1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. bed college admission 2021 in jharkhand how will admission in jharkhand bed colleges this time guidelines issued know important things related to admission srn

झारखंड के बीएड कॉलेजों में इस बार कैसे होगा नामांकन ? दिशा निर्देश जारी, जानें एडमिशन से संबंधित जरूरी बातें

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
jharkhand b.ed admission 2021-2023
jharkhand b.ed admission 2021-2023
सांकेतिक तस्वीर

B.ED Admission Notice 2021 In Jharkhand रांची : राज्य के 136 सरकारी व निजी बीएड कॉलेजों में (सत्र 2021-2023 के लिए) इस बार भी मेरिट के आधार पर नामांकन होगा. वर्ष 2020 की तरह इस बार भी लिखित परीक्षा नहीं होगी. न्यूनतम योग्यता स्नातक के अंक के आधार पर मेरिट लिस्ट तैयार करने की जिम्मेवारी इस बार भी झारखंड संयुक्त प्रवेश प्रतियोगिता परीक्षा पर्षद को दी गयी है. पर्षद ही मेरिट लिस्ट तैयार कर काउंसेलिंग करेगी. चयनित विद्यार्थी सीएमएल रैंक के आधार पर राज्य के 136 बीएड कॉलेजों में से किसी एक में नामांकन ले सकेंगे.

वर्ष 2020 में भी कोरोना को देखते हुए पर्षद ने मेरिट लिस्ट के आधार पर विद्यार्थियों को संबंधित बीएड कॉलेज में नामांकन के लिए अनुशंसा की थी. चार बार काउंसेलिंग के बाद भी राज्य के कई कॉलेजों में सीटें खाली रह गयीं. बताया जाता है कि पर्षद द्वारा जिन कॉलेजों के लिए विद्यार्थियों का चयन किया, विद्यार्थी उक्त कॉलेज में नामांकन लेने के लिए गये ही नहीं. इस कारण कई कॉलेजों में सीटें खाली रह गयीं.

उच्च व तकनीकी शिक्षा विभाग ने जारी किया संकल्प :

बीएड में नामांकन को लेकर कैबिनेट से स्वीकृत प्रस्ताव के आधार पर उच्च व तकनीकी शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव केके खंडेलवाल ने संकल्प जारी कर दिया है. इसमें कहा गया है कि कोरोना के कारण जेसीइसीइबी द्वारा अभी तक संयुक्त प्रवेश प्रतियोगिता परीक्षा 2021 का अायोजन नहीं किया जा सका है. जबकि, सर्वोच्च न्यायालय के मां वैष्णो देवी बनाम उत्तर प्रदेश सरकार वाद (2011-2012) में बीएड में नामांकन के लिए एक समय सीमा का अनुपालन करने को कहा गया है.

कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए पर्षद द्वारा मां वैष्णो देवी वाद के आधार पर राज्य सरकार द्वारा तय समय सीमा में संयुक्त प्रवेश प्रतियोगिता परीक्षा 2021 आयोजित नहीं की जा सकी है. अत: छात्रहित एवं बीएड कॉलेजों के अस्तित्व को बचाने के लिए नामांकन मेरिट के आधार पर लेना ही विकल्प बचा है.

Posted By : Sameer Oraon

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें