1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. 4 thousand farmers of jharkhand are getting benefit from johar agri mart turnover exceeded 73 lakhs smj

जोहार एग्री मार्ट से झारखंड के 4 हजार किसानों को मिल रहा लाभ, 73 लाख से अधिक का हुआ कारोबार

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand news : जोहार एग्री मार्ट से झारखंड की महिला किसान हो रही प्रोत्साहित.
Jharkhand news : जोहार एग्री मार्ट से झारखंड की महिला किसान हो रही प्रोत्साहित.
सोशल मीडिया.

Jharkhand News, Ranchi News, रांची : झारखंड ग्रामीण विकास विभाग के अंतर्गत झारखंड स्टेट लाईवलीहुड प्रमोशन सोसाइटी (Jharkhand State Livelihood Promotion Society- JSLPS) द्वारा जोहार परियोजना का क्रियान्वयन किया जा रहा है. इस परियोजना के जरिये ग्रामीण परिवारों को उत्पादक समूह एवं कंपनियों से जोड़कर उन्नत खेती, पशुपालन, मत्स्य पालन, सिंचाई, लघु वनोपज आदि गतिविधियों के द्वारा उनकी आय में गुणात्मक बढ़ोतरी के कार्य हो रहे हैं. राज्य के 11 जिलों में जोहार एग्री मार्ट का संचालन हो रहा है. इससे करीब 4 हजार से अधिक किसानों को लाभ मिल रहा है. इसके तहत 73.40 लाख से अधिक का कारोबार किया गया है.

जोहार एग्री मार्ट एक अभिनव पहल है. वर्तमान में जोहार परियोजना अंतर्गत राज्य के कुल 17 जिलों के 68 प्रखंडों में 3900 उत्पादक समूहों का गठन कर करीब 2.10 लाख से ज्यादा परिवारों को जोड़ा गया है, जिससे उनकी आमदनी में बढ़ोतरी हुई है.

11 जिलों में हो रहा है संचालन

झारखंड के 11 जिलों में संचालित ‘जोहार एग्री मार्ट’ किसानों की पहली पसंद बनती जा रही है. उत्पादक समूह से जुड़े हजारों किसानों के अलावा आम किसानों को भी खाद-बीज एवं अन्य कृषि सामाग्री खरीदने के लिए दूर बाजार नहीं जाना पड़ता है. वहीं, सामग्री की गुणवत्ता को लेकर भी अब चिंता नहीं रहती है. जोहार एग्री मार्ट में उत्तम खाद, बीज, कृषि यंत्र सुविधा, मौसम की जानकारी, बाजार की सुविधा, मिट्टी जांच, मछली/पशु चारा आदि सेवाएं प्रदान की जा रही है. जोहार एग्री मार्ट के जरिये खाद-बीज के अलावा अन्य कृषि सामाग्री की भी बिक्री की जा रही है, जैसे- DAP, यूरिया, कुदाल, फावड़ा, कीटनाशक, पशु आहार आदि.

किसान सीख रहे हैं उन्नत खेती के गुर

जोहार एग्री मार्ट में खेती से जुड़े सामानों की बिक्री के अलावा किसानों को उन्नत खेती एवं तकनीक से भी जोड़ने का कार्य किया जाता है. एग्री मार्ट के जरिये तकनीक का इस्तेमाल कर किसानों को उन्नत खेती संबंधित सलाह एवं उपाय भी बताये जाते हैं. उत्पादक कंपनी से जुड़े किसानों को एग्री मार्ट अंतर्गत व्हाट्सएप के जरिये तकनीकी सलाहकारों से जोड़ा गया है. ये सलाहकार सुबह 10.30 से शाम 5 बजे तक रोजाना किसानों को खेती से जुड़ी जानकारी एवं आ रही दिक्कतों का हल बताते हैं. हर एग्री मार्ट ने कृषक मित्रों एवं किसानों को व्हाट्सएप ग्रुप के जरिये जोड़ रखा है, जिससे किसान बस एक व्हाट्सएप मैसेज (फसल/पशु की फोटो) भेजकर ही उससे संबंधित सहायता/सहयोग व्हाट्सएप पर ही प्राप्त कर रहे हैं.

उत्पादक कंपनी से उद्यमिता की ओर अग्रसर महिला किसान

गिरिडीह स्थित गिरधन महिला उत्पादक कंपनी के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर सदस्य नीलिमा बताती हैं कि लगभग 160 से ज्यादा उत्पादक समूह से जुड़ी महिला किसान एवं अन्य किसान नियमित रूप से एग्री मार्ट से ही कृषि सामग्री एवं सुविधाओं का उपयोग कर रहे हैं. गिरिडिह जिले में संचालित जोहार एग्री मार्ट ने गुणवत्ता एवं कृषि सेवाओं की वजह से अब अपनी एक अलग पहचान बनायी है.

एग्री मार्ट से गुणवत्तापूर्ण बीज ने बढ़ाया उत्पादन : यशोदा

वहीं, गिरिडीह के मधुपुर उत्पादक समूह से जुड़ीं यशोदा बताती हैं कि पहले हम जैसे किसानों को जानकारी एवं संसाधन के अभाव के कारण ठगी का शिकार बनना पड़ता था. कोई दुकानदार एक्सपायरी बीज दे देता था, तो कोई अधिकतम दाम में बिक्री करता था. लेकिन, अब जोहार एग्री मार्ट के जरिये उच्च गुणवत्ता वाले खाद-बीज उचित मूल्य पर उपलब्ध हो रहे हैं. धान की फसल के समय जोहार एग्री मार्ट के जरिये लगभग 10 प्रतिशत कम कीमत पर खाद-बीज की खरीदारी की थी. धान की फसल अच्छी हुई. हाल के दिनों में मिर्च का उत्पादन किया. बीज जोहार एग्री मार्ट से खरीदा. गुणवत्तापूर्ण बीज से अत्यधिक उत्पादन हुआ. इससे अच्छा मुनाफा हुआ है.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें