1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. durga puja ranchi durga puja pandal live streaming online darshan jharkhand latest news prt

Durga puja 2020: इस दुर्गा पूजा घर में बैठकर करें मां के दर्शन, रांची में ऐसी है व्यवस्था

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
Durga Puja 2020 :  स दुर्गा पूजा घर में बैठकर करें मां के दर्शन
Durga Puja 2020 : स दुर्गा पूजा घर में बैठकर करें मां के दर्शन
prabhat khabar

Durga puja 2020 : शहर, कस्बा, गांव-देहात, कोना-कोना दुर्गोत्सव के रंग में रंगने को आतुर है़ अराध्य शक्ति की देवी शैल पुत्री मां भगवती की सेवा में नौ दिन लीन होने के लिए भक्त व्याकुल है़ं सोलह शृंगार के साथ मां शैलपुत्री से सिद्धिदात्री के नौ रूप में विराजेंगी़ं एक-एक दिन उत्सवी होगा़ आरोग्य की देवी मां दुर्गा इस बार कुछ और भी संदेश के साथ आयेंगी़ं महिषासुर के वध के साथ हमें कोरोना रूपी महामारी का भी संहार करना है़

उत्सव-उमंग की आपाधापी में हमें अपना ख्याल रखना नहीं भूलना है़ दुर्गापूजा का वही महत्व, वही परकाष्ठा होगी, लेकिन आयोजन थोड़ा हट कर होगा़ सरकार दुर्गा पूजा को लेकर गाइडलाइन जारी की है़ कोरोना संक्रमण के दौर में कैसे बदली-बदली होगी आपकी पूजा और आयोजकों की क्या तैयारी? इसका संयोजन प्रियेस, शिल्की, प्रियंका चटर्जी, शीश ओजैर और विजय ने किया है.

  • ऑनलाइन दर्शन कराने की तैयारी में जुटे पूजा पंडाल

  • बड़े पूजा पंडाल षष्ठी से करेंगे लइाव स्ट्रीमिंग

  • कई पंडालों में पुष्पांजलि की होगी ऑनलाइन व्यवस्था

  • मोबाइल की स्क्रीन पर मां का दर्शन होगा

  • मोबाइल की स्क्रीन पर मां का दर्शन होगा

नवरात्रा में आपके मोबाइल की स्क्रीन पर मां का दर्शन होगा़ दुर्गापूजा की हर विधि, अनुष्ठान के लाइव प्रसारण की तैयारी में पूजा समितियां जुट गयी हैं. भक्तों की आस्था को ध्यान में रखकर मंडप में होनेवाली पूजा की लाइव स्ट्रीमिंग की जायेगी़ मुख्य पंडालों में षष्ठी से ही पूजा की लाइव स्ट्रीमिंग होगी़ यह नया तरीका बकरी बाजार दुर्गा पूजा समिति, दुर्गा बाटी, कोकर दुर्गा पूजा समिति, अलबर्ट एक्का चौक और रेलवे दुर्गा पूजा समिति के आयोजन में दिखेगा़ हालांकि आयोजन समितियां सरकार से भक्तों के लिए प्रोटोकॉल में थोड़ी छूट भी चाहती है़ं सबकी मांग है कि दर्शनार्थियों की संख्या बढ़े. भोग वितरण में छूट मिले़ ढोल-ढ़ाक बजाने की अनुमति हो़ साउंड सिस्टम आदि को जोड़ते हुए गाइडलाइन में सुधार की जाये़

मेनरोड स्थित दुर्गाबाड़ी तैयार कर रहा वेबसाइट : दुर्गाबाड़ी में पारंपरिक पूजा होती है़ बड़ी संख्या में श्रद्धालु मां के दर्शन के लिए पहुंचते हैं. हालांकि इस बार भीड़भाड़ पर पाबंदी है़ आयोजक सरकार की गाइडलाइन को लेकर विशेष व्यवस्था में जुटे है़ं भक्त मां दुर्गा का दर्शन आसानी से कर सकें, इसके लिए वेबसाइट तैयार करायी जा रही है़ वेबसाइट का नाम Durgavatiranchi.in है़ श्रद्धालु इस वेबसाइट के जरिए दुर्गा पूजा के पांचों दिन मां का दर्शन कर पायेंगे़ अष्टमी में होनेवाली पुष्पांजलि की भी ऑनलाइन व्यवस्था रहेगी.

फेसबुक और यूट्यूब पर होगी लाइव स्ट्रीमिंग : रातू रोड स्थित आरआर स्पोर्टिंग और मोरहाबाद के गीतांजलि क्लब में दुर्गा पूजा की अपनी रौनक होती है़ यहां हर वर्ष काफी भीड़ उमड़ती है़ बड़े पंडाल, उत्कृष्ट कलाकारी भक्तों को आकर्षित करती है. इस बार दोनाें जगहों पर भक्त बड़े पंडाल या कलाकृति नहीं देख पायेंगे. आरआर स्पोर्टिंग क्लब और गीतांजलि क्लब में होनेवाली पूजा का सीधा प्रसारण यूट्यूब और फेसबुक पर होगा. माता का ऑनलाइन दर्शन होगा. आरआर स्पोर्टिंग क्लब के फेसबुक पेज पर पूजा अनुष्ठान का लाइव प्रसारण होगा. मंदिर के बाहर एलसीडी लगी रहेगी.

बिना मास्क के दर्शन नहीं थर्मल स्क्रीनिंग भी होगी : सभी पूजा पंडालों में थर्मल स्क्रीनिंग, सैनिटाइजेशन और मास्क का प्रबंध किया जायेगा़ पंडाल के आसपास दुकान लगाने की अनुमति नहीं रहेगी. एक समय पर सिर्फ सात-आठ भक्त ही मां का दर्शन कर पायेंगे. इसके लिए श्रद्धालुओं को मास्क पहनना अनिवार्य होगा़ आयोजन समितियों ने कहा कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए मास्क, सोशल डिस्टैंसिंग सहित दूसरे जितने उपाय हैं, उसका पूरा ख्याल रखा जायेगा़ दर्शनार्थियों के लिए मास्क अनिवार्य होगा़ किसी भी हाल में दर्शनार्थियों की भीड़ नहीं होने दी जायेगी़

भक्तों को छह फीट की दूरी बनायी रखनी होगी : राज्य सरकार की गाइडलाइन के अनुसार प्रसाद-भोग वितरण पर पाबंदी है़ दूसरी तरफ आयोजक इसमें छूट चाहते हैं. आयोजकों का कहना है कि यह विशेष अवसर है़ भक्तों की अपार श्रद्धा है, इसलिए भोग-प्रसाद का वितरण होना चाहिए़ सोशल डिस्टैंसिंग के साथ भोग वितरण संभव है़ आरआर स्पोर्टिंग के अध्यक्ष राहुल यादव ने बताया कि परिसर में भक्तों को छह फीट की दूरी बनाये रखनी होगी. इसके लिए समिति के सदस्य तत्पर दिखेंगे़ गीतांजलि क्लब के आयोजकों का भी कहना है कि हमलोगों ने कोरोना संक्रमण के दौरान जरूरतमंदों को खाना खिलाया़ यह सबकुछ सोशल डिस्टैंसिंग के साथ हुआ़ ऐसे में भोग वितरण भी संभव है़

यह है गाइडलाइन

पंडाल में एक साथ सात लोगों से ज्यादा श्रद्धालु नहीं रहेंगे

सात लोगों में पूजा समिति के सदस्य और पुजारी भी शामिल हैं

मेला-सांस्कृतिक कार्यक्रम पर रोक रहेगी

दुर्गापूजा मंडप के पास फूड स्टॉल नहीं लगेंगे

पूजा समिति आमंत्रण पत्र जारी नहीं करेगी

सोशल डिस्टैंसिंग व मास्क अनिवार्य होगा

छोटे पूजा पंडाल बनेंगे

पूजा पंडाल चारों ओर से घिरा रहेगा़

थीम आधारित पंडाल नहीं होंगे

चार फीट से ऊंची मूर्ति नहीं होगी

लाइटिंग, भोग वितरण पर भी पाबंदी रहेगी

सार्वजनिक स्थान पर रावण दहन पर रोक

यहां ऑनलाइन दर्शन की तैयारी

भारतीय युवक संघ बकरी बाजार : भारतीय युवक संघ बकरी बाजार के अध्यक्ष अशोक चौधरी ने बताया कि आयोजक भक्तों को ऑनलाइन दर्शन कराने की तैयारी में जुटे हुए है़ं ऑनलाइन दर्शन से भक्त खुद को मां दुर्गे से दूर महसूस नहीं करेंगे

स्टेशन रोड दुर्गा पूजा समिति : रांची के स्टेशन रोड दुर्गा पूजा समिति में बनने वाले पूजा पंडाल से भी लाइव प्रसारण की व्यवस्था कर दी गयी है़ अध्यक्ष मुनचुन राय के अनुसार आयोजकों ने ऑनलाइन दर्शन कराने का फैसला किया है़ इससे भक्त भीड़ से बचेंगे़

आरआर स्पोर्टिंग क्लब : अध्यक्ष राहुल यादव ने बताया कि ऐसे संकट के बावजूद भी भक्त घर बैठे माता के दर्शन कर पायेंगे़ भक्तों की सुविधा का पूरा ख्याल रखा जायेगा.

दुर्गाबाड़ी मेन रोड : सहायक सचिव सेतांतो सेन ने बताया कि श्रद्धालु मां को चुनरिया, साड़ी चढ़ा सकते है़ं इसके लिए पूजा के 10 दिन पहले मंदिर में आकर सामग्री जमा करवानी होगी.

गीतांजलि क्लब, मोरहाबादी : गीतांजलि क्लब के अध्यक्ष मनोज गुप्ता ने बताया कि जो भक्त दूर से आते है, उन्हें पंडाल आने की जरूरत नहीं है. घर में बैठकर ही फेसबुक और यूट्यूब पर पूजा का लाइव प्रसारण देख पायेंगे़

कोकर दुर्गा पूजा समिति : कोकर दुर्गा पूजा समिति भी ऑनलाइन दर्शन के लिए सजग दिख रही है. पूजा कमेटी के अध्यक्ष राजू राम ने बताया कि ऑनलाइन दर्शन की सुविधा देने पर कमेटी बातचीत कर रही है, ताकि भक्त आसानी से घर पर रहकर दर्शन कर सके़ं

पुजारियों ने कहा : पंडित कामेश्वर मिश्रा ने बताया कि नवरात्र के दौरान श्रद्धालु मोबाइल पर अपना नाम और गोत्र से पूजा करवा सकेंगे़ कोरोना काल में भक्त चाहे, तो घर बैठे ही ईश्वर से प्रार्थना कर सकते हैं.

पंडित पवन दास का कहना है कि नवरात्रि के दौरान कलश स्थापना के लिए भी बाहर जाने की जरूरत नहीं है. नाम और गोत्र के साथ फोन द्वारा संपर्क कर पूजा संपन्न हो सकती है.

त्रिकोण भवन के पुजारी जयदीप पाठक का कहना है कि श्रद्धालुओं की इच्छा अनुसार दक्षिणा लेकर घर बैठे ही उनके नाम की पूजा संपन्न कर रहे हैं. श्रद्धालुओं को कोरोना काल में चिंतित होने की जरूरत नहीं है.

Posted by : Pritish sahay

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें