1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. jamshedpur
  5. jharkhand news saroni roy is making a splash in the australian film industry by defeating cancer smj

Jharkhand News : जमशेदपुर की सरोनी रॉय कैंसर को मात देकर ऑस्ट्रेलिया फिल्म इंडस्ट्री में मचा रहीं धमाल

जमशेदपुर की सरोनी रॉय इन दिनों ऑस्ट्रेलिया फिल्म इंडस्ट्री में धमाल मचा रही है. एक्टिंग के साथ-साथ सरोनी राॅय सामाजिक कार्यों में भी बढ़-चढ़कर भाग लेती है. वर्ष 2019 में शांति राजदूत भी बनी. वहीं, सरोनी ने कैंसर को मात देकर कई उपलब्धि अपने नाम की है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
जमशेदपुर की सरोनी राॅय ऑस्ट्रेलिया फिल्म इंडस्ट्री में मचा रही धमाल.
जमशेदपुर की सरोनी राॅय ऑस्ट्रेलिया फिल्म इंडस्ट्री में मचा रही धमाल.
प्रभात खबर.

Jharkhand News (जमशेदपुर, पूर्वी सिंहभूम) : झारखंड के जमशेदपुर में जन्मी और सेक्रेड हार्ट कॉन्वेंट स्कूल की छात्रा रही सरोनी रॉय इन दिनों ऑस्ट्रेलिया फिल्म इंडस्ट्री में धमाल मचा रही है. अभिनय की दुनिया में पहचान बनाने के साथ-साथ सरोनी को वर्ष 2018 में मिस इंडिया ऑस्ट्रेलिया कॉरपोरेशन द्वारा सामाजिक क्षेत्र में उनके योगदान के लिए मिस, मिसेज, मिस्टर इंडिया के अलावा ऑस्ट्रेलिया ब्यूटी पेजेंट में मिस इंडिया ऑस्ट्रेलिया गुडविल एंबेसडर मनोनीत किया गया था. सरोनी ने कैंसर से उबरने के लिए काफी संघर्ष किया.

सरोनी रॉय हाल ही में कैरिजवर्क्स, सिडनी में आयोजित ऑस्ट्रेलियन फैशन वीक 2021 में शामिल हुई. सरोनी जहां ऑस्ट्रेलिया में एक सफल एक्टर्स हैं, वहीं उन्होंने जो राइजेन, ग्रीड 2020 और ए ट्रबल टाउन 2019 में मुख्य भूमिका भी निभायी है. एक्टर्स और मॉडल सरोनी राय कई अमेरिकी, ऑस्ट्रेलियाई और यूरोपीय परियोजनाओं में भी काम किया है.

वर्ष 2013 रहा टर्निंग प्वाइंट

साल 2013 में सरोनी को गर्दन में एक गांठ दिखी. इस गांठ में सूजन था. तत्काल ENT सर्जन को दिखायी. डॉक्टर ने थायरॉयड ग्रंथि के अंदर एक ट्यूमर बताया. सरोनी के लिए यह बहुत बड़ा झटका था. इस दौरान ट्यूमर कैंसर का रूप ले लिया था. इसके बावजूद सरोनी हिम्मत नहीं हारी और कड़ा संघर्ष में कैंसर को मात दी.

टाटा स्टील के पूर्व अधिकारी कंचन रॉय की पुत्री सरोनी को वर्ष 2019 में अंतरराष्ट्रीय महिला शांति समूह (International Women Peace Group- IWPG) द्वारा विश्व शांति में उनके निरंतर योगदान के लिए शांति राजदूत की उपाधि से भी सम्मानित किया गया था. इसके अलावा सिडनी में शांति, सद्भाव और अहिंसा के गांधीवादी मूल्यों का प्रचार- प्रसार में भी सरोनी जुटी रही.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें