1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. cathlab machine not made angiography and angioplasty will not be done even today

कैथलैब मशीन नहीं बनी, आज भी नहीं होगी एंजियोग्राफी व एंजियोप्लास्टी

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date

रांची : रिम्स के कार्डियोलॉजी विभाग का खराब कैथलैब मशीन गुरुवार को भी नहीं बन सकी, इससे एंजियोग्राफी द्वारा हृदय की जांच और एंजियोप्लास्टी से स्टेंट लगाने की प्रक्रिया प्रभावित हुई. शुक्रवार को भी एंजियोग्राफी व एंजियोप्लाटी नहीं होगी. कार्डियोलॉजिस्ट आइसीयू में भर्ती हृदय रोगियों की मॉनिटरिंग कर उनको दो से तीन तक ठीक रखने के लिए दवाएं दी गयी हैं. वहीं, गुरुवार को कंपनी द्वारा उपकरण उपलब्ध नहीं हो पाया, इस कारण इंजीनियर द्वारा मशीन दुरुस्त नहीं किया जा सका.

कंपनी ने रिम्स प्रबंधन व कार्डियोलॉजी विभाग को मशीन बनने में दो दिन का और समय लगने की सूचना दी है. कैथलैब मशीन के लिए रिम्स प्रबंधन द्वारा तीन बार निविदा निकाली गयी, लेकिन सिंगल टेंडर होने के कारण मशीन की खरीदारी नहीं हो पायी. निविदा हर बार रद्द करना पड़ा. एक कंपनी को छोड़ कर दूसरी कंपनी ने रुचि नहीं दिखायी. ऐसे में रिम्स प्रबंधन को देश के अन्य संस्थानों द्वारा की गयी खरीदारी का पालन कर सीमेेंस कंपनी को मशीन का आॅर्डर दिया गया.

स्वास्थ्य सचिव ने पूछा- कब लगेगी नयी मशीनकैथलैब मशीन खराब हाेने के कारण एंजियोग्राफी व एंजियोप्लास्टी बंद होने की जानकारी गुरुवार को स्वास्थ्य सचिव डॉ नितिन मदन कुलकर्णी को मिली. इस पर उन्होंने रिम्स निदेशक से जानकारी ली और पूछा कि मशीन कब दुरुस्त होगी.

नयी मशीन कब तक आने की उम्मीद है, इसका भी अपडेट लिया. निदेशक ने बताया कि कोरोना संकट के कारण मशीन नहीं आ पा रही है.कोट मशीन अभी दुरुस्त नहीं हो पायी है. कंपनी के इंजीनियर ने आश्वस्त किया है कि उपकरण आते ही मशीन दुरुस्त कर उपयोग के लिए तैयार कर दिया जायेगा. डॉ दिनेश कुमार सिंह, निदेशक, रिम्स

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें