रांची : साइबर क्राइम को रोकने में आइटी का उपयोग करें

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
रांची : मुख्यमंत्री रघुवर दास ने आइटी डिपार्टमेंट की समीक्षा करते हुए कहा कि झारखंड की वेबसाइट पूरी तरह डायनेमिक और देश की सबसे अच्छी वेबसाइट में से एक हो.
आम जनता के उपयोग की दृष्टि से इसे तैयार करें, ताकि राज्य के बारे में कोई भी जानकारी किसी को प्राप्त करनी हो, तो वह राज्य सरकार की वेबसाइट से आसानी से प्राप्त कर सके. साथ ही राज्य सरकार की इस वेबसाइट के माध्यम से ही राज्य से जुड़ी अन्य महत्वपूर्ण वेबसाइट के लिंक पर भी लोग जा सकें.
मुख्यमंत्री ने कहा कि आइटी के उपयोग से साइबर क्राइम को रोकने में भी कारगर काम किया जाना चाहिए. विभाग ने यह जानकारी दी है कि रांची में एक साइबर फॉरेंसिक लैब सीडैक के माध्यम से कार्य हो रहा है तथा राज्य के सभी जिलों में एक-एक साइबर थाना भी स्थापित किया जा रहा है.
2394 सरकारी अधिकारियों को प्रशिक्षण भी दिया गया है. अटल बिहारी बाजपेयी इनोवेशन लैब की स्थापना के लिए आइएसएम धनबाद, सेंट्रल यूनिवर्सिटी झारखंड और बीआइटी सिंदरी के साथ एमओयू किया गया है.
बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा कि शिक्षण संस्थानों में डीजी लॉकर के उपयोग के लिए बढ़ावा देने के लिए विशेष जागरूकता अभियान चलाया जाना चाहिए.
आवश्यक सभी स्कूलों में फ्लेक्स के माध्यम से तथा अन्य प्रचार-प्रसार के माध्यम से भी विद्यार्थियों को जागरूक किया जाना चाहिए, ताकि वे अपने प्रमाण पत्र को डिजी लॉकर में रख सकें. बैठक में मुख्य सचिव डॉ डीके तिवारी, विकास आयुक्त सुखदेव सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव डॉ सुनील कुमार वर्णवाल,आइटी सचिव विनय कुमार चौबे व अन्य अधिकारी उपस्थित थे.
Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें