ जमीन में 40.98 एकड़ जमीन का पता नहीं चल पा रहा है.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
जेयूटी की 41 एकड़ जमीन पर अतिक्रमण
जेयूटी की 41 एकड़ जमीन पर अतिक्रमण
Prabhat Khabar

संजीव सिंह , रांची: नामकुम स्थित झारखंड यूनिवर्सिटी अॉफ टेक्नोलॉजी (जेयूटी) को राज्य सरकार द्वारा दी गयी 50.44 एकड़ जमीन में 40.98 एकड़ जमीन का पता नहीं चल पा रहा है. इसकी भनक विवि को उस समय लगी, जब उच्च व तकनीकी शिक्षा विभाग के विशेष सचिव ने विवि को पत्र भेजकर बताया कि विवि परिसर की स्थापना के लिए राजस्व व भूमि सुधार विभाग ने कुल 50.44 एकड़ जमीन उपलब्ध करायी है.

इनमें नामकुम अंचल मौजा वरगांवा, थाना संख्या 216, खाता नंबर 215, प्लॉट नंबर 123, 125 एवं 145 रकवा क्रमश: 8.59 एकड़, 11.39 एकड़ अौर 20.50 एकड़ तथा खाता नंबर 221, प्लॉट नंबर 148, रकवा 9.96 एकड़ यानि कुल रकवा 50.44 एकड़ भू-हदबंदी से अधिशेष भूमि (सरकारी भूमि) शामिल हैं.

डीसी को निर्देश : उच्च व तकनीकी शिक्षा विभाग के विशेष सचिव ने रांची के उपायुक्त को पत्र लिख कर कहा है कि वह उपयुक्त भूमि की मापी करवाते हुए प्रतिबंधित सूची में शामिल कर भूमि का उल्लेख रजिस्टर टू में करायें अौर इसकी जानकारी राजस्व, निबंधन एवं भूमि सुधार विभाग तथा उच्च व तकनीकी शिक्षा विभाग को उपलब्ध करायें. उपायुक्त को यह भी निर्देश दिया गया है कि यदि चिह्नित भूमि पर कोई अतिक्रमण किया गया हो, तो उसे अतिक्रमण मुक्त करायें.

वहीं कुलपति को निर्देश दिया गया है कि उपायुक्त भूमि की सुरक्षा के लिए बोर्ड लगाना सुनिश्चित करेंगे, जिसमें भूमि का पूर्ण विवरण हो तथा यह भी उल्लेख हो कि भूमि पर कोई अनधिकृत प्रवेश, उपयोग एवं निर्माण प्रतिबंधित होगा. इधर विवि प्रशासन ने अपने स्तर से जमीन का पता लगाने पर कहा है कि उनके हिस्से की 40.98 एकड़ जमीन पर प्राइवेट स्कूल व कॉलेज बन गये हैं.

हालांकि विवि प्रशासन ने उपायुक्त को पत्र भेज कर जमीन चिह्नित करने अौर अगर उस पर अतिक्रमण है, तो हटाने का आग्रह किया है. वर्तमान में कुल 50.44 एकड़ जमीन में विवि का नया परिसर 9.96 एकड़ जमीन पर बना हुआ है. इसमें भी आधे हिस्से पर ट्रिपल आइटी चल रहा है. राज्य सरकार ने अगस्त 2020 में उक्त परिसर में स्थित एसबीटीइ को जेयूटी में मर्ज कर दिया अौर एसबीटीइ के हिस्से की सभी संपत्ति व परिसंपत्ति विवि को हस्तांतरित कर दिया है.

विवि परिसर की सुरक्षा के लिए विवि ने बनायी कमेटी: विवि प्रशासन ने उच्च व तकनीकी शिक्षा विभाग, उपायुक्त व एसएसपी तथा ट्रिपल आइटी के रजिस्ट्रार को पत्र भेज कर कहा है कि विवि के नव निर्मित भवन एवं परिसर की सुरक्षा तथा विधि व्यवस्था को सुचारू रूप से बनाये रखने के लिए समिति का गठन किया जा रहा है.

इसलिए इसमें उच्च व तकनीकी शिक्षा विभाग द्वार नामित एक सदस्य, उपायुक्त द्वारा नामित एक सदस्य, एसएसपी द्रारा नामित एक सदस्य तथा ट्रिपल आइटी के निदेशक द्वारा नामित एक अस्थायी सदस्य देने का अाग्रह किया है. विवि की ओर से कमेटी में प्रो विजय पांडेय को अध्यक्ष व राजदेव कुमार, प्रमोद कुमार को सदस्य बनाया गया है.

Posted by: Pritish Sahay

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें