1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. jharkhand panchayat chunav 2022
  5. jharkhand panchayat chunav cancellation tana bhagats surrounded dc office playing bell tricolor in hands grj

झारखंड पंचायत चुनाव: हाथों में तिरंगा व घंटी बजाते टानाभगतों ने क्यों घेरा DC ऑफिस, किस बात पर हैं नाराज

अखिल भारतीय टानाभगत संघ के जिलाध्यक्ष परमेश्वर भगत ने कहा कि आदिवासियों के कई संगठनों ने जिला प्रशासन को कई बार आवेदन देकर पांचवीं अनुसूची के अनुसार कार्य करने की बात कही है. उन्होंने कहा कि पांचवीं अनुसूची के अनुसार जिले में गांव का शासन चलेगा.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand Panchayat Chunav 2022: डीसी ऑफिस घेरते टानाभगत
Jharkhand Panchayat Chunav 2022: डीसी ऑफिस घेरते टानाभगत
प्रभात खबर

Jharkhand Panchayat Chunav 2022: झारखंड पंचायत चुनाव के विरोध में अखिल भारतीय टानाभगत संघ के तत्वावधान में टानाभगतों ने डीसी ऑफिस का घेराव किया. वे तिरंगा झंडा के साथ मंगलवार को लातेहार समाहरणालय पहुंचे और घंटी बजाने लगे. टानाभगतों ने जिला प्रशासन पर आरोप लगाया है कि जानबूझ कर टानाभगतों को परेशान किया जा रहा है. टानाभगत संघ के द्वारा पांचवीं अनुसूची का हवाला देते हुए झारखंड पंचायत चुनाव रद्द करने की मांग की जा रही है. इनका कहना है कि पांचवीं अनुसूची के अनुसार जिले में शासन व्यवस्था पर नियंत्रण जनजातियों के हाथों में होना चाहिए.

झारखंड पंचायत चुनाव रद्द करने की मांग

टानाभगतों ने कहा कि टानाभगतों को हो रही परेशानी के कारण आज मंगलवार को तिरंगा झंडा को लेकर व घन्टी बजाकर डीसी ऑफिस का घेराव करने को वे मजबूर हुए हैं. टानाभगत संघ के द्वारा पांचवीं अनुसूची का हवाला देते हुए झारखंड पंचायत चुनाव रद्द करने की मांग की गई. समाहरणालय में पत्रकारों से बातचीत करते हुए अखिल भारतीय टानाभगत संघ के जिलाध्यक्ष परमेश्वर भगत ने कहा कि आदिवासियों के कई संगठनों ने जिला प्रशासन को कई बार आवेदन देकर पांचवीं अनुसूची के अनुसार कार्य करने की बात कही है. उन्होंने कहा कि पांचवीं अनुसूची के अनुसार जिले में गांव का शासन चलेगा.

संविधान के उल्लंघन का आरोप

भारतीय संविधान के अनुसार छोटानागपुर को विशेष अधिकार प्राप्त है. उन्होंने कहा कि पांचवीं अनुसूची के तहत जिले में पंचायत चुनाव का आदेश देकर पंचायती राज विभाग के सचिव ने संविधान का उल्लंघन किया है. उन्होंने कहा कि पांचवीं अनुसूची के अनुसार जिले में शासन व्यवस्था पर नियंत्रण जनजातियों के हाथों में होना चाहिए. पंचायत चुनाव का विरोध टाना भगत संघ आगे भी करता रहेगा. इस दौरान एसडीपीओ संतोष मिश्रा, अंचलाधिकारी रुद्र प्रताप, लातेहार बीडीओ मेघनाथ उरांव, पुलिस निरीक्षक सह लातेहार थाना प्रभारी अमित कुमार गुप्ता व डीएन सिंह द्वारा दल बल के साथ समाहरणालय पहुंचकर टानाभगतों को समझाने का प्रयास किया जा रहा है.

रिपोर्ट : चंद्रप्रकाश सिंह

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें