1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. banna gupta covid incentive money withdrawal case list of 60 people including the ministers 54 got paid 6 deprived srn

झारखंड कोविड प्रोत्साहन राशि निकासी मामला: मंत्री सहित 60 लोगों की सूची में 54 को हुआ भुगतान, 6 वंचित

बन्ना गुप्ता और उनके नजदीकियों द्वारा कोविड प्रोत्साहन राशि निकासी मामले में 54 को प्रोत्साहन राशि का भुगतान किया जा चुका है. आरबीआइ का सर्वर बंद होने के कारण कुछ लोगों को भुगतान नहीं हो सका.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
बन्ना गुप्ता: कोविड प्रोत्साहन राशि का मामला
बन्ना गुप्ता: कोविड प्रोत्साहन राशि का मामला
File Photo

रांची : स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता और उनके नजदीकी लोगों द्वारा कोविड प्रोत्साहन राशि लेने के मामले में नया मोड़ आया है़ स्वास्थ्य मंत्री के कोषांग से भेजी गयी 60 लोगों की सूची में से 54 को प्रोत्साहन राशि का भुगतान किया जा चुका है. इन्हें डोरंडा ट्रेजरी से भुगतान किया गया है. वहीं मंत्री बन्ना गुप्ता, उनके आप्त सचिव सहित छह लोगों का भुगतान नहीं हो पाया़ इनका भुगतान प्रोजेक्ट भवन के कोषागार में समय से बिल नहीं पहुंचने और आरबीआइ का सर्वर बंद होने के कारण नहीं हो सका.

भेजा दस्तावेज :

यहां बता दें कि स्वास्थ्य मंत्री ने दावा किया था कि उनके कोषांग से जिन लोगों के नाम भेजे गये थे, उनको भुगतान ही नहीं हुआ है़ वहीं, मंत्री के इस दावे को श्री राय ने खारिज करते हुए मुख्यमंत्री को पत्र भेज कर इससे संबंधित दस्तावेज भी भेजे हैं. उन्होंने मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर कहा है कि स्वास्थ्य मंत्री ने अपने पद का दुरुपयोग किया है. कोविड प्रोत्साहन राशि के जो योग्य पात्र नहीं थे, उनका भी नाम भेजा गया है.

उन्होंने मुख्यमंत्री को बताया है कि स्वास्थ्य मंत्री का भ्रष्ट आचरण इससे भी प्रमाणित होता है कि ऐसे कर्मियों को मंत्री कोषांग का कर्मी बताया गया है, जो है ही नही़ं श्री राय ने बताया कि मंत्री ने अपना नाम कोषांग के कर्मियों में शामिल कराकर प्रोत्साहन राशि लेने की साजिश की. अपने लिये भुगतान का बिल प्रोजेक्ट बिल्डिंग ट्रेजरी में भिजवाया़ मंत्री इसके पात्र भी नहीं है़ं श्री राय ने सीएम से आग्रह किया है कि वह स्वास्थ्य मंत्री को बर्खास्त कर अापराधिक मुकदमा दर्ज कराये़ं

कर्मियों को राशि वापस करनी होगी :

विधायक श्री राय ने कहा कि जब मंत्री को लगा कि उनका बिल लैप्स हो गया है, तो 15 अप्रैल को कार्यालय खुलवाकर विभागीय संयुक्त सचिव मनोज कुमार सिन्हा से कार्यालय आदेश निकलवाया. जिन 54 कर्मियों के बैंक खाते में प्रोत्साहन की राशि मंत्री के आदेश से चली गयी थी, उसे नैतिकता का हवाला देकर रद्द करने का आदेश जारी किया गया.

श्री राय ने कहा कि डोरंडा ट्रेजरी से जिन 54 को प्रोत्साहन राशि भुगतान हो गया है़, अब विभाग के इस आदेश के बाद उन्हें वह राशि वापस करनी होगी. मंत्री खुद नहीं खा सके, तो अब जिन्होंने उनके गलत आदेश से डकार लिया, उनसे उगलवाया जा रहा है़

इनका नहीं हो पाया भुगतान

आसिफ एकराम, मंत्री के आप्त सचिव

ओम प्रकाश सिंह, मंत्री के आप्त सचिव, बाह्य कोटा

संजय ठाकुर, निजी सहायक

प्रभात कुमार, निजी सहायक

गुणानंद झा, लिपिक

नोट : इसमें मंत्री भी शामिल है़ं

Posted by: Sameer Oraon

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें