23.1 C
Ranchi
Thursday, February 29, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

चीन में फैल रहे माइक्रोप्लाजमा निमोनिया व इन्फ्लूएंजा फ्लू को लेकर स्वास्थ्य विभाग अलर्ट, जानें क्या है तैयारी

चीन में फैल रहे माइक्रोप्लाजमा निमोनिया एवं इन्फ्लूएंजा फ्लू को देखते हुए भारत सरकार गंभीर है. स्वास्थ्य विभाग के सचिव के निर्देश के आलोक में शनिवार को सिविल सर्जन कार्यालय के सभागार में बैठक हुई.

चीन में फैल रहे माइक्रोप्लाजमा निमोनिया एवं इन्फ्लूएंजा फ्लू को देखते हुए भारत सरकार गंभीर है. स्वास्थ्य विभाग के सचिव के निर्देश के आलोक में शनिवार को सिविल सर्जन कार्यालय के सभागार में बैठक हुई. सिविल डॉ अनिल कुमार ने बताया कि चीन में तेजी से बढ़ रही बीमारी को लेकर राज्य सरकार ने भी आवश्यक दिशा निर्देश जारी किया है. स्वास्थ्य विभाग के सचिव ने इस मामले को लेकर पत्र भेजा है और इससे बचाव के लिए आवश्यक तैयारी करने का निर्देश दिया है. सिविल सर्जन ने इस निमोनिया वायरस को लेकर चिकित्सा प्रभारियों एवं प्रखंड डाटा मैनेजरों के साथ विचार-विमर्श किया. उन्होंने कहा कि चीन के निमोनिया वायरस का केस भारत में अभी नहीं है. लेकिन सरकार इसे लेकर गंभीर है. स्वास्थ्य विभाग के सचिव ने इस निमोनिया वायरस से निबटने के लिए आवश्यक मेडिकल तैयारी करने का निर्देश दिया है. सीएस ने जिले के सभी चिकित्सा प्रभारियों को स्व मूल्यांकन करने का निर्देश दिया. कहा कि जिस प्रखंड में ऑक्सीजन प्लांट लगे हैं, उसका मॉक ड्रिल कराया जाये. ताकि समय पर काम आ सके. चिकित्सा प्रभारियों को अस्पताल में आवश्यक तैयारी व बेड व्यवस्थित करने का भी निर्देश दिया. साथ ही अस्पतालों में बेड, फ्लोमीटर, ऑक्सीमीटर, ऑक्सीजन सिलिंडर, इन्फ्लूएंजा की दवाएं, टीके, पीपीइ किट, एंटीबायोटिक सहित अन्य आवश्यक सामग्री की उपलब्धता की रिपोर्ट मांगी है. उन्होंने कहा कि इस बीमारी के इलाज के लिए जो आवश्यकता है, उसकी रिपोर्ट दें. ताकि उसे उपलब्ध कराया जा सके. स्टोर में उपलब्ध दवाओं के बारे में भी जानकारी उपलब्ध कराने को कहा. सीएस ने बताया कि चीन में निमोनिया के वायरस के कारण बच्चों में बुखार, खांसी, सांस लेने में तकलीफ, फेफड़ों के संक्रमण के लक्षण नजर आ रहे हैं. इसे लेकर स्वास्थ्य विभाग अलर्ट मोड में है और मेडिकल तैयारी में जुट गया है. बैठक में डॉ अनूप, जिला डाटा मैनेजर शशिकांत तिवारी, आसीफ, डॉ चमन कुमार, डॉ राजेश कुमार, डॉ राजीव रंजन, डॉ महेंद्र सहित सभी चिकित्सा प्रभारी और प्रखंडों के डाटा मैनेजर मौजूद थे.

डाटा इंट्री कार्य को दुरुस्त करने का निर्देश

उन्होंने कहा कि कुछ प्रखंडों से डाटा इंट्री सही तरीके से नहीं किये जा रहे हैं. राज्य से जो रिपोर्ट प्राप्त है, उसके मुताबिक डाटा इंट्री के मामले में लेस्लीगंज एवं पांकी प्रखंड में ज्यादा गड़बड़ियां है. उन्होंने डाटा इंट्री कार्य को दुरुस्त करने का निर्देश दिया. कहा कि डाटा इंट्री करने में किसी तरह की परेशानी आती है, तो जिला डाटा मैनेजर से संपर्क कर उसका हल निकालें. उन्होंने सभी प्रखंडों के डाटा मैनेजरों को हिदायत दी कि क्षेत्र से आयी रिपोर्ट को सही तरीके से पढ़ें और समझें, इसके बाद ही इंट्री करें. बच्चों को एनिमिया की खुराक सही समय पर उपलब्ध करायें, ताकि बच्चे एनिमिक नहीं हो.

Also Read: पलामू : साइबर अपराधियों ने अमीन के खाते से उड़ाया एक लाख

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें